शनिवार, दिसम्बर 5, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी में आज: 'रेड मशीनों' की दिखेगी रफ़्तार, परदीप से लेकर...

प्रो कबड्डी में आज: ‘रेड मशीनों’ की दिखेगी रफ़्तार, परदीप से लेकर पवन और दीपक हुडा के साथ मनींदर सिंह शाम को बनाएंगे ख़ास

कोलकाता लेग का आज आख़िरी दिन है, लेकिन ये आख़िरी दिन बेहद ख़ास होने वाला है। क्योंकि आज की शाम और रेडरों के नाम होने वाली है, ऐसा इसलिए क्योंकि आज एक साथ नेताजी सुभाष चंद्र बोस इन्डोर स्टेडियम की मैट पर रेडरों की वह फ़ौज उतरेगी जिसने प्रो कबड्डी को एक अलग स्तर पर पहुंचा दिया है।

जी हां, आज कोलकाता लेग में दो मुक़ाबले खेले जाने वाले हैं, जहां पहले मैच में तीन बार की चैंपियन पटना पायरेट्स की टक्कर जयपुर पिंक पैंथर्स से होगी। तो दूसरे मुक़ाबले में मेज़बान बंगाल वॉरियर्स के सामने बेंगलुरु बुल्स की शक्तिशाली टीम की चुनौती होगी।

पहला मैच: परदीप नरवाल बनाम दीपक हुडा

शाम ढलते ही कोलकाता में प्रो कबड्डी इतिहास का वह हज़ारी दीप जगमगाएगा जिसे हम परदीप नरवाल के नाम से जानते हैं। परदीप नरवाल, जिहोंने पिछले ही मैच में धमाका करते हुए 26 रेड प्वाइंट्स के साथ प्रो कबड्डी इतिहास में 1000 रेड प्वाइंट्स लेने वाले पहले खिलाड़ी भी बन गए हैं। आज परदीप अपना 100वां मुक़ाबला खेलने उतरेंगे लिहाज़ा इसे ख़ास बनाने के लिए ये रेडर कोई कसर नहीं छोड़ेगा।

कौन तोड़ सकता है परदीप ‘हज़ारी’ नरवाल का ‘हज़ारी’ रिकॉर्ड ?

जयपुर के सामने भी परदीप के फ़ॉर्म से पार पाने की चुनौती होगी, लेकिन उनके लिए अच्छी बात ये है कि जयपुर का दीपक भी अब उज्जवल है। दीपक हुडा ने पिछले रात ही इस मैट पर न सिर्फ़ अपने फ़ॉर्म में लौटने का संकेत दिया है बल्कि प्रो कबड्डी इतिहास में 800 रेड प्वाइंट्स लेने वाले सिर्फ़ तीसरे खिलाड़ी भी बन गए हैं।

इस सीज़न में पटना के लिए कुछ भी अच्छा नहीं जा रहा लेकिन पिछले मैच में मिली जीत उनके लिए टॉनिक का काम कर सकती है, और यहां से उनके लिए हरेक मुक़ाबला करो या मरो का है। तो जयपुर भी टाई के बाद मैट पर उतर रही है और इस मुक़ाबले को जीतते हुए वह भी टॉप-6 के लिए अपनी दावेदारी मज़बूत करना चाहेगी। बात आंकड़ों की करें तो पटना और जयपुर के बीच अब तक प्रो कबड्डी इतिहास में 13 टक्कर हुई है और इनमें 8-5 से पटना आगे है पर इस सीज़न की लड़ाई जयपुर ने अपने नाम की थी।

दूसरा मैच: पवन सहरावत बनाम मनींदर सिंह

शाम में जहां परदीप और दीपक की रोशनी से कोलकाता जगमाएगा तो रात होते ही रेड मशीन की तिकड़ी नज़र आएगी। एक तरफ़ होगी बेंगलुरु बुल्स की ख़ूख़ांर जोड़ी पवन सहरावत और रोहित कुमार तो सामने मेज़बान टीम से होगी रेड मशीन मनींदर सिंह। मनींदर की नज़र उस बदले पर होगी जब महज़ एक अंक से बंगाल को हार का सामना करना पड़ा था और इसमें अभी ज़्यादा दिन भी नही बीते हैं यानी ज़ख़्म अभी हरा है। और बंगाल के वॉरियर्स ज़ख़्मी टाइगर्स की तरह बुल्स पर आज वार करने की फ़िराक़ में होंगे।

प्रो कबड्डी के इतिहास में पहली बार ये शहर करेगा ख़िताबी मुक़ाबले की मेज़बानी

लेकिन ये इतना आसान नहीं होगा क्योंकि सामने पवन सहरावत जैसा रेडर है जिसके नाम इस सीज़न में 29 अंकों के साथ मैच में सबसे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स का रिकॉर्ड है और पिछले ही मैच में पवन ने 22 रेड प्वाइंट्स किया है। मतलब एक रोमांचक मुक़ाबले की ज़रूर उम्मीद रहेगी वैसे इतिहास भी गवाह है कि ये दोनों टीमों के बीच आंकड़ा हमेशा ख़तरनाक रहा है, प्रो कबड्डी में बंगाल और बेंगलुरु 15 बार टकराएं हैं जिसमें 8 में बुल्स को जीत मिली है तो 7 वार वॉरियर्स के सिर बंधा है ताज।