Begin typing your search above and press return to search.

फुटबॉल

फुटबॉल खिलाड़ी की ऐसी दशा कि पेट पालने के लिए करनी पड़ती है फूड डिलीवरी एजेंट की नौकरी

पॉलमी ने 2016 में स्कॉटलैंड में हुए होमलेस विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

फुटबॉल खिलाड़ी की ऐसी दशा कि पेट पालने के लिए करनी पड़ती है फूड डिलीवरी एजेंट की नौकरी
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2023-01-12T17:23:09+05:30

सोशल मीडिया पर एक फुटबॉल खिलाड़ी का वीडियो जमकर वायरल हैं। जिन्हें रोजी रोटी के लिए फूड डिलीवरी एजेंट बनने पर मजबूर होना पड़ा। यह दशा भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली फुटबॉल खिलाड़ी पॉलमी अधिकारी की हैं। देश के लिए फुटबॉल खेलने वाली पॉलमी अपना घर चलाने के लिए फूड डिलीवरी का काम करती हैं।

पॉलमी की घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। पॉलमी की मां का बचपन में ही निधन हो गया था, जिसके बाद उनका पालना पोषण उनके चाचा और चाची ने किया। पॉलमी के पिता एक ड्राइवर है, उनकी इतनी कमाई नहीं है कि हर का गुजारा सही से हो जाए और यही वजह है कि पॉलमी को फूड डिलीवरी एजेंट का काम करना पड़ता हैं।

फुटबॉल छोड़कर फूड डिलीवरी का काम करने के पीछे पॉलमी की इंजरी भी एक कारण हैं। हालाकि वह अभी भी फुटबॉल खेलती हैं। 12 घंटे की नौकरी करने के बाद पॉलमी 2 घंटे अपनी प्रैक्टिस को देती हैं। उनकी लगन और मेहनत यह साबित करती है की हमें अपने सपने को कभी छोड़ना नहीं चाहिए।

बता दें पॉलमी ने 2016 में स्कॉटलैंड में हुए होमलेस विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। फिलहाल पॉलमी की उम्र 24 साल है, उनके पास आगे खेलने का अभी भी मौका हैं।

Next Story
Share it