Begin typing your search above and press return to search.

कबड्डी

PKL 2021 Match 22: हाई फ्लायर पवन का आलराउंड प्रदर्शन, बुल्स ने हरियाणा को हराया

पवन सेहरावत के आलराउंड प्रदर्शन के दम पर बेंगलुरू बुल्स ने हरियाणा स्टीलर्स को 42-28 के बड़े अंतर से हरा दिया।

Bengaluru Bulls vs Haryana Steelers PKL 2021
X
By

Bikash Chand Katoch

Published: 30 Dec 2021 4:42 PM GMT

मैच विजेता के तौर पर अपनी साख बना चुके पवन सेहरावत (22 अंक, 15 टच अंक, 4 बोनस और तीन टैकल अंक) के आलराउंड प्रदर्शन के दम पर बेंगलुरू बुल्स ने शेरेटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड कन्वेंशन सेंटर में जारी वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 22वें मैच में गुरुवार को हरियाणा स्टीलर्स को 42-28 के बड़े अंतर से हरा दिया।

पवन के अलावा हालांकि बुल्स का कोई भी रेडर नहीं चला। डिफेंस ने हालांकि बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 17 अंक अपने नाम किए। जहां तक हरियाणा की बात है तो उसका डिफेंस सिर्फ नौ अंक हासिल कर सका जबकि उसके टाप रेडर के तौर पर कप्तान विकाश कंडोला सात अंक ही बटोर सके।पकल 221

इस सीजन की तीसरी जीत ने बुल्स को 12 टीमों की तालिका में दूसरे स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है जबकि तीसरी हार ने हरियाणा को नौवें स्थान पर धकेल दिया है।

हरियाणा के लिए शुरुआत अच्छी रही थी। उसके डिफेंस ने शुरुआती चार मिनट में ही तीसरी कामयाबी हासिल करते हुए हाई फ्लायर पवन सेहरावत सहित बुल्स के तीन रेडरों को बाहर कर अपनी टीम को 4-1 की लीड दिला दी। इसके बाद बुल्स ने हालांकि वापसी करते हुए 4-4 की बराबरी कर ली।

पवन ने वापसी की और लगातार अंक बटोरते हुए बुल्स को 7-4 से आगे कर दिया। मीतू अकेले रेडर बचे थे। उन्हें लपक बुल्स के डिफेंस ने हरियाणा को आलआउट किया और 10-5 की लीड ले ली। शुरुआत में पिछे रहने वाले बुल्स के रेडरों के साथ-साथ डिफेंस भी चल पड़ा था औऱ इसी कारण 12 मिनट के खेल के बाद से 15-7 की लीड मिल चुकी थी।

मनिंदर सिंह के नेतृत्व में बुल्स का डिफेंस एडवांस टैकल पर आमादा था और इसी कारण हरियाणा के कप्तान विकाश कंडोला चल नहीं पा रहे थे। 17 मिनट के खेल के बाद स्कोर 18-12 से बुल्स के पक्ष में था। इस बीच विकास रिवाइव हुए और आते ही अपना चौथा अंक लिया। बुल्स के पवन बाहर हो चुके थे। बहरहाल बुल्स ने पहले हाफ की समाप्ति 19-१३ की लीड से की।

आलराउंडर जीबी. मोरे ने ब्रेक के बाद कंडोला को लपका और अगली ही रेड पर रंजीत लपके गए। पवन ने इसी बीच बोनस के साथ इस सीजन का अपना तीसरा सुपर-10 पूरा कर लिया। स्कोर 21-14 था। मीतू हरियाणा के लिए डू ओर डाई रेड पर थे लेकिन मोरे द्वारा लपके गए। पवन ने इशके बाद लगातार दो अंक लेते हुए बुल्स की लीड 10 अंकों की कर दी। इसी बीच, मोरे ने तीसरा टैकल कर रोहित गुलिया को आउट किया। पवन फिर आए औऱ अंक लिया। लीड अब 12 की हो गई थी।

हरियाणा के पास दो खिलाड़ी बचे थे। पवन ने रवि को आउट किया लेकिन आशीष ने दो अंक लेकर आलआउट टाल दिया। बुल्स को अभी भी 10 अंकों की लीड थी। पवन ने सुपर टैकल पर अंक लिया और फिर बुल्स के डिफेंस ने आशीष को लपक लिया। बुल्स ने दूसरी मर्तबा हरियाणा को आलआउट किया और 32-18 की लीड ले ली।

हरियाणा ने दो अंकों के साथ लीड को 12 अंकों का किया लेकिन बुल्स के सौरव नांगल ने मीतू की उड़ान को रोककर स्कोर 33-20 कर दिया। पवन की गैरमौजूदगी में रंजीत फिर लपके गए। पवन की वापसी हो गई थी। वह आए और अंक लेकर लीड 14 अंकों की कर दी। रोहित ने दो रेड्स पर बुल्स के चार डिफेंडरों को आउट कर वापसी की उम्मीद जगाई।

पांच मिनट बचे थे औऱ स्कोर 25-35 से बुल्स के पक्ष में था। अब बुल्स के लिए सुपर टैकल आन था। मोरे ने एक बार फिर कमाल किया और सुपर टैकल के साथ अपना हाई-5 पूरा किया। हरियाणा की अगली रेड पर हालांकि मोरे आउट हुए। कंडोला सफल वापसी कर चुके थे। आते ही उन्होंने दो अंक लिए। अब स्कोर 28-38 था।

अंतिम एक मिनट में पवन ने अपना 19वां प्वाइंट हासिल किया। अगली रेड पर कंडोला सुपर टैकल कर लिए गए। बुल्स 41-28 से आगे थे। पवन ने इस बार टैकल किया। वह डिफेंस में भी तीन टैकल प्वाइंट हासिल कर अपनी टीम की जीत के हीरो बने।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it