Begin typing your search above and press return to search.

हैंडबॉल

भारत में जल्द शुरू हो सकती है एक और स्पोर्ट्स लीग, कई राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय खिलाड़ी दिखाएंगे अपना जलवा

भारत में अगला हैंडबॉल गंतव्य बनने की काफी संभावनाएं हैं और यह लीग उस दिशा में एक ठोस कदम है।

Premier Handball League
X

प्रीमियर हैंडबॉल लीग

By

Amit Rajput

Updated: 2022-04-22T18:53:59+05:30

जब से भारत में क्रिकेट की इंडियन प्रीमियर लीग शुरू हुई ,तब से इस लीग की सफलता के बाद देश में कई और खेलों की लीग भी शुरू हो चुकी है ,जिसमे कबड्डी, फुटबॉल, हॉकी जैसे बड़े खेलों की लीग भी शामिल है, अब इस सूची में जल्द ही एक और खेल की लीग का नाम जुड़ने वाला है, यह हैंडबॉल की प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) होने वाली है। जिसके लिए अभी से कवायद शुरू हो गयी है। हाल ही में इस लीग के लिए एशियाई हैंडबॉल महासंघ (एएचएफ) ने शीर्ष एशियाई खिलाड़ियों, अधिकारियों और अन्य विशेषज्ञों को प्रवेश देने का भी समर्थन दिया है।

एएचएफ और पीएचएल की हुई बैठक

लीग के संबंध में तेहरान में एशियाई हैंडबॉल महासंघ (एएचएफ) और प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) की बैठक आयोजित हुई थी, जहां भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व हैंडबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के कार्यकारी निर्देशक आनंदेश्वर पांडे ने किया, उनके साथ ब्लूस्पोर्ट एंटरटेनमेंट के सीईओ मनु अग्रवाल और ब्लूस्पोर्ट एंटरटेनमेंट के निर्देशक असीम मर्चेंट भी थे।

जहां एशियाई हैंडबॉल महासंघ (एएचएफ) ने कहा कि हैंडबॉल की लीग का हमने हमेशा समर्थन किया है ,साथ ही इसके सफल संचालन के लिए हर संभव तरीके से एएचएफ इसका समर्थन करेगा। हम भारत में हैंडबॉल को लोकप्रिय बनाने के लिए पीएचएल के दृष्टिकोण और प्रतिबद्धता को जानकर प्रसन्न हैं। भारत में अगला हैंडबॉल गंतव्य बनने की काफी संभावनाएं हैं और हमारा मानना ​​है कि यह लीग उस दिशा में एक ठोस कदम है।

एएचएफ भी लीग के समर्थन में

आगे उन्होंने कहा ''हमें एशियाई देशों को लीग में भाग लेने के लिए खिलाड़ियों, रेफरी के साथ-साथ अन्य विशेषज्ञ और उत्कृष्टता एक्सचेंजों को भेजने की सुविधा प्रदान करने में काफी खुशी होगी। यह हैंडबॉल के प्रचार को बढ़ावा देगा साथ ही प्रतियोगिताओं के स्तर को बढ़ाने में भी मदद करेगा।" वही एएचएफ के कार्यकारी निर्देशक अहमद अबू अल-लैल और महासचिव मुहम्मद शफीक ने एक बयान में कहा कि एएचएफ के सदस्य के रूप में 44 देश हैं, जो पीएचल के पहले संस्करण में शीर्ष एशियाई खिलाड़ियों की विशेषज्ञता और भागीदारी प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

वही एचएफआई के आनंदेश्वर पांडे ने कहा, "हमारी लड़कियां न केवल मौजूदा एशियाई चैंपियन हैं बल्कि पहली बार जूनियर विश्व चैंपियनशिप के लिए भी क्वालीफाई कर चुकी हैं। यह भारतीय हैंडबॉल के लिए एक बहुत बड़ा मील का पत्थर है और एचएफआई की ओर से, मैं एएचएफ को भारतीय हैंडबॉल को बढ़ने और विकसित करने में मदद करने की उनकी प्रतिबद्धता के लिए धन्यवाद देता हूँ। भारत में अपार प्रतिभा है और हम उस प्रतिभा को चैंपियन में बदलने और पोषित करने पर काम कर रहे हैं और पीएचएल के साथ-साथ एएचएफ समर्थन खेल के लिए सही कदम है।''

Next Story
Share it