शनिवार, सितम्बर 19, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी मैच 87: 'सुल्तान' के सामने 'बाहुबली' का निकला दम, मुम्बा...

प्रो कबड्डी मैच 87: ‘सुल्तान’ के सामने ‘बाहुबली’ का निकला दम, मुम्बा की तेलुगू पर शानदार जीत

मंगलवार को कोलकाता के नेताजी सुभाषचंद्र बोस इन्डोर स्टेडियम में खेले गए 87वें मैच में यू मुम्बा ने तेलुगू टाइटन्स को 41-27 से मात देकर पांचवें पायदान पर आ गए हैं। इस जीत के हीरो रहे कप्तान फज़ेल ‘सुल्तान’ अत्राचली जिन्होंने एक और हाई फ़ाइव करते हुए 6 टैकल प्वाइंट्स हासिल किए। फज़ेल के अलावा रेडिंग में अर्जुन देशवाल (9 रेड प्वाइंट्स, 1 टैकल प्वाइंट) और रोहित बलियान (6 रेड प्वाइंट्स, 1 टैकल प्वाइंट)का भी प्रदर्शन बेहतरीन रहा। तेलुगू के लिए रोहित गौड़ा ने ऑलराउंड प्रदर्शन करते हुए 7 प्वाइंट्स (4 रेड प्वाइंट्स, 3 टैकल प्वाइंट्स) हासिल किए। जबकि अबुज़ार को 4 टैकल प्वाइंट्स हासिल हुए, लेकिन तेलुगू के लिए हार का कारण सिद्धार्त देसाई का फ़्लॉप होना रहा। सिद्धार्त देसाई को मैच में सिर्फ़ 4 रेड प्वाइंट्स मिले और वह 6 बार आउट हुए।

पहले हाफ़ में तेलुगू और मुम्बा दोनों ही टीमों ने शुरुआत में अच्छा डिफ़ेंस दिखाया था और रेडर्स को डू और डाई के पर ही फ़ोकस करने के लिए मजबूर कर रहे थे। इस दौरान तेलुगू टाइटन्स के स्टार डिफ़ेंडर ने टैकल प्वाइंट्स हासिल करते हुए प्रो कबड्डी में अपना 50वां टैकल प्वाइंट्स पूरा कर लिया था, ऐसा करने वाले वह इस सीज़न के पहले खिलाड़ी भी बने। 15वें मिनट में सिद्धार्त देसाई की सफल रेड ने मुम्बा को ऑलआउट के क़रीब ला दिया था और रोहित बलियान की अगली ही रेड में उन्हें टैकल करते हुए मुम्बा को ऑलआउट करते हुए 13-9 की बढ़त ले ली थी। हालांकि मुम्बा ने तुरंत वापसी करते हुए हाफ़ टाइम तक स्कोर 15-15 कर दिया था। यानी मैच बिल्कुल बराबरी का चल रहा था, इस हाफ़ में अर्जुन देशवाल को 5 रेड प्वाइंट्स मिले थे। जबकि सिद्धार्त बाहुबली देसाई पहले हाफ़ में दो बार टैकल हुए और सिर्फ़ 3 प्वाइंट्स लिए थे।

दूसरे हाफ़ की शुरुआत में ही यू मुम्बा ने धमाकेदार वापसी करते हुए तेलुगू टाइटन्स को ऑलआउट करते हुए अब मैच में 19-16 से बढ़त बना ली थी। ऑलाउट होने के बाद दोबारा मैट पर लौटे सिद्धार्त देसाई को फ़ज़ेल अत्राचली ने एक बार फिर टैकल करते हुए तेलुगू की मुश्किलों को बढ़ा दिया था। तुरंत ही बाद फ़ज़ेल ने सिद्धार्त के भाई सूरज को भी टैकल करते हुए अपना चौथा टैकल प्वाइंट्स हासिल किया और अब मुम्बा की बढ़त 23-16 हो गई थी। तेलुगू को दोबारा मैच में वापसी की कोशिश कराई राकेश गौड़ा ने जिन्होंने सुपर टैकल करते हुए 2 अंक दिलाए थे। राकेश के बाद विशाल भारद्वाज ने भी एक और सुपर टैकल किया जो इस सीज़न में विशाल का 9वां सुपर टैकल था। 29वें मिनट के बाद बढ़त अभी भी 25-21 से मुम्बा के पास थी। तेलुगू के हक़ में जो चीज़ नहीं थी वह ये कि 30वें मिनट तक क़रीब क़रीब 17 मिनट सिद्धार्त कोर्ट से बाहर थे। फ़ज़ेल ने अपना एक और हाई फ़ाइव पूरा कर लिया था जो उनके करियर का 19वां हाई फ़ाइव था। 32वें मिनट में एक बार फिर तेलुगू ऑलआउट हो गई थी और यहां से मुम्बा जीत की ओर बढ़ रही थी। जैसे ही व्हिसल बजी मुम्बा ने मुक़ाबला 14 अंकों से जीत लिया था।

वीवो प्रो कबड्डी इतिहास में तेलुगू टाइटन्स पर यू मुम्बा की ये 12 मैचों में ये 6ठी जीत है, और इस सीज़न में भी तेलुगू पर मुम्बा की लगातार दूसरी जीत है। इस जीत के बाद मुम्बा अब अंक तालिका में 14 मैचों में 42 अंकों के साथ पांचवें पायदान पर आ गई है जबकि तेलुगू टाइटन्स 9वें स्थान पर ही बनी हुई है।

वीवो प्रो कबड्डी में बुधवार यानी 11 सितंबर को नेताजी सुभाष चंद्र बोस इन्डोर स्टेडियम में दो मैच खेला जाएगा, पहले मैच में हरियाणा स्टीलर्स की टक्कर जयपुर पिंक पैंथर्स के साथ होगी तो दूसरे मुक़ाबले में मेज़बान बंगाल वॉरियर्स के सामने सामने यू मुम्बा की चुनौती होगी।