Begin typing your search above and press return to search.

हॉकी

हॉकी विश्व कप 2023: 13 जनवरी को भारत-स्पेन मैच के साथ होगा विश्व कप का आगाज

हॉकी विश्व कप के 52 साल के इतिहास में भारतीय टीम केवल एक बार ही खिताब पर कब्जा कर पाई है

हॉकी विश्व कप 2023: 13 जनवरी को भारत-स्पेन मैच के साथ होगा विश्व कप का आगाज
X
By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-09-27T18:41:05+05:30

भुवनेश्वर, ओडिशा में 2023 में होने वाले हॉकी पुरुष विश्व के लिए शेड्यूल जारी कर दिया गया है। हॉकी पुरुष विश्व कप में भारत का पहला मैच 13 जनवरी 2023 को स्पेन के खिलाफ होगा। अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने मंगलवार को यह जानकारी दी। महासंघ ने बताया कि यह मैच राउरकेला के नवनिर्मित बिरसा मुंडा हॉकी स्टेडियम में खेला जाएगा। टूर्नामेंट की शुरुआत 13 जनवरी को ही ओलंपिक 2016 की स्वर्ण पदक विजेता अर्जेंटीना और अफ्रीका की सर्वोच्च रैंकिंग वाली टीम दक्षिण अफ्रीका के बीच उद्घाटन मैच के साथ होगी, जो भुवनेश्वर के कलिंग स्टेडियम में खेला जाएगा। इस स्टेडियम ने पुरुष विश्व कप 2018 के फाइनल की मेजबानी भी की थी।

एफआईएच पुरुष हॉकी विश्व कप के लिए भारत को पूल डी में इंग्लैंड, स्पेन और वेल्स के साथ रखा गया है। पूल ए में ऑस्ट्रेलिया, अर्जेंटीना, फ्रांस और दक्षिण अफ्रीका हैं जबकि पूल बी में गत चैंपियन बेल्जियम को जर्मनी, कोरिया और जापान से मुकाबला करना है। पूल सी में नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, मलेशिया और चिली शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि चिली और वेल्स ने पहली बार पुरुष विश्व कप के लिए क्वालीफाई किया है। बेल्जियम वर्तमान विश्व चैंपियन है, जिसने 2018 संस्करण के फाइनल में नीदरलैंड को हराया था।

अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने बताया कि भुवनेश्वर में दिन का दूसरा मैच दुनिया की नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस के बीच होगा। दूसरी ओर, राउरकेला का नवनिर्मित बिरसा मुंडा हॉकी स्टेडियम अपने पहले एफआईएच विश्व कप मैच की मेजबानी करेगा, जिसमें इंग्लैंड और वेल्स एक दूसरे से भिड़ेंगे। दिन के दूसरे मुकाबले में भारत और स्पेन आमने सामने होंगे। टूर्नामेंट में कुल 44 मैच खेले जाएंगे। फाइनल मुकाबला 29 जनवरी को स्थानीय समयानुसार शाम सात बजे भुवनेश्वर में खेला जाएगा।

हॉकी विश्व कप के 52 साल के इतिहास में भारतीय टीम केवल एक बार ही खिताब पर कब्जा कर पाई है। 1975 में भारतीय टीम मलेशिया में हुए विश्व कप में चैंपियन बनी थी। इसके अलावा 1973 में भारत दूसरे स्थान पर रहा था। हॉकी विश्व कप 1971 में पहली बार आयोजित की गई थी और भारतीय टीम तीसरे स्थान पर रही थी। भारत में चौथी बार इस टूर्नामेंट का आयोजन हो रहा है। इससे पहले 1982, 2010 और 2018 में भारत इस टूर्नामेंट की मेजबानी कर चुका है।

पाकिस्तान हॉकी विश्व कप के इतिहास की सबसे सफल टीम है। पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा चार बार यह टूर्नामेंट जीता है। दो बार फाइनल में हारी है और एक बार चौथे स्थान पर रही है।

Next Story
Share it