शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी सीज़न-7: पांच खिलाड़ी जिनके नाम है अब तक सबसे ज़्यादा...

प्रो कबड्डी सीज़न-7: पांच खिलाड़ी जिनके नाम है अब तक सबसे ज़्यादा सुपर-10

प्रो कबड्डी का सीज़न-7 धमाकेदार जा रहा है, जहां एक से बढ़कर एक मुक़ाबले देखने को मिल रहे हैं। दर्शकों के लिए भी इस सीज़न में रोमांच की इंतेहा है, हालांकि कई बड़े नाम इस बार ख़ामोश हैं तो कई ऐसे भी युवा हैं जिन्होंने अपनी अलग पहचान बना ली है। कई मुक़ाबलों में हमने रेडिंग की बारिश देखी है तो दो बार ऐसे भी मौक़े आएं हैं जब रेडर ने एक मैच में 25 रेड प्वाइंट्स का भी आंकड़ा पार कर लिया हो। एक मैच में 10 या उससे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स लाना प्रो कबड्डी में एक उपबल्धि मानी जाती है और इसे सुपर-10 कहा जाता है। आइए आपको दिखाते हैं कि इस साल अब तक किसने सबसे ज़्यादा सुपर-10 किए हैं।

आप ये जानकर हैरान हो जाएंगे कि इस बार अब तक ये कारनामा न तो दिग्गज अजय ठाकुर ने किया है और न ही शो मैन राहुल चौधरी या बाहुबली सिद्धार्त देसाई ने। बल्कि नंबर-1 पर तो इस फ़हरिस्त में प्रो कबड्डी के बादशाह परदीप नरवाल भी नहीं हैं। आइए एक नज़र डालते हैं इस सीज़न में सबसे ज़्यादा सुपर-10 हासिल करने वाले टॉप-5 रेडर पर।

#5 मनींदर सिंह, 6 सुपर-10

मनींदर सिंह, बंगाल वॉरियर्स

बंगाल वॉरियर्स के कप्तान और प्रो कबड्डी में एक बड़ा नाम मनींदर सिंह इस फ़हरिस्त में पांचवें नंबर पर हैं,  इस खिलाड़ी ने अब तक खेले 16 मैचों में 6 बार एक मैच में 10 या उससे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स हासिल किए हैं। मनींदर का एक मैच में सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा है 17 रेड प्वाइंट्स का, जो उन्होंने बेंगलुरु बुल्स के ख़िलाफ़ अपने आख़िरी लेग मैच में बनाए थे और टीम को जीत दिलाई थी।

#4 विकास कंडोला, 6 सुपर-10

विकांस कंडोला, हरियाणा स्टीलर्स

मनींदर सिंह की तरह ही हरियाणा स्टीलर्स के युवा रेडर विकास कंडोला भी इस फ़हरिस्त में शामिल हैं और इनके नाम भी 6 सुपर-10 हैं। लेकिन उड़न कंडोला के नाम से मशहूर विकास कंडोला ने ये उपलब्धि सिर्फ़ 11 मैचों में ही हासिल की है। यानी उनकी रफ़्तार कहीं ज़्यादा है। यही वजह है कि उड़न कंडोला पर सवार हरियाणा स्टीलर्स का प्रो कबड्डी के इस सीज़न में भी शानदार विकास हुआ है।

#3 परदीप नरवाल, 9 सुपर-10

परदीप नरवाल, पटना पायरेट्स

आपको भी और सभी को यही लगा होगा कि डुबकी किंग के नाम से मशहूर परदीप नरवाल इस फ़हरिस्त में टॉप पर होंगे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं है, परदीप नरवाल 15 मैचों में 9 सुपर-10 के साथ फ़िलहाल नंबर-3 पर हैं। इसकी वजह है परदीप की शुरुआत इस सीज़न में उनके नाम के मुताबिक़ नहीं हुई थी। और पहले 10 मैचों में परदीप ने 4 ही  सुपर-10 लगाया था लेकिन पिछले पांच मैचों में परदीप ने लगातार पांच सुपर-10 करते हुए अपनी रफ़्तार पकड़ ली है। तमिल थलाइवाज़ के ख़िलाफ़ तो परदीप ने एक मैच में 26 रेड प्वाइंट्स हासिल करते हुए विंटेज परदीप की याद दिला दी थी।

#2 पवन कुमार सहरावत, 10 सुपर-10

पवन कुमार सहरावत, बेंगलुरु बुल्स

इस फ़हरिस्त में नंबर-2 पर मौजूद हैं बेंगलुरु बुल्स की शान पवन कुमार सहरावत, जिन्होंने बेंगलुरु को पिछले सीज़न में चैंपियन बनाने में बड़ा किरदार निभाया था। इस सीज़न में भी पवन उसी रंग में हैं और अभी तक 16 मैचों में उन्होंने 10 बार सुपर-10 पूरा किया है। इतना ही नहीं पवन सहरावत के नाम इस सीज़न में एक मैच में सबसे ज़्यादा रेड प्वाइंट्स लेने का भी रिकॉर्ड है। पवन का इस सीज़न में बेस्ट प्रदर्शन एक मैच में 29 रेड प्वाइंट्स का है, और इस बार भी पवन अपनी टीम को ख़िताब की रक्षा कराने में भरपूर कोशिश कर रहे हैं।

#1 नवीन कुमार, 13 सुपर-10

नवीन कुमार, दबंग दिल्ली

अब बात उस खिलाड़ी की जिसने सभी को अपना दिवाना बना लिया है, दबंग दिल्ली के 19 साल के रेडर नवीन कुमार। जिन्होंने अपनी रफ़्तार और फुर्ती से ऐसा कारनामा कर दिया है जो आज तक प्रो कबड्डी के इतिहास में नहीं हुआ था। नवीन एक्स्प्रेस ने 14 मैचों में रिकॉर्ड 13 सुपर-10 कर चुके हैं, और इसलिए वह इस फ़हरिस्त में टॉप पर क़ाबिज़ हैं। इतना ही नहीं नवीन पिछले 12 मैचों से लगातार सुपर-10 करते आ रहे हैं और ये प्रो कबड्डी इतिहास का नया रिकॉर्ड है। उन्होंने इस मामले में दिग्गज परदीप नरवाल का रिकॉर्ड तोड़ डाला है, नवीन एक्सप्रेस की इसी सुपर रफ़्तार पर सवार दबंग दिल्ली तेज़ी से आगे निकलती जा रही है और अभी नंबर-1 की कुर्सी पर इत्मिनान से बैठी है।