बुधवार, सितम्बर 30, 2020
होम ताज़ा ख़बर FIH ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स: भारतीय महिला टीम की अमेरिका पर धमाकेदार जीत, टोक्यो...

FIH ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स: भारतीय महिला टीम की अमेरिका पर धमाकेदार जीत, टोक्यो 2020 की तरफ़ बढ़ा क़दम

शुक्रवार की शाम भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में FIH ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स की शुरुआत हो गई, जहां पहला मुक़ाबला भारतीय महिला हॉकी टीम और अमेरिकी महिला हॉकी टीम के बीच हुआ। इस मुक़ाबले में रानी रामपाल की अगुवाई वाली टीम इंडिया ने अमेरिका पर 5-1 की धमाकेदार जीत के साथ टोक्यो 2020 के लिए पहला क़दम बढ़ा दिया है। भारत के लिए इस मैच में पहला गोल लिलिमा मिन्ज़, दूसरा वंदना, तीसरा और पांचवां गुरजीत, जबकि चौथा गोल सलिमा ने किया। इनके अलावा सविता ने कई आक्रमण झेले और चट्टान की तरह सामने खड़े रहते हुए जीत में अहम भूमिका निभाई।

पहला क्वार्टर भारत 0 अमेरिका 0

भारत और अमेरिका के बीच हुए इस मुक़ाबले की शुरुआत से ही दोनों टीमों का डिफ़ेंस कमाल का नज़र आ रहा था। विश्व रैंकिंग में 9वें नंबर पर मौजूद टीम इंडिया और 13वीं रैंकिंग वाली अमेरिका के बीच कोई ख़ास अंतर नहीं दिख रहा था। अमेरिका ने आक्रमण की रणनीति अपना रखी थी लेकिन भारतीय रक्षापंक्ति को भेद पाना उनके लिए बेहद मुश्किल हो रहा था। नतीजा ये हुआ कि पहले क्वार्टर तक दोनों ही टीमों की ओर से कोई गोल नहीं हुआ और स्कोर 0-0 से बराबर रहा।

दूसरा क्वार्टर (हाफ़ टाइम) भारत 1 अमेरिका 0

भारत और अमेरिका दोनों ही टीमों ने पहला क्वार्टर जहां छोड़ा था, उसी रणनीति से आगे बढ़ाया और एक बार फिर अमेरिकी सेना आक्रमण पर थी लेकिन सविता पूनिया चट्टान की तरह उनके आक्रमणों को सह रहीं थी। साथ ही साथ भारत ने भी इस क्वार्टर में आक्रमण बढ़ा दिया था, टीम इंडिया को पेनल्टी कॉर्नर और फ़्री हिट भी मिली थी लेकिन इसे गोल में तब्दील करने से भारतीय खिलाड़ी चूक गईं थी। पर हाफ़ टाइम ख़त्म होने के ठीक पहले 28वें मिनट में भारत को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला और इस बार लिलिमा मिन्ज़ ने कोई ग़लती नहीं की और मैच का पहला गोल करते हुए भारत को महत्वपूर्ण बढ़त दिला दी। हाफ़ टाइम तक इस गोल की वजह से टीम इंडिया 1-0 से आगे था।

तीसरा क्वार्टर भारत 3 अमेरिका 0

एक बार फिर इस क्वार्टर में भारतीय महिला टीम पूरी तरह आक्रामक नज़र आ रही थी, 38वें मिनट में टीम इंडिया को पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन उसे गोल में तब्दील करने से भारत चूक गया। कुछ ही देर बाद भारत की ओर वंदना ने एक और गोल करते हुए भारत को अब 2-0 से आगे कर दिया था। रानी रामपाल भी एक और गोल करने के बेहद क़रीब आ गईं थी लेकिन अमेरिकी रक्षापंक्ति ने ग़लत तरीके से इसका बचाव किया जिसके बाद भारत को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला और इसे गुरजीत ने एक और गोल में तब्दील करते हुए अब भारत को 3-0 की बढ़त दिला दी थी। यहां से अमेरिका के लिए वापसी बेहद मुश्किल होती जा रही थी, टीम इंडिया ने तीसरा क्वार्टर 3-0 की बढ़त के साथ ख़त्म किया।

चौथा क्वार्टर (फ़ुल टाइम) भारत 5 अमेरिका 1

भारतीय महिला टीम ने अमेरिका को सांस लेने का भी मौक़ा नहीं दिया, अभी 3 गोल खाने के ग़म से अमेरिकी महिलाएं उबरी भी नहीं थीं कि सलिमा ने 46वें मिनट में एक और गोल करते हुए अमेरिका पर 4-0 की बढ़त बना ली थी और अब क़रीब क़रीब उनके लिए यहां से जीत पाना या वापसी कर पाना मुश्किल हो चुका था। मैच में जब 9 मिनट का खेल बचा था और तभी भारत ने एक और गोल करते हुए अब 5-0 की बढ़त बना ली थी, हालांकि अमेरिका को आख़िरकार एक गोल नसीब हुआ लेकिन वह बस हार के अंतर को कम करने के काम आया। क्योंकि व्हिसल बजते ही भारतीय महिला हॉकी टीम ने शानदार अंदाज़ में FIH ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स का आग़ाज़ किया।

अब शनिवार की शाम एक बार फिर टीम इंडिया का सामना अमेरिका से होगा जहां अगर भारतीय टीम को जीत मिलती है, या मुक़ाबला बराबरी पर समाप्त होता है या फिर भारत को 3 या 3 से कम अंतर से भी हार मिलती है तो उन्हें टोक्यो 2020 का टिकेट मिल जाएगा। यानी लगातार दूसरी बार भारतीय महिला टीम ओलंपिक में क्वालिफ़ाई करने की दहलीज़ पर खड़ी हैं।