गुरूवार, नवम्बर 26, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी मैच 124: परदीप ने जाते जाते रच दिया इतिहास, एक...

प्रो कबड्डी मैच 124: परदीप ने जाते जाते रच दिया इतिहास, एक रेड में 6 खिलाड़ियों को बनाया अपना शिकार

रविवार को ग्रेटर नोएडा के शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स कॉमप्लेक्स में खेले गए प्रो कबड्डी सीज़न के मैच नंबर 124 में पटना पायरेट्स ने बंगाल वॉरियर्स को 69-41 से शिकस्द दे दी। प्रो कबड्डी इतिहास का ये सबसे हाई स्कोरिंग मैच बन गया जहां 110 अंक आए, सीज़न-7 में ये पटना का आख़िरी मुक़ाबला था जहां पटना ने जीत के साथ विदाई ली। पटना के लिए इस जीत के हीरो एक बार फिर परदीप नरवाल रहे, जिन्होंने एक और सुपर-10 के साथ 34 रेड प्वाइंट्स लिए और उन्होंने सुपर टैकल के साथ 2 टैकल प्वाइंट्स भी लिए। परदीप ने इस मैच में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। सीज़न-7 में भी 302 रेड प्वाइंट्स के साथ दो सीज़न में 300 रेड प्वाइंट्स लेने वाले खिलाड़ी बन गए। साथ ही साथ एक मैच में 30 या उससे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स हासिल करने वाले परदीप प्रो कबड्डी इतिहास के पहले और इकलौते खिलाड़ी बन गए। बंगाल की ओर से राकेश नरवाल ने भी सुपर-10 हासिल किया, जबकि अपने डेब्यू मैच में सौरभ पाटिल ने भी सुपर-10 के साथ 11 प्वाइंट्स लिए और सभी को प्रभावित किया।

शनिवार को पटना ने परदीप नरवाल की मदद से इस तरह रचा था इतिहास

पहले हाफ़ में बंगाल वॉरियर्स ने शुरुआत अच्छी की थी और सीनियर खिलाड़ियों को आराम देने का कोई फ़र्क पड़ता हुआ नहीं दिख रहा था, क्योंकि बंगाल 9-6 से आगे चल रही थी। पटना पायरेट्स पर ऑलआउट का ख़तरा भी मंडराने लगा था, लेकिन यहां पटना के डिफ़ेंस ने कमाल का प्रदर्शन किया और दो सुपर टैकल हुए पटना की वापसी करा दी थी, एक विकास जगलान ने किया तो दूसरा नीरज ने किया। इसके बाद मैट पर वापस लौटे परदीप की आंधी में बंगाल उड़ गई और तुरंत ही ऑलआउट हो गई, इसके बाद भी परदीप का क़हर जारी था और पहले ही हाफ़ में परदीप ने अपना सुपर-10 भी पूरा कर लिया था, जो इस सीज़न का 15वां और उनके करियर का 59वां था। हाफ़ टाइम परदीप 12 रेड प्वाइंट्स ले चुके थे और पटना 27-17 से आगे थी।

एक ऐसा रिकॉर्ड जहां एम एस धोनी का पहुंचना भी नामुमकिन !

दूसरे हाफ़ में भी पटना की पकड़ मज़बूती से बनी हुई थी, पटना ने शुरुआत में ही बंगाल को दूसरी बार ऑलआउट करते हुए पटना को बड़ी बढ़त की तरफ़ ले जा रहे थे। हालांकि बंगाल की ओर से राकेश नरवाल ने भी सुपर-10 हासिल करते हुए अपनी टीम को लगातार वापसी कराने की कोशिश में लगे थे। लेकिन पटना के जब भी खिलाड़ी कम होते थे तो वह सुपर टैकल के ज़रिए वापसी कर लेते थे, पटना की ओर से 5 सुपर टैकल हुए जिसमें परदीप ने लगातर रेड्स के बीच में दर्शकों को झूमने का तब मौक़ा दिया जब उन्होंने एक सुपर टैकल भी किया, सीज़न के आख़िरी मैच में परदीप का ये पहला टैकल प्वाइंट था। खेल अब आख़िरी 6 मिनटों में पहुंच चुका था और अब पटना 15 प्वाइंट्स से आगे थी, यहां से पटना के लिए जीत महज़ औपचारिकता लग रही थी और इस पर मुहर तब लग गई जब परदीप नरवाल ने अपनी एक रेड में 6 खिलाड़ियों का शिकार करते हुए अपने ही रिकॉर्ड की बराबरी कर ली, इसके बाद व्हिसल बजने के साथ पटना ने जीत के साथ सीज़न से विदाई ले ली थी। परदीप ने मैच में कुल 36 प्वाइंट्स और 34 रेड प्वाइंट्स लिए, परदीप ने एक मैच में सबसे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स लेने के अपने रिकॉर्ड की बराबरी भी की।

3 खिलाड़ी जिनके नाम एक मैच में हैं 30 या उससे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स

प्रो कबड्डी इतिहास में पटना पायरेट्स की बंगाल वॉरियर्स पर ये 16 मैचों में 10वीं जीत है और सीज़न की पहली जीत। इस जीत के साथ ही पटना पायरेट्स 51 अंकों के साथ 8वें नंबर पर आ गई है। बंगाल वॉरियर्स इस हार के बावजूद नंबर-2 पर क़ायम है।

परदीप नरवाल के 4 बड़े रिकॉर्ड जिसने साबित किया कि वही हैं सर्वश्रेष्ठ

सोमवार यानी 7 अक्टूबर को ग्रेटर नोएडा के शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स कॉमप्लेक्स में दो मैच खेले जाएंगे, पहले मुक़ाबले में तेलुगू टाइटन्स और गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स की टक्कर होगी तो दूसरे मैच में तमिल थलाइवाज़ का सामना जयपुर पिंक पैंथर्स से होगा।