Begin typing your search above and press return to search.

फुटबॉल

फीफा द्वारा भारतीय फुटबॉल महासंघ पर लगाए गए निलंबन से भारतीय फुटबॉल पर क्या होगा असर, जानिए पूरी बात

भारत पर प्रतिबंध का मतलब है कि अक्टूबर में होने वाले अंडर 17 महिला विश्व कप की मेजबानी छीन जायेगी, किसी इंटरनेशनल टूर्नामेंट में हम नहीं खेल पाएंगे।

फीफा द्वारा भारतीय फुटबॉल महासंघ पर लगाए गए निलंबन से भारतीय फुटबॉल पर क्या होगा असर, जानिए पूरी बात
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-08-16T14:32:46+05:30

फीफा ने भारतीय फुटबॉल महासंघ को निलंबित कर दिया हैं। यह निलंबन भारतीय फुटबॉल महासंघ के द्वारा नियमों के उल्लघंन और तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप के कारण लगाया गया हैं। फीफा के द्वारा लगाए गए इस निलंबन से भारतीय फुटबॉल को बड़ा झटका लगा हैं।

भारत पर प्रतिबंध का मतलब है कि अक्टूबर में होने वाले अंडर 17 महिला विश्व कप की मेजबानी छीन जायेगी, किसी इंटरनेशनल टूर्नामेंट में हम नहीं खेल पाएंगे, कोई विदेशी खिलाड़ी आईएसएल जैसे घरेलू टूर्नामेंट में खेलने अपने देश नहीं आ पाएगा। हालांकि 28 अगस्त को चुनाव होने हैं, जिसमें आगे के फैसले लिए जायेंगे।

फीफा के निलंबन से भारतीय फुटबॉल पर क्या होगा असर-


सबसे पहला प्रभाव अंडर 17 महिला विश्व कप की मेजबानी पर पड़ेगा। इसी साल अक्टूबर में भारत को फुटबॉल में अंडर-17 महिला विश्व कप की मेजबानी करनी थी, अब वह खतरे में पड़ चुकी हैं।

केवल भारत के हाथ से अंडर-17 वर्ल्ड कप की मेजबानी ही नहीं गई है बल्कि इसके अलावा जब तक यह निलंबन रहेगा भारत की पुरुष और महिला टीम किसी भी अंतर्राष्ट्रीय मैच में भाग नहीं ले पाएंगे।

इस निलंबन के प्रभाव से भारतीय फुटबॉल क्लब एफसी वुमेन क्लब चैंपियनशिप (AFC Women Club Championship, एफसी कप(AFC Cup) और एएफसी चैंपियनशिप(AFC Champions League) जैसे प्रतियोगिता में भी भाग नहीं ले सकेंगे।

इतना ही नहीं कोई विदेशी खिलाड़ी इंडियन सुपर लीग ISL जैसे घरेलू टूर्नामेंट में खेलने भारत नहीं आ पाएगा।

हालाकि इस महीने की शुरुआत में, भारतीय अदालत ने तुरंत चुनाव कराने का आदेश दिया और कहा कि निर्वाचित समिति तीन महीने की अवधि के लिए एक अंतरिम निकाय होगी। जिसके चलते AIFF को जल्द इस निलंबन से छुटकारा भी मिल सकता है।

बता दें बता दें कि एआईएफएफ के चुनाव, पूर्व में फीफा परिषद के सदस्य प्रफुल्ल पटेल के नेतृत्व में, दिसंबर 2020 तक होने थे, लेकिन इसके संविधान में संशोधन पर गतिरोध के कारण इसमें देरी हुई जिसके परिणाम स्वरूप भारतीय फुटबॉल संघ को निलंबन झेलना पड़ा।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it