बुधवार, अक्टूबर 28, 2020
होम ताज़ा ख़बर भारतीय महिला हॉकी टीम ने अनबिटेन रहते हुए इंग्लैंड दौरा किया ख़त्म,...

भारतीय महिला हॉकी टीम ने अनबिटेन रहते हुए इंग्लैंड दौरा किया ख़त्म, 5 मैचों की टेस्ट सीरीज़ 1-1 से बराबर

इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय महिला हॉकी टीम ने पांचवें और आख़िरी टेस्ट मैच में मेज़बान इंग्लैंड को कड़ी टक्कर के साथ दौरे का समापन किया। इसी के साथ टीम इंडिया ने मज़बूत और रैंकिंग में अपने से ऊपर 5वें नंबर की ग्रेट ब्रिटेन के ख़िलाफ़ 5 मैचों की सीरीज़ भी 1-1 से बराबर। भारतीय टीम ने दौरे की शुरुआत इंग्लैंड पर 2-1 की जीत के साथ की थी। इसके बाद अगले दो मैच ड्रॉ रहे थे, जबकि चौथे मैच में मेज़बान इंग्लैंड ने 3-1 से जीत हासिल करते हुए सीरीज़ 1-1 की बराबरी पर ला दी थी। भारतीय टीम की गोलकीपर सविता के ये 200वां अंतर्राष्ट्रीय मैच था। भारत की ओर से इस मैच में नवजोत (8वें मिनट) और गुरजीत कौर (48वें मिनट) ने गोल दागे।

इंग्लैंड दौरे पर गई रानी रामपाल की कप्तानी में भारतीय महिला हॉकी टीम

खेलोगे-कूदोगे होगे ख़राब”… इस मुहावरे को ऐतिहासिक फ़ैसले ने बनाया “खेलोगे-कूदोगे होगे ग्रैजुएट”

पहला क्वार्टर इंग्लैंड 0 भारत 1

भारतीय महिला टीम ने पांचवें और निर्णायक मैच की शुरुआत धमाकेदार अंदाज़ में की थी, टीम इंडिया की तरफ़ से शुरुआती लम्हों में ही नवजोत ने गोल करते हुए भारत को 8वें मिनट में ही 1-0 की बढ़त दिला दी थी। इसके बाद भी टीम इंडिया का आक्रामक खेल इस क्वार्टर में जारी रहा और मेज़बान टीम को वापसी का मौक़ा भारतीय टीम ने नहीं दिया, पहला क्वार्टर 1-0 के साथ टीम इंडिया ने ख़त्म किया।

दूसरा क्वार्टर (हाफ़ टाइम) इंग्लैंड 0 भारत 1

उम्मीद के मुताबिक़ दूसरे हाफ़ में मेज़बान इंग्लैंड ने वापसी की ज़ोरदार कोशिश की और उन्हें एक या दो नहीं बल्कि चार चार पेनल्टी कॉर्नर भी मिले, लेकिन अपना 200वां मैच खेल रही भारतीय गोलकीपर ने इंग्लैंड की सारी उम्मीदों के सामने दीवार बनकर खड़ी रहीं। नतीजा ये हुआ कि इंग्लैंड की ओर से किए गए इन सारे प्रयासों के बावजूद हाफ़ टाइम तक भारत 1-0 से आगे रहा और इसका श्रेय जाता है भारतीय महिला टीम अनुभवी गोलकीपर सविता को।

तीसरा क्वार्टर इंग्लैंड 0 भारत 1

…पसीने की वजह से इस ईरानी कोच को भारतीय कुश्ती संघ ने बाहर किया !

तीसरे क्वार्टर की शुरुआत बहुत ही नाटकीय अंदाज़ में हुई थी, जब भारत को पहले पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन टीम इंडिया उसे भुनाने में नाकाम रही। अगले ही पल एक और पेनल्टी कॉर्नर मेज़बान टीम को जा मिला था, हालांकि भारत ने एक बार फिर इंग्लैंड के इस पेनल्टी कॉर्नर का बचाव कर लिया था, और तीसरे क्वार्टर तक टीम इंडिया 1-0 से आगे थी। लेकिन भारतीय महिला टीम ने इस क्वार्टर में 2-0 की बढ़त बनाने का मौक़ा ज़रूर चूक गईं थीं।

तीसरे क्वार्टर में भारत और इंग्लैंड के बीच हुई कांटे की लड़ाई

चौथा क्वार्टर (फ़ुल टाइम) इंग्लैंड 2 भारत 2

अब सभी की नज़रें इस चौथे क्वार्टर पर थीं, जहां 48वें मिनट में भारतीय महिलाओं को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला जिसे गुरजीत कौर ने गोल में तब्दील करते हुए भारत को 2-0 की बढ़त के साथ साथ इंग्लैंड में जाकर उनके ख़िलाफ़ सीरीज़ जीत के क़रीब ला खड़ा किया था। लेकिन कुछ ही मिनटों बाद इंग्लैंड की ओर से पेनल्टी कॉर्नर में एक और गोल हो गया और अब भारत की बढ़त कम हो कर 1 अंक की हो गई थी। अब सिर्फ़ 5 मिनटों का खेल बचा था और भारतीय खेल प्रेमियों की धड़कने बढ़ रहीं थीं। आख़िरी तीन सेकंड्स का खेल बचा था और तभी मेज़बान टीम ने गोल करते हुए सीरीज़ जीत के भारत के सपने को बराबरी पर ला दिया। हालांकि नंबर-9 पर मौजूद टीम इंडिया का इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ये शानदार प्रदर्शन रहा।