बुधवार, सितम्बर 30, 2020
होम ताज़ा ख़बर टोक्यो ओलंपिक फाइनल में भिड़े भारत और आस्ट्रेलिया की टीमें: चार्ल्सवर्थ

टोक्यो ओलंपिक फाइनल में भिड़े भारत और आस्ट्रेलिया की टीमें: चार्ल्सवर्थ

भारतीय हाकी टीम के खेल में पिछले एक दशक में हुए सुधारों से प्रभावित दिग्गज खिलाड़ी रिक चार्ल्सवर्थ ने कहा कि तोक्यो ओलंपिक के फाइनल में भारत और आस्ट्रेलिया की टीमों का मुकाबला हो सकता है। भारतीय हाकी के साथ पूर्व में काम कर चुके चार्ल्सवर्थ का मानना है कि आठ बार के ओलंपिक चैंपियन ने पिछले एक दशक में काफी सुधार किया है जो उन्हें तोक्यो ओलंपिक में पदक का दावेदार बनाता है।

भारतीय टीम फिलहाल विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर है। आस्ट्रेलिया के इस पूर्व खिलाड़ी ने हाकी इंडिया के तीसरे वर्षिक पुरस्कार समारोह के इतर यहां पीटीआई से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों के पास ऐसी टीमें हैं जो पदक जीत सकती हैं। ओलंपिक बहुत अप्रत्याशित होता है इसलिए हमें उसका इंतजार करना होगा।’’ खिलाड़ी और कोच के तौर पर विश्व कप का खिताब जीतने वाले चार्ल्सवर्थ ने कहा, ‘‘ मैं भारत और आस्ट्रेलिया के बीच ओलंपिक में हाकी का फाइनल देखना पसंद करुंगा। यह सर्वश्रेष्ठ फाइनल होगा।’’ हाकी इंडिया लीग (एचआईएल) की सराहना करते हुए 68 साल के इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा फ्रेंचाइजी आधारित लीग को जल्दी से फिर से शुरू करने की जरूरत है।

पांच सत्र तक सफल मेजबानी के बाद एचआईएल को 2018 में फ्रेंचाइजियों की निराशा और वित्तीय चिंताओं जैसी कई वजहों से रोक दिया गया था। चार्ल्सवर्थ ने कहा, ‘‘ मैंने 10 साल पहले ही कहा था कि आपको वास्तव में प्रतिस्पर्धी होने में 10 साल का समय लगेगा। मुझे लगता है कि हाकी इंडिया ने इसमें अच्छी भूमिका निभाई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है एचआईएल को फिर से शुरू किये जाने की जरूरत है ताकि भारतीय हाकी विश्व हाकी में टक्कर देता रहे।’’ चार्ल्सवर्थ का मानना ​​है कि विश्व हाकी की प्रतिस्पर्धा को देखते हुए भारत थोड़ा भी लचर रूख अख्तियार नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा, ‘‘ भारत को लगातार मेहनत करते रहने की जरूरत है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय हाकी बहुत प्रतिस्पर्धी है। आस्ट्रेलिया और भारत में क्रिकेट के कारण हमारा ध्यान भटक जाता है क्योंकि दोनों देश क्रिकेट में बहुत अच्छे हैं लेकिन क्रिकेट कुछ ही देशों तक सीमित है।’’ चार्ल्सवर्थ ने भारतीय कोच ग्राहम रीड की तरीफ करते हुए कहा कि इस आस्ट्रेलियाई ने पिछले साल अप्रैल में टीम की कमान संभालने के बाद से भारत के खेल में काफी सुधार किया है। उन्होंने कहा, ‘‘वह (रीड) एक अच्छा कोच है। जब मैं एक युवा खिलाड़ी था तब हमारे सभी कोच उपमहाद्वीप के थे। हमने यहां से अपनी हाकी सीखी। भारतीय टीमों के साथ आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का काम करना समझदारी भरा फैसला है।’