Begin typing your search above and press return to search.

हॉकी

FIH सीरीज फाइनल: पोलैंड पर 3-1 की जीत के साथ भारत का विजय अभियान ज़ारी

FIH सीरीज फाइनल: पोलैंड पर 3-1 की जीत के साथ भारत का विजय अभियान ज़ारी
X
By

Anshul Chavhan

Updated: 2022-04-25T01:06:34+05:30

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने अपने दूसरे ग्रुप मैच में विश्व की 21 वे स्थान वाली पोलैंड को 3-1 से मात दी। पोलैंड के खिलाफ यह मैच जितने में भारत को बहुत ही मशक्कत करनी पड़ी। पहले मिनट में पोलैंड ने भारत पर हमले करने भी शुरू कर दिए और इसका फायदा उन्हें पेनल्टी कार्नर लेकर हुआ, लेकिन माइकल पोल्टस्वेस्की के वेरिएशन पर लिए गए शॉट को मनप्रीत सिंह ने अच्छे से बचाव करते हुए पोलैंड को बढ़त दिलाने के मौके को विफल कर दिया। पोलैंड ने अपना रक्षात्मक खेल ज़ारी रखा, उन्होंने भारत की फॉरवर्ड लाइन को आगे बढ़ने का कोई भी मौका नहीं दिया, पुरे ही क्वार्टर में भारत की फॉरवर्ड और मिड फील्ड, पोलिश डिफेंस को भेदने में नाकामयाब रही।

छठे मिनट में मनप्रीत के क्रॉस पर मनदीप ने आकाशदीप को एक अच्छा मौका दिया लेकिन गोलकीपर मेसियेज पाकोन्वेस्की ने चौकन्ने रहते हुए आसानी से इसे क्लियर कर दिया। 11 वे मिनट में पोलैंड के मेसियेज जानिवेस्की को ग्रीन कार्ड मिलने पर भारत के पास अच्छा मौका था लेकिन पोलैंड ने अपने रक्षात्मक खेल के साथ भारत को कोई मौका नहीं दिया। मनप्रीत सिंह, आकाशदीप सिंह, अमित रोहिदास और विवेक सागर प्रसाद ने कई मौके भी बनाये लेकिन हर बार पोलैंड की डिफेंस लाइन और गोलकीपर पाकोन्वेस्की ने भारत के हमले को विफल करते रहे। पहला क्वार्टर बिना किसी के गोल के ख़त्म हुआ। पोलैंड ने 55% बॉल पजेशन अपने पास रखा।

दूसरे क्वार्टर में भारत ने अपनी शैली को बदला और मिडफील्ड लाइन आगे आकर खेलने लगी, मनप्रीत, नीलकांता शर्मा, हार्दिक सिंह और विवेक सागर प्रसाद ने फॉरवर्ड लाइन के साथ पोलिश सर्किल भेदने की कई कोशिशे की, इसी बिच पोलिश टीम ने भी अपने हमले लगातार ज़ारी रखे लेकिन श्रीजेश को रिप्लेस करके आये कृशन पाठक ने पोलिश फॉरवर्ड्स को गोल से रखा। दूसरे क्वार्टर की स्थिति भी पहले क्वार्टर जैसी ही बन रही थी, भारत को अपना पहला पेनल्टी कार्नर 20 वे मिनट में मिला जब आकाशदीप और सिमरनजीत सिंह के लगातर एक के बाद एक हमले की वजह पाकोन्वेस्की झुझते नज़र आये और भारत को पेनल्टी कार्नर दे बैठे। हरमनप्रीत सिंह के नीची हाइट की फ्लिक को पोलैंड के रशर ने आसानी से रोक दिया।

इसके एक मिनट बाद ही हरमनप्रीत ने टीम का दूसरा पेनल्टी कार्नर जीता और इस बार अमित रोहिदास ने ड्रैग फ्लिक ली जिसे पाकोन्वेस्की ने रोक तो लिया लेकिन रिबाउंड पर कप्तान मनप्रीत सिंह ने भारत का खता खोला। 23 वे मिनट में भारत को एक और पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन इस बार हरमनप्रीत के पास पर वरुण कुमार का वेरिएशन शॉट गोल पोस्ट से ऊपर चला गया। 26 वे मिनट में पोलैंड ने गोल करके मैच बराबरी पे ला दिया, भारत के विफल डिफेंस ने डोमनिक कोटलस्की को बहुत ही ज़्यादा स्पेस देते हुए उन्हें क्रॉस करने का मौका दिया, कोटलस्की ने बिना गलती किये एक शानदार क्रॉस किया जिसे हार्दिक सिंह ट्रैप न कर सके और बॉल उनकी स्टिक को छूते हुए सीधे मैथ्यूस हॉलबॉय के पास गयी जिसे उन्हें सीधे गोल में तब्दील कर दिया। इसके एक मिनट बाद ही आकाशदीप सिंह, मनप्रीत सिंह और सिमरनजीत सिंह ने अच्छा मूव बनाया और सिमरनजीत के पास पर मनप्रीत ने मैच का दूसरा गोल किया और भारत को फिर से बढ़त दिल दी। हाफ टाइम तक स्कोर भारत के ही पक्ष में रहा। मनप्रीत सिंह तीसरे क्वार्टर की शुरुआत भी पहले दो कॉर्टर जैसी ही रही, जहा पोलैंड बराबरी का मौका ढूंढ रही थी वही भारत अपने अगले गोल की तलाश में थी। कृशन पाठक कि जगह श्रीजेश दोबारा पोस्ट में आये, 36 वे मिनट में मनदीप सिंह ने टीम के लिए एक और पेनल्टी कार्नर जीता और हरमनप्रीत ने सीधी ड्रैग फ्लिक से अपना पहला गोल किया। 40 वे मिनट में भारत ने फिर से पेनल्टी कार्नर जीता लेकिन वरुण कुमार की फ्लिक को पोलिश गोलकीपर ने आसानी से रोक लिया। भारत की डिफेंस लाइन ने पोलैंड को भारत के गोल पोस्ट आस पास आने तक नहीं दिया, हरमनप्रीत और बीरेंद्र लकड़ा ने कई मौके भी बनाये लेकिन क्वार्टर के ख़त्म होने तक और कोई गोल न हुआ।

अंतिम क्वार्टर में पोलैंड की शैली में थोड़ा अंतर दिखा, 47 वे मिनट में वरुण कुमार के ख़राब ब्लॉक की वजह से मेसियेज जानिवेस्की को एक अच्छा मौका मिला और उनका सीधा शॉट कृशन पाठक ने रोक लिया। पुरे क्वार्टर में दोनों ही टीमें कोई भी गोल करने में असफल रही और भारत ने मैच 3-1 से अपने नाम कर लिया। अपना 251 वा अंतराष्ट्रीय मैच खेल रहे कप्तान मनप्रीत सिंह को बेहतरीन खेल के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। मैच के बाद उन्होंने कहा कि "मैं खुश था जब मैंने दूसरा गोल किया क्योंकि हम 1-1 से बराबरी पर थे। उसके बाद, मैंने अपनी टीम से बात की और कहा कि हमें अपना स्तर बढ़ाने की जरूरत है और हमने वही किया।" इस जीत के साथ अपने ग्रुप में भारत 2 जीत के साथ 6 अंक लेकर शीर्ष पर बना हुआ है। भारत 10 जून को अंतिम ग्रुप मैच में उज्बेकिस्तान से भिड़ेगा।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it