Begin typing your search above and press return to search.

कबड्डी

Pro Kabaddi League match 121: हरियाणा को हराकर जयपुर फिर टॉप पर, सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम बनी

जयपुर पिंक पैंथर्स ने हरियाणा स्टीलर्स को 44-30 के अंतर से हराकर टेबल टॉपर बनने का गौरव हासिल किया

Haryana Steelers vs Jaipur Pink Panthers PKL
X

जयपुर पिंक पैंथर्स बनाम हरियाणा स्टीलर्स

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-12-05T23:28:28+05:30

जयपुर पिंक पैंथर्स ने गाचीबोवली इंडोर स्टेडियम में जारी प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के नौवें सीजन 121वें मैच में सोमवार को हरियाणा स्टीलर्स को 44-30 के अंतर से हराकर न सिर्फ फिर से टेबल टॉपर बनने का गौरव हासिल किया बल्कि पुनेरी पल्टन के बाद सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम बन गई है।

जयपुर को 21 मैचों में 15वीं जीत मिली। उसके 79 अंक हो गए हैं। पल्टन के भी इतने ही अंक हैं लेकिन जयपुर का स्कोर डिफरेंस पल्टन से काफी बेहतर है। हरियाणा को 20 मैचों में 10वीं हार मिली। उसके पास अभी भी प्लेऑफ में जाने का मौका है लेकिन इसके लिए उसे बाकी के दो मैच हर हाल में जीतने होंगे।

जयपुर की जीत में वी. अजीत कुमार (13 ) और साहुल कुमार (6 ) ने अहम योगदान दिया। हरियाणा के लिए कोई भी रेडर बड़ा कारनामा नहीं कर सका। मंजीत ने उसके लिए सबसे अधिक 8 अंक लिए जबकि सुपर सब के तौर पर आए मनीष गुलिया ने पांच अंक जुटाए।

बहरहाल, तीसरे ही मिनट में डू ओर डाई रेड पर राकेश को लपक जयपुर ने 5-2 की लीड ले ली। हरियाणा ने हालांकि दो अंकों के साथ फासला 1 कर लिया। अजीत ने इसके बाद मल्टी प्वाइंट रेड के साथ फासला 3 का कर हरियाणा को सुपर टैकल की स्थिति में ला दिया।

हरियाणा के डिफेंस ने देसवाल को सुपर टैकल कर ऑलआउट टाला। फिर राकेश ने सुपर रेड के साथ हरियाणा को 1 अंक की लीड दिला दी। अब जयपुर के लिए सुपर टैकल आन था। अजीत ने बोनस लेकर स्कोर 9-9 कर दिया।

अगली रेड पर अजीत ने जयदीप का शिकार कर जयपुर को लीड दिलाई और फिर सुनील ने राकेश को लपक लीड 2 की कर दी। फिर अजीत ने दो अंक की रेड के साथ स्कोर 13-9 कर हरियाणा को फिर से ऑल आउट की ओर धकेल दिया। साथ ही अजीत ने सुपर-10 पूरा किया।

हरियाणा के डिफेंस ने देसवाल को फिर से सुपर टैकल कर न सिर्फ फासला 2 का किया बल्कि ऑल आउट भी टाला। मीतू हालांकि डू ओर डाई रेड पर आउट हुए। अगली रेड पर अजीत ने दो का शिकार कर हरियाणा को दूसरी बार ऑल आउट कर 18-11 की लीड ले ली।

हरियाणा ने देसवाल को छठी बार बाहर कर चार अंक के साथ वापसी के संकेत दिए। पहला हाफ 21-15 से जयपुर के नाम रहा। यहां से भी हरियाणा के लिए वापसी की पूरी संभावना शेष थी। ब्रेक के बाद जयपुर ने लीड 8 की कर हरियाणा की मुश्किलें बढ़ा दी।

मंजीत हालांकि हरियाणा के लिए अंक ले रहे थे। तीन रेड में चार अंक लेकर उन्होंने फासला 6 का कर वापसी का रास्ता खोला। फिर डिफेंस ने देसवाल को लपक जयपुर को सुपर टैकल की स्थिति में ला दिया। दो के डिफेंस ने फिर मंजीत का सुपर टैकल कर स्कोर 28-21 कर दिया।

जयपुर का डिफेंस यही नहीं रुका और प्रपंजन को सुपर टैकल कर स्कोर 30-21 कर दिया। हरियाणा के पास सुपर टैकल पर दो अंक कमाने का मौका था लेकिन वह इसे भुना नहीं सकी और एक बार फिर ऑल आउट कर 14 अंक से पीछे हो गई।

मंजीत और मनीष ने तीन अंक लेकर फासला हालांकि 11 का कर दिया। जयपुर के लिए सुपर टैकल आन था। दो मिनट से भी कम समय शेष था। हरियाणा का लक्ष्य अब मैच से एक अंक लेना था। मीतू ने दो अंक के साथ इसकी संभावना बनाई लेकिन अजीत की रेड पर हरियाणा ने गलती कर दी।

फिर जयपुर ने मीतू को सुपर टैकल कर न सिर्फ अपना ऑलआउट टाला बल्कि हरियाणा को एक अंक से भी वंचित कर दिया। इसी के साथ जयपुर सेमीफाइनल में पहुंचे और हरियाणा को आगे की मेहनत जारी रखनी होगी।

Next Story
Share it