शुक्रवार, फ़रवरी 26, 2021
होम कबड्डी प्रो कबड्डी सीज़न 7: चेन्नई लेग के पहले ही मैच में मेज़बान...

प्रो कबड्डी सीज़न 7: चेन्नई लेग के पहले ही मैच में मेज़बान तमिल थलाइवाज़ 21-31 से बेंगलुरू बुल्स से हारे

तमिल थलाइवाज़ के लिए होम लेग का आग़ाज़ अच्छा नहीं रहा जहां बेंगलुरू बुल्स  के हाथों मेज़बान टीम को 32-21 से हार का सामना करना पड़ा। तमिल थलाइवाज़ के स्टार रेडर राहुल चौधरी इस मैच में नहीं चल पाए और उन्हें सिर्फ़ दो अंक ही मिले। जबकि कप्तान अजय ठाकुर ने तमिल के लिए सबसे ज़्यादा 4 प्वाइंट्स हासिल किए।मैच के हीरो रहे बेंगलुरू के डिफ़ेंडर सौरभ नंदन और स्टार रेडर पवन सेहरावत, सौरभ को 5 टैकल प्वाइंट्स प्राप्त हुए तो पवन ने 11 रेड प्वाइंट्स लिए।

मैच की शुरुआत से ही बेंगलुरू बुल्स ने अपने इरादे साफ़ कर दिए थे और देखते ही देखते बेंगलुरू ने तमिल पर 7-0 की बढ़त बना ली थी। बेंगलुरू का रेड और डिफ़ेंस दोनों क्षेत्र तमिल पर हावी दिखाई दिया। नतीजा ये रहा कि हाफ़ टाइम तक बेंगलुरू बुल्स ने तमिल थलाइवाज़ पर 17-10 की बढ़त बनाई रही।

दूसरे हाफ़ में मेज़बान टीम ने मैच को रोमांचक बनाने की पूरी कसर जारी रखी, अजय ठाकुर ने कुछ प्वाइंट्स लाए लेकिन राहुल चौधरी रंग में नज़र नहीं आ रहे थे। 28वें मिनट में मजबूरन राहुल चौधरी की जगह वी अजीत कुमार को तमिल ने सब्सटिट्यूट किया। तुरंत ही बाद रोहित कुमार को भी रण सिंह ने टैकल करते हुए तमिल का वापसी का मौक़ा दिया। 29वें मिनट में स्कोर 15-19 था। यानी तमिल मैच में वापसी कर चुकी थी। अजय ठाकुर ने पवन सेहरावत को शिकार बनाया तो बंटी को मंजीत चिल्लर ने टैकल करते हुए स्कोर 17-19 कर दिया था और अब तमिल सिर्फ़ 2 अंक से पीछे थी। लेकिन तभी सौरभ नंदन ने अजय ठाकुर को सुपर टैकल कर लिया और बेंगलुरू फिर 4 अंक से आगे हो गया।

अब बस पांच मिनट का खेल बचा था और बेंगलुरू की बढ़त 7 अंकों की हो गई थी, तमिल के सिर्फ़ तीन खिलाड़ी ही कोर्ट पर थे और उनके सामने एक बार फिर ऑलआउट होने का भी ख़तरा मंडराने लगा था। मैच में जब तीन मिनट बाक़ी थे तभी अजय ठाकुर भी अमित श्योरान का शिकार हो गए और इसके तुरंत ही बाद तमिल थलाइवाज़ मैच में दूसरी बार ऑल आउट हो गए। अब सिर्फ़ औपचारिकता ही रह गई थी क्योंकि बज़र बजते ही बेंगलुरू ने मुक़ाबला अपने नाम कर लिया और तमिल पर अपनी जीत का सिलसिला क़ायम रखा। तमिल के ख़िलाफ़ बेंगलुरू की ये 8 मैचों में कुल सातवीं और लगातार पांचवीं जीत है।

इस जीत के साथ ही बेंगलुरू अब 27 अंकों के साथ अंक तालिका में दूसरे स्थान पर आ गई है जबकि तमिल थलाइवाज़ अभी भी सातवें स्थान पर ही बने हुए हैं।