Begin typing your search above and press return to search.

फुटबॉल

सुनील छेत्री बोले- 'फॉर्म के शिखर' पर हूं, घरेलू मैदान पर एशियन कप खेलना होगा शानदार

कप्तान ने अपने बारे में यह भी बताया कि इस वक्त वह 37 साल की उम्र में है और यह उनके 'फॉर्म का शिखर' हैं।

Sunil Chhetri football
X

सुनील छेत्री

By

Shivam Mishra

Updated: 2022-06-16T13:45:25+05:30

भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने एएफसी एशिया कप को लेकर बड़ी बात कही है, छेत्री ने अगले साल होने वाले एएफसी एशिया कप को अपने घरेलू मैदान पर खेलने के इच्छा जताई है, साथ ही कप्तान ने अपने बारे में यह भी बताया कि इस वक्त वह 37 साल की उम्र में है और यह उनके 'फॉर्म का शिखर' हैं।

मंगलावार को भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम ने सॉल्ट लेक स्टेडियम में हांगकांग के खिलाफ खेले गए मुकाबले में 4-0 से जीत दर्ज कर 2023 एएफसी एशियन कप फाइनल्स के लिए क्वालिफाई कर लिया, इस मैच में सॉल्ट लेक स्टेडियम दर्शकों से भरा हुआ था।

क्वालिफाइंग मैच में दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम को देखकर भारतीय कप्तान प्रभावित होकर भारत में फाइनल्स खेलने की इच्छा जताई।

आपको यह भी बता दें की भारत ने इतिहास में पहली बार लगातार दूसरी बार एशियाई कप क्वालिफाई किया है। उन्होंने कहा, 'हम जिस तरह की फॉर्म में हैं, हम घरेलू मैदान पर खेलना पसंद करेंगे। जिस तरह से दर्शक मैच देखने आ रहे हैं और हमारा समर्थन कर रहे हैं, उसे देखते हुए यहां खेलना शानदार होगा।'

अगले साल होने वाला एशियन कप फाइनल्स चीन में होना था, लेकिन बढ़ते कोविड-19 के केस और लॉकडाउन के हालात को देखते हुए चीन मेजबानी से हटने का फैसला कर लिया था। भारत ने एशियाई कप के तीसरे दौर के क्वालीफायर में कंबोडिया और अफगानिस्तान पर जीत के बाद ग्रुप डी में हांगकांग पर शानदार जीत दर्ज कर ली। सभी मैच सॉल्ट लेक स्टेडियम में खेले गए, जहां भारतीय टीम दो साल बाद मैच खेल रही थी।

सुनील छेत्री ने 3 मैच का अभियान खत्म होने के बाद राष्ट्रीय टीम में उभरते हुए युवाओं की तारीफ करते हुए कहा, 'बच्चे शानदार हैं, वे बच्चे कहने के लिए शायद मुझे (हंसते हुए) मार ही डालेंगे, लड़के शानदार हैं। हमारे ड्रेसिंग रूम में सीनियर और जूनियर खिलाड़ियों का सही संयोजन है।'

छेत्री ने कहा, 'टीम में लिस्टन कोलासो और सुरेश वांगजाम के साथ आकाश मिश्रा और रोशन सिंह शानदार हैं।' उन्होंने कहा, 'हां, काफी युवा खिलाड़ी आ रहे हैं और ईशान पंडिता ट्रेनिंग में शानदार हैं और आज उनका प्रदर्शन आपने देखा। ईशान ओर सहल (अब्दुल समद) दो खिलाड़ी हैं जो इस तरह के प्रदर्शन के हकदार हैं।'

सुनील छेत्री ने इस मैच में दूसरा गोल दागा था जबकि अनवर अली, मनवीर सिंह और इशान पंडिता ने भी स्कोरशीट में अपने नाम लिखवाये। छेत्री 2011 और 2019 के बाद अपने तीसरे एशियाई कप टूर्नामेंट के फाइनल्स में खेलने को तैयार हैं।

आपको बता दें 37 वर्ष के छेत्री को लगता है कि वह अपनी फॉर्म के शिखर पर हैं।

उन्होंने आगे कहा, 'अब मैं फॉर्म के शिखर पर पहुंच रहा हूं। पिछला एशियाई कप बीत चुका है। हम कड़ी मेहनत करना चाहते हैं। यह मायने नहीं रखता कि अगले बड़े टूर्नामेंट में मैं खेलूंगा या किसी और को मौका मिलेगा लेकिन भारत को एशियाई कप में होना चाहिए। मैं पहले ही यह कह चुका हूं।'

कप्तान ने कहा, 'बतौर देश यह हमारे लिए काफी जरूरी है कि हम एशियाई कप में बने रहें ताकि हम भारत में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के साथ कंधे से कंधा लड़ाते रहे जो अकसर नहीं होता है। इससे हमें टूर्नामेंट की तैयारियों के लिये बेहतर रैंकिंग पर काबिज प्रतिद्वंद्वियों से मैत्री मैच खेलने के मौके मिलेंगे।

Next Story
Share it