Begin typing your search above and press return to search.

जिमनास्टिक्स

जिमनास्ट अरूणा रेड्डी के मामले में साई ने गठित की कमेटी, कमेटी अगले सप्ताह में सौंपेगी रिपोर्ट

अरूणा रेड्डी ने कहा था कि उनके कोच ने बिना उनकी जानकारी के फिटनेस टेस्ट की वीडियोग्राफी की थी

Aruna Reddy Budda Gymnastics
X

अरुणा रेड्डी

By

Amit Rajput

Updated: 2022-05-27T21:58:37+05:30

हाल ही में भारत की दिग्गज जिमनास्ट अरुणा बुद्ध रेड्डी ने भारतीय खेल प्राधिकरण के कोच रोहित जायसवाल पर संगीन आरोप लगाए थे। जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके कोच ने बिना उनकी जानकारी के फिटनेस टेस्ट की वीडियोग्राफी की थी। यह टेस्ट 24 मार्च को किया गया था। इस टेस्ट के कारण अरूणा आगामी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले पायी थी। अब साई ने इस आरोप को संज्ञान में लेते हुए आरोप की जांच के लिए कमेटी गठित की है।

इन आरोपों की जांच के लिए शुक्रवार को कार्यकारी निदेशक (टीम) राधिका श्रीमन की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच समिति का गठन किया। जांच समिति में राधिका के अलावा कोच कमलेश तिवाना और उप निदेशक (संचालन) कैलाश मीणा भी शामिल हैं। वहीं आपको बता दें कि भारतीय जिम्नास्टिक महासंघ (जीएफआई) ने कोच जायसवाल को क्लीन चिट दे दी थी। जिसके बाद भारत की इस अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी ने जीएफआई के खिलाफ कानूनी कदम उठाने की धमकी दी। जिसके बाद साइ ने मामले की जांच की जिम्मेदारी उठायी। अब जांच में समिति दोनों पक्षों के बयान दर्ज करेगी और अगले सप्ताह तक अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

कोच और खिलाड़ी हुए आमने - सामने

मेलबर्न में विश्व चैंपियनशिप (2018) में महिला वॉल्ट स्पर्धा में कांस्य पदक विजेता अरुणा ने आरोप लगाया कि यह 31 मार्च से 4 अप्रैल तक होने वाले बाकू विश्व कप से पहले फिटनेस जांच के दौरान यह घटना घटी। वहीं घटना को लेकर साइ के अधिकारी ने कहा कि इस तरह की घटना के प्रति संगठन की शून्य सहिष्णुता नीति है। अधिकारी ने कहा, एक संगठन के रूप में, हम इस तरह की घटना के प्रति शून्य सहिष्णुता रखते हैं और आरोपी के दोषी साबित होने पर ऐसी कार्रवाई करेंगे जो आगे के लिए उदाहरण बन सके। साइ ने कहा कि यह परीक्षण जीएफआई द्वारा गठित एक समिति की उपस्थिति में किया गया था।

Next Story
Share it