Begin typing your search above and press return to search.

हॉकी

Year 2022: भारतीय हॉकी के लिए रहा चुनौतियों भरा साल, महिला टीम ने 16 साल बाद राष्ट्रमंडल खेल में पदक जीत किया कमाल

आने वाला साल भारतीय हॉकी के लिए बेहद अहम होने वाला हैं। जिसकी वजह साल के पहले ही महीने में होने वाला एफआईएच विश्व कप हैं।

India Women Hockey Team
X

राष्ट्रमंडल खेल 2022 कांस्य पदक विजेता भारतीय महिला हॉकी टीम 

By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-12-31T16:57:17+05:30

भारतीय हॉकी में इस साल महिलाओं का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला। बीते साल भारतीय महिला हॉकी टीम ने खुद को साबित किया और 16 साल बाद बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीतकर भारत की झोली में एक और पदक डाल दिया।

महिला टीम ने ने एशिया कप में तीसरे स्थान पर रहकर जीत के साथ साल की शुरुआत की, जहां भारतीय महिलाओं ने कांस्य पदक के मैच में चीन को 2-0 से हराया। जिसके बाद राष्ट्रमंडल खेलों में महिला टीम ने पूरे दम और मेहनत के साथ मैच खेला और गोल्ड कोस्ट 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन न्यूजीलैंड को पेनल्टी शूटआउट में 2-1 से हराकर 16 साल के इंतजार को खत्म करते हुए कांस्य पदक हासिल किया। इससे पहले भारतीय महिला टीम ने मैनचेस्टर राष्ट्रमंडल खेल 2002 में स्वर्ण पदक और इसके चार साल बाद मेलबर्न में रजत पदक अपने नाम किया था।

इतना ही नहीं साल के खत्म होने से पहले भी महिला टीम एक और खिताब अपने नाम करने में सफल हुई। साल के आखिर में महिला टीम ने वैलेंसिया में एफआईएच नेशंस कप जीतकर अपने जीत के अभियान को जारी रखा।इन सारी जीत के बीच टीम को कुछ नाकामियों का भी सामना करना पड़ा। जिसमें से एक भारतीय जूनियर की टीम की हार थी। अप्रैल में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए जूनियर विश्वकप में टीम कांस्य पदक मैच में इंग्लैंड से 0-2 से हार गई थी। इसके अलावा विश्व कप में भी महिला टीम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था, टीम वहां नौवां स्थान ही हासिल कर पाई।

महिला टीम के साथ भारतीय पुरुष टीम को भी बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल में सफलता हाथ लगी। पुरुष टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन कर रजत पदक अपने नाम किया। फाइनल मुकाबले में टीम को ऑस्ट्रेलिया की टीम से हार झेलनी पड़ी। पुरुष टीम ने जकार्ता में एशिया कप में तीसरे स्थान पर रहकर साल की शुरुआत की थी। इसके बाद उसने लुसाने में पहले 'फाइव ए साइड' टूर्नामेंट को जीता। इसके साथ ही टीम ने लुसाने में हुए 'फाइव ए साइड' टूर्नामेंट को जीता।

सुल्तान जोहोर कप में भी भारत का दबदबा रहा, जहां अंडर-21 टीम चैंपियन बनी।

गौरतलब है कि भारतीय टीम ने प्रो लीग में तीन मैच खेले जिसमें से उसने न्यूजीलैंड को दो मैचों में हराया लेकिन स्पेन से उसे हार का सामना करना पड़ा था। साल के खत्म होने से पहले भारतीय टीम ने पांच मैचों की श्रृंखला के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया जिसमें भी उसे 1-4 से हार मिली।

साल 2022 में हॉकी इंडिया में भी एक बड़ा बदलाव देखने को मिला, जब पूर्व कप्तान दिलीप टिर्की को अध्यक्ष और हॉकी झारखंड के भोला नाथ सिंह को सचिव के रूप में चुना गया।

आने वाला साल भारतीय हॉकी के लिए बेहद अहम होने वाला हैं। जिसकी वजह साल के पहले ही महीने में होने वाला एफआईएच विश्व कप हैं। 13 से 29 जनवरी के बीच भुवनेश्वर और राउरकेला में होने वाले विश्वकप में भारतीय टीम से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही, जिसके लिए टीम पूरी तरह से तैयारी में लगी हुई हैं। अब देखना यह होगा कि अगला साल भारतीय हॉकी के लिए कितना अच्छा साबित होता हैं।

Next Story
Share it