Begin typing your search above and press return to search.

कबड्डी

PKl 2021 Match 38: हरियाणा की तीसरी जीत, डिफेंडिंग चैम्पियन को 41-37 से हराया

ऑलराउंडर मीतू और कप्तान विकाश कंडोला के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत हरियाणा स्टीलर्स ने बंगाल वॉरियर्स को हरा दिया।

Haryana Steelers Bengal Warriors PKL 2021
X
By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-01-07T22:44:29+05:30

ऑलराउंडर मीतू (10 अंक) और कप्तान विकाश कंडोला (9 अंक) के अलावा अपने डिफेंडर्स मोहित एवं सुरेंडर नाडा के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत हरियाणा स्टीलर्स ने शेराटन ग्रैंड, व्हाइटफील्ड होटल एवं कन्वेंशन सेंटर जारी वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन के 38वें मुकाबले में शुक्रवार को मौजूदा चैम्पियन बंगाल वॉरियर्स को 41-37 से हरा दिया।

दोनों टीमों का यह सातवां मैच था। हरियाणा ने अब तक तीन मुकाबले जीते हैं जबकि तीन में उसे हार मिली है। एक मुकाबला टाई भई रही है। बंगाल को तीन मैचों में जीत और चार मैचों में हार मिली है। बंगाल ने अपने स्टार रेडर मनिंदर सिंह (14 अंक) के सीजन के पांचवें सुपर-10 की बदौलत जीत हासिल करने की पूरी कोशिश की लेकिन अपनी टीम के दो बार ऑल आउट होने के कारण वह सफल नहीं हो सके।

बंगाल ने 13 मिनट के भीतर हरियाणा को ऑल आउट कर 13-7 की लीड ले लेकिन हरियाणा ने बेहतरीन वापसी करते हुए पहले हाफ के अंत तक स्कोर 15-18 कर दिया। साथ ही साथ उसने बंगाल को ऑल आउट की कगार पर भी धकेल दिया।

शुरुआती पांच मिनट में रेडरों की भूमिका सीमित रही लेकिन दोनों टीमों के डिफेंडर्स खुलकर खेले। बाद में हालांकि रेडरों ने लय पकड़ी और 8-8 अंक लिए। डिफेंस में बंगाल ने 8 और हरियाणा ने सात अंक लिए। हरियाणा ने हालांकि 7-13 से पीछे होने के बाद शानदार वापसी की और कप्तान विकाश कंडोला, ऑलराउंडर जयदीप तथा मीतू और अपने हरफनमौला डिफेंडर सुरेंदर नाडा की बदौलत मैच में बने रहे।

बंगाल के लिए बर्थडे ब्वाय सचिन विट्टाला ने शुरुआती 20 मिनट में हाई-5 पूरा किया और मनिंदर सिंह ने शुरुआती दो रेड में पकड़े जाने के बाद पांच अंक अपने नाम किए। ब्रेक के बाद हरियाणा ने बंगाल को ऑल आउट कर 18-18 की बराबरी कर ली। इसके बाद पहली ही रेड पर मनिंदर को लपक कर हरियाणा ने 21-18 लीड ले ली। कप्तान विकाश ने डिफेंडर को सेल्फ आउट को मजबूर कर लीड चार की कर ली।

सुकेश डू ओर डाई रेड पर थे। वह लपके गए लेकिन उनके साथ डिफेंडर भी आउट हुआ। बंगाल के डिफेंस ने अगली रेड पर विकाश को भी लपक लिया। स्कोर 20-23 हो गया था। मीतू ने लगातार दो रेड पर अंक लिए। इसके बाद मनिंदर ने डू ओर डाई रेड पर बोनस लिया। विकाश ने अगली रेड पर एक अंक लेकर स्कोर 26-21 किया जबकि मनिंदर ने नाडा का शिकार कर लीड चार की कर ली। फिर बंगाल ने कंडोला को सुपर टैकल कर स्कोर 24-२६ कर लिया।

मीतू ने नबीबक्श को आउट कर बंगाल को फिर ऑलआउट की ओर धकेला। मनिंदर को अगली रेड पर सिर्फ बोनस मिल सका। मीतू ने अगली रेड पर फिर अंक लिया और स्कोर 28-25 कर दिया। मनिंदर ने फिर बोनस लिया और मीतू ने भी अंक लिया। हरियाणा ने अब बंगाल को दूसरी बार ऑल आउट कर 32-27 की लीड ले ली। इसी बीच मनिंदर ने इस सीजन का अपना पांचवां सुपर-10 पूरा किया। अबूजार मेघानी ने अगली रेड पर कंडोला को लपक कर स्कोर 29-33 कर दिया। हालांकि हरियाणा ने मनिंदर को आउट कर इसकी भरपाई की।

चार मिनट का खेल बचा था और स्कोर 36-32 से हरियाणा के पक्ष में था। मनिंदर टीम को कमबैक करा रहे थे। बोनस लेकर उन्होंने स्कोर 33-36 कर दिया लेकिन मीतू ने टच प्वाइंट पर न सिर्फ अपना सुपर-10 पूरा किया बल्कि लीड फिर चार की कर दी। फिर नाडा ने नबीबक्श के खिलाफ एडवांस टैकल पर गलती कर दी।

अगली रेड पर विकाश ने दो अंक लेकर स्कोर 39-34 कर दिया। बंगाल के लिए सुपर टैकल आन था। मनिंदर बोनस लेने के बाद सुपर रेड के प्रयास में आउट हो गए। स्कोर 40-36 हो गया था। नबीबक्श की अगली रेड पर नाडा ने फिर गलती की और फिर विकाश ने अंतिम रेड पर अंक लेकर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की।

Next Story
Share it