शुक्रवार, फ़रवरी 26, 2021
होम कबड्डी कबड्डी की लोकप्रियता से प्रभावित होकर किर्गिस्तान ने अपने देश में इसे...

कबड्डी की लोकप्रियता से प्रभावित होकर किर्गिस्तान ने अपने देश में इसे बढ़ावा देने के लिए भारत से मांगी मदद

भारत में कबड्डी कितनी लोकप्रिय है ये किसी से छिपा नहीं है, शायद आज क्रिकेट के बाद किसी खेल को इस देश में सबसे ज़्यादा पसंद किया जाने लगा है तो वह है कबड्डी। उसकी एक बड़ी वजह इस खेल में भारत का वर्चस्व भी है, अब तक हुए सभी 6 कबड्डी वर्ल्ड का चैंपियन भारत ही रहा है। कबड्डी की यही दिवानगी अब दूसरे देशों को भी इस खेल से जुड़ने के लिए उत्सुक कर रही है।

भारत सभी 6 बार रहा है कबड्डी का वर्ल्ड चैंपियन

कुछ ऐसा ही हुआ है किर्गिस्तान के साथ, गुरुवार को कीर्गिस्तान के एंबेसेडर असीन इसाएव भारत में थे जहां उन्होंने देश के खेल मंत्री किरेन रिजिजू से मुलाक़ात की और इस दौरान उन्होंने भारत और किर्गिस्तान के बीच खेल संबंध स्थापित करने की बात कही। इतना ही नहीं असीन ने किरेन रिजिजू से उनके देश में कबड्डी के विस्तार के लिए भी मदद मांगी। भारतीय खेल मंत्री ने भी उन्हें अपनी तरफ़ से आश्वस्त किया और उम्मीद है कि जल्दी ही किर्गिस्तान में कबड्डी की शुरुआत मुमकिन है।

ये भी पढ़ें: अपने 100वें मुक़ाबले में परदीप ‘हज़ारी’ नरवाल ने कौन सा रिकॉर्ड बना डाला ?

इस मुलाक़ात के बाद किरेन रिजिजू के ऑफ़िस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इस बात की जानकारी दी गई।

कबड्डी में फ़िलहाल भारत और ईरान को बेहद मज़बूत टीम मानी जाती है, भारत ने जहां 6 बार वर्ल्डकप पर कब्ज़ा जमाया है तो सभी 6 बार ईरान भी रनर अप रहा है। एशियन गेम्स में तो ईरान ने इतिहाच रचते हुए मेंस और विमेंस दोनों में ही इस बार गोल्ड मेडल भी जीत चुका है, भारत में कबड्डी की लीग जिसे प्रो कबड्डी कहते हैं वह भी बेहद लोकप्रिय है। और वहां भी ईरान के कई खिलाड़ी सभी के चहेते बने हुए हैं।

एशियन गेम्स के पुरुष और महिला दोनों टीम का चैंपियन है ईरान

इसी को देखते हुए किर्गिस्तान भी अब कबड्डी के मैट पर आने के लिए बेक़रार है, फ़िलहाल कीर्गिस्तान में कबड्डी बिल्कुल शुरुआती चरण में है। लेकिन अगर इस देश ने बेहतर इच्छाशक्ति दिखाई और भारत जैसे देश से इन्हें मदद मिली तो ज़ाहिर तौर पर आने वाले समय में कबड्डी को एक और देश मिल जाए।