Begin typing your search above and press return to search.

हॉकी

हॉकी : मनदीप सिंह की हैट्रिक के साथ भारत अज़लान शाह के फाइनल में

हॉकी : मनदीप सिंह की हैट्रिक के साथ भारत अज़लान शाह के फाइनल में
X
By

Anshul Chavhan

Updated: 2022-04-25T02:04:35+05:30

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने सुल्तान अज़लान शाह हॉकी कप 2019 के अपने चौथे मैच में कनाडा को 7-3 से हराते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है। इस जीत में मुख्य योगदान फॉरवर्ड मनदीप सिंह की हैट्रिक का रहा। मैच के पहले क्वार्टर से ही भारत ने कनाडा की रक्षा पंक्ति पे धावा बोलना शुरू कर दिया, सुमित कुमार और सिमरनजीत सिंह ने कई मौके बनाने की कोशिश भी की। 12वे मिनट में भारत को अपना पहला पेनल्टी कार्नर मिला और वरुण कुमार बिना कोई गलती किये गोल करते हुए भारत को बढ़त दिला दी। इसके बाद पहले क्वार्टर में कोई गोल नहीं हुआ।

दूसरे क्वार्टर के शुरू होते ही भारत ने अपनी एशियाई स्टाइल की काउंटर अटैक शैली को बरक़रार रखा। 20वे मिनट में सुमित कुमार जूनियर ने एक अच्छा मौका ढूंढ़ते हुए मनदीप सिंह को बॉल पास की और मनदीप ने बॉल को आसानी से गोल में डालकर भारत को 2-0 से बढ़त दिला दी। इसके तुरंत बाद ही सुरेंदर कुमार ने भारत के लिए दूसरा पेनल्टी कार्नर हासिल किया लेकिन कैनेडियन गोलकीपर ने चौकन्ना रहते हुए अमित रोहिदास की फ्लिक को रोक लिया, इस पेनल्टी कार्नर के ऊपर ही भारत को 2 और पेनल्टी कार्नर मिले, लेकिन कोई भी खिलाडी उन्हें गोल में कन्वर्ट नहीं कर पाया। मैच के 26वे मिनट में कनाडा को अपना पहला पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन ड्रैग फ्लिकर गॉर्डन जोह्नस्टोन की फ्लिक गोल पोस्ट से बहुत दूर चली गयी।

27वे मिनट में मनदीप सिंह ने कोथाजीत सिंह के पास पर डायरेक्ट हिट लगाकर मैच में अपना दूसरा गोल किया और भारत के पास 3-0 की बढ़त हो गयी । 29वे मिनट में सुरेंदर सिंह के सर्किल के बाहर से दिए पास पर मनदीप ने अपनी हैट्रिक पूरी की और भारत के पास 4-0 की एक मज़बूत बढ़त हो गयी। हाफ टाइम का हूटर बजने तक यही स्कोर रहा। तीसरे क्वार्टर में भारत ने थोड़ा रक्षात्मक खेल दिखाना शुरू किया और 35वे मिनट में कनाडा ने अपना दूसरा पेनल्टी कार्नर अर्जित किया, इस बार मार्क पियरसन ने बिना कोई गलती किये कनाडा के लिए पहला गोल किया। 39वे मिनट में भारत को अपना 6ठा पेनल्टी कार्नर मिला और इस बार अमित रोहिदास को सफलता मिली, भारत के पास अजेय 5-1 की बढ़त थी। इसके बाद तीसरे क्वार्टर में और कोई गोल देखने को नहीं मिला।

चौथे क्वार्टर में कनाडा मैच में बराबरी करने के इरादे से उतरी और 50वे मिनट में फिन बूथरोयड ने भारतीय रक्षापंक्ति की गलती का फायदा उठाते हुए कनाडा के लिए दूसरा गोल कर दिया। इसके बाद ने भारत ने दोबारा कनाडा की रक्षपंक्ति पे हमले करने शुरू किये और 55वे मिनट में वरुण कुमार के ने एक लॉन्ग एरियल क्रॉस सर्किल के अंदर मनदीप सिंह को दिया, मनदीप ने मिडफील्डर विवेक सागर प्रसाद को खाली देखते हुए बॉल पास की तथा विवेक ने मैच का स्कोर 6-2 कर दिया। समय कम रहते हुए भी कनाडा ने मैच में बराबरी करने की कोशिश की और 57वे मिनट में जेम्स वेलास ने कनाडा का तीसरा गोल किया। नीलकांता शर्मा ने इसके तुरंत बाद 58वे मिनट में फील्ड गोल करते हुए मैच को 7-3 से भारत के पक्ष में कर दिया।

59वे मिनट में सुमित कुमार जूनियर को मैच रेफ़री ने पीला कार्ड दिखाया और उन्हें 5 मिनट के लिए फील्ड से बाहर कर दिया लेकिन कनाडा इसका कोई फायदा नहीं उठा पायी और भारत ने मैच को 7-3 के स्कोर के साथ जीत लिया। इस जीत के साथ भारत ने फाइनल में अपनी जगह सुनिश्चित कर ली है जहा उनका सामना दक्षिण कोरिया से होगा जिन्होंने अपने चौथे मैच में मेज़बान मलेशिया को 2-1 से हराया, वही खेले गए एक और अन्य मैच में जापान ने पोलैंड को 3-0 से हराया। भारत अभी अंक तालिका में 3 जीत और 1 ड्रा के साथ 10 अंक लेकर शीर्ष पे बना हुआ है। भारत अपना अंतिम ग्रुप मैच पोलैंड के खिलाफ 29 मार्च को खेलेगा। भारत और दक्षिण कोरिया के मध्य फाइनल मैच शनिवार 30 मार्च को खेला जायेगा। इससे पूर्व दोनों टीमें 2010 के संस्करण में फाइनल में आमने-सामने आयी थी, तब भारी बारिश की वजह से मैच नहीं हो सका और दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया गया था।

Next Story
Share it