गुरूवार, नवम्बर 26, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी में आज अगर ऐसा हुआ तो पटना और गुजरात दोनों...

प्रो कबड्डी में आज अगर ऐसा हुआ तो पटना और गुजरात दोनों आधिकारिक तौर पर होंगे बाहर

प्रो कबड्डी का सीज़न-7 बेहद रोमांचक दौड़ में पहुंच चुका है, जहां हर एक मैच महत्वपूर्ण है, इन मैचों में हार और जीत के नतीजों पर कई टीमों की क़िस्मत टिकी है। एक टीम की जीत दूसरी टीम का सफ़र ख़त्म कर सकती है तो किसी टीम की हार से दूसरी टीम की उम्मीदें ज़िंदा हो सकती हैं। इसी कड़ी में आज पंचकूला में खेला जाने वाला दूसरा मुक़ाबला यानी मैच नंबर-116 पटना पायरेट्स और गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स।

प्रो कबड्डी इतिहास के 3 खिलाड़ी जिन्होंने सबसे तेज़ 400 रेड प्वाइंट्स को पार किया

प्रो कबड्डी का सीज़न-7 बेहद रोमांचक दौड़ में पहुंच चुका है, जहां हर एक मैच महत्वपूर्ण है, इन मैचों में हार और जीत के नतीजों पर कई टीमों की क़िस्मत टिकी है। एक टीम की जीत दूसरी टीम का सफ़र ख़त्म कर सकती है तो किसी टीम की हार से दूसरी टीम की उम्मीदें ज़िंदा हो सकती हैं। इसी कड़ी में आज पंचकूला में खेला जाने वाला दूसरा मुक़ाबला यानी मैच नंबर-116 पटना पायरेट्स और गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स के लिए बेहद अहम होगा।

क्या हैं दोनों टीमों के लिए समीकरण ?

पटना पायरेट्स और गुजरात दोनों फ़िलहाल 10वें और 8वें नंबर पर हैं, पटना के 19 मैचों में जहां 40 अंक है वहीं गुजरात के 20 मैचों में 45। जबकि आज का दूसरा मैच यू मुम्बा और तमिल थलाइवाज़ के बीच खेला जाना है, तमिल थलाइवाज़ प्ले-ऑफ़्स की रेस से पहले ही बाहर हो चुकी है इसलिए उनके लिए ये मैच महज़ प्रतिष्ठा का सवाल है क्योंकि सितारों से सजी इस टीम को पिछले 13 मैचों से जीत नहीं मिली है।

अब समीकरण समझिए, मुम्बा फ़िलहाल 18 मैचों में 54 अंकों के साथ 6ठे नंबर पर है, यानी अगर आज उनकी जीत होती है तो मुम्बा के 59 अंक हो जाएंगे। मुम्बा अगर टाई भी कर लेती है तो उनके 57 अंक हो जाएंगे इस परिस्थिति में पटना अपने तीनों और गुजरात अपने दोनों मैच जीतकर भी 55 अंक तक ही पहुंत पाएंगे। यानी मुम्बा की आज जीत पटना और गुजरात दोनों को प्ले-ऑफ़्स की रेस से बाहर कर देगी। तमिल और पुनेरी पलटन पहले ही इस दौड़ से बाहर हैं।

ये भी पढ़ें: कैसे पुनेरी पलटन का सफ़र सीज़न-7 में थम गया

लिहाज़ा पंचकूला में होने वाले इस मैच में पटना और गुजरात दोनों ही टीमें और उनके फ़ैन्स यही दुआ करेंगे कि जीत राहुल चौधरी की तमिल थलाइवाज़ की हो ताकि तीन बार की चैंपियन पटना पायरेट्स और लगातार दो बार के रनर अप गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स का सफ़र अभी बरक़रार रहे।

टेबल टॉपर्स की लड़ाई

इससे पहले शाम 7.30 बजे दो टेबल टॉपर्स भी आमने सामने होंगी, एक तरफ़ नंबर-1 पर क़ाबिज़ दबंग दिल्ली होगी तो उनके सामने नंबर-2 पर मौजूद बंगाल वॉरियर्स होंगे। दिल्ली की नज़र इस मैच को जीतकर सीज़न-7 में नंबर-1 स्थान को सुनिश्चित करना होगा क्योंकि इसके बाद अगर बंगाल अपने सभी मैच जीत भी गए तो भी वह दिल्ली के अंकों की बराबरी नहीं कर पाएंगे।