Begin typing your search above and press return to search.

कबड्डी

प्रो कबड्डी मैच 123: परदीप नरवाल ने पटना पायरेट्स को अकेले दम पर दिलाई गुजरात के ख़िलाफ़ ऐतिहासिक जीत

प्रो कबड्डी मैच 123: परदीप नरवाल ने पटना पायरेट्स को अकेले दम पर दिलाई गुजरात के ख़िलाफ़ ऐतिहासिक जीत
X
By

Syed Hussain

Published: 5 Oct 2019 4:18 PM GMT

शनिवार को ग्रेटर नोएडा के शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स कॉमप्लेक्स में खेले गए प्रो कबड्डी सीज़न के मैच नंबर 123 में पटना पायरेट्स ने गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स को 39-33 से शिकस्त दे दी। पटना के लिए इस जीत के हीरो हमेशा की तरह परदीप नरवाल रहे जिन्होंने एक और सुपर-10 लगाते हुए 17 रेड प्वाइंट्स लिए। तो गुजरात की ओर से जी बी मोरे ने कमाल का ऑलराउंड प्रदर्शन किया, उन्होंने सुपर-10 के साथ 11 रेड प्वाइंट्स लिए तो टैकल में भी 4 प्वाइंट्स लेते हुए मैच में कुल 15 प्वाइंट्स लिए लेकिन फिर भी टीम को जीत दिलाने में नाकाम रहे।

https://twitter.com/PatnaPirates/status/1180517117419896833?s=20

EXCLUSIVE: दिल्ली की शान नवीन कुमार की 'नवीन एक्सप्रेस' बनने की पूरी कहानी उन्हीं की ज़ुबानी

पहले हाफ़ में पटना पायरेट्स और गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स दोनों ही टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही थी। कभी बढ़त पटना के पास रहती थी तो कभी गुजरात आगे निकल जा रहे थे, पटना के पास कई बार गुजरात को ऑलआउट करने के मौक़े आए लेकिन फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए ऑलआउट होने से बचती रही और सुपर टैकल के साथ आगे बढ़ती रही। पहला हाफ़ पूरी तरह से गुजरात के जी बी मोरे के नाम रहा, जिन्होंने 4 टैकल प्वाइंट्स और 6 रेड प्वाइंट्स के साथ कुल 10 अंक लिए और कमाल का ऑलराउंड प्रदर्शन किया। पटना की ओर से वही कहानी दिखी और अकेले परदीप पर ही प्वाइंट्स लाने की ज़िम्मेदारी थी, हाफ़ टाइम तक परदीप ने 8 रेड प्वाइंट्स ले लिए थे, लेकिन 19-14 के साथ बढ़त गुजरात के पास थी।

https://twitter.com/PatnaPirates/status/1180506170332598272?s=20

वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत के लिए सबसे सुनहरी ख़बर

दूसरे हाफ़ में गुजरात और भी धमाकेदार अंदाज़ में उतरी, जी बी मोरे और रोहित गुलिया ने पटना पायरेट्स को ऑलआउट करते हुए अब 25-14 की बढ़त बना ली थी। लेकिन ऑलइन होने के बाद पटना पायरेट्स को अकेले दम पर वापसी दिलाई परदीप नरवाल ने जिन्होंने सीज़न का 14वां और करियर का 58वां सुपर-10 लेते हुए गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स को बेहद जल्दी ऑलआउट कर दिया और अब पटना 14-25 से 25-26 पर पहुंच चुका था, और मैच में अब 9 मिनट का खेल बचा था। यानी मुक़ाबला पूरी तरह से खुला था और अभी भी जीत किसी की भी संभव थी। परदीप ने अब पटना को बढ़त दिला दी थी, लेकिन आख़िरी लम्हों में मुक़ाबला तब सांस रोक देने वाला हो गया था जब जी बी मोरे ने भी सुपर-10 करते हुए गुजरात और पटना का स्कोर बराबर कर दिया था और इसके तुरंत बाद परदीप को टैकल करते हुए गुजरात को जीत की ओर मोड़ दिया था। अब एक मिनट से कम का समय बचा था और गुजरात एक प्वाइंट से आगे थी और सबसे अहम ये था कि परदीप मैट से बाहर थे। हालांकि जैन कुन ली अपनी रेड में पटना को एक अंक दिलाते हुए स्कोर फिर बराबर कर चुके थे। लेकिन मैच का टर्निंग प्वाइंट तब हो गया जब मोहम्मद इस्माइल ने पटना को एक अंक की बढ़त दिला दी थी और परदीप को रिवाइव कर दिया था, रिवाइव होते ही परदीप ने दो अंक की रेड लेते हुए पटना को मैच जीता दिया।

दिल्ली में खुलेगा देश का पहला खेल विश्वविद्यालय, छात्र कबड्डी और क्रिकेट में हो सकेंगे स्नातक

प्रो कबड्डी इतिहास में पटना की गुजरात पर ये सिर्फ़ दूसरी और लीग स्टेज में पहली जीत है, इससे पहले पटना ने गुजरात को सिर्फ़ सीज़न-5 के फ़ाइनल में हराया था।

यूपी योद्धा ने दबंग दिल्ली नहीं 'नई दिल्ली' को हराकर प्ले-ऑफ़्स में बनाई जगह, जयपुर बाहर

रविवार यानी 6 अक्टूबर को ग्रेटर नोएडा के शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स कॉमप्लेक्स में दो मैच खेले जाएंगे, पहले मुक़ाबले में बंगाल वॉरियर्स और पटना पायरेट्स की टक्कर होगी तो दूसरे मैच में मेज़बान यूपी योद्धा का सामना पुनेरी पलटन से होगा।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it