Begin typing your search above and press return to search.

फुटबॉल

भारतीय फुटबॉल टीम एएफसी एशियन कप में जीत की हैट्रिक के साथ क्वालीफाई करना चाहेगी

भारतीय टीम ने पहले क्वालीफायर में कंबोडिया को 2-0 और दूसरे में अफगानिस्तान को 2-1 गोल से हराया था

Indian Football Team afc asian cup
X

भारतीय फुटबॉल टीम 

By

Shivam Mishra

Updated: 2022-06-14T15:50:41+05:30

मंगलवार को भारतीय फुटबॉल टीम कोलकाता के विवेकानंद युवाभारती क्रीड़ांगन में एएफसी एशियन कप का अपना तीसरा व आखरी क्वालीफायर मैच खेलने उतर रही है, जिसमें वह जीत की हैट्रिक लगाकर टूर्नामेंट के मेन राउंड में कदम रखना चाहेगी । भारतीय टीम ने पहले क्वालीफायर में कंबोडिया को 2-0 और दूसरे में अफगानिस्तान को 2-1 गोल से हराया था। अब टीम का मुक़ाबला हांगकांग से है। हांगकांग भी कंबोडिया को 3-0 और अफगानिस्तान को 2-1 गोल से हरा चुका है। आपको बता दें भारत और हांगकांग के समान अंक हैं पर हांगकांग की टीम ने भारत के मुकाबले ज्यादा गोल दागे है, जिसकी वजह से तालिका में हांगकांग शीर्ष पर है।

आंकड़ों में हांगकांग से आगे है भारत-

भारत का हांगकांग के खिलाफ बेहतरीन रिकार्ड रहा है। दोनों देशों के बीच अब तक कुल 15 मैच खेले गए हैं जिसमें भारत से सात और हांगकांग ने चार मैचों में जीत हासिल की हैं। बाकी चार मैच बेनतीजा रहे हैं। पिछले दो मुकाबलों में लगातार हांगकांग ने भारत को हराया है।

हार के बावजूद क्वालीफायर में पहुंच सकता है भारत-

हांगकांग को यदि भारत हरा देता है तो ग्रुप 'डी' की शीर्ष टीम के तौर पर मेन राउंड के लिए क्वालीफाई हो जायेगा। मैच के ड्रा होने की स्थिति में भारत अपने ग्रुप की दूसरी शीर्ष टीम होगा क्योंकि हांगकांग गोल दागने के मामले में उससे आगे है। उस स्थिति में भी भारत के पास छह ग्रुपों में दूसरे स्थान पर रहने वाली पांच सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक के रूप में क्वालीफाई करने का मौका होगा। ऐसे ही अगर भारत यह मैच हार भी जाता है तो उसके पास मौका होगा बशर्तें उसे पांच सर्वश्रेष्ठ उपविजेता टीमों में से एक बनना होगा।


छेत्री के पास रिकार्ड कायम करने का मौका-

एएफसी एशियन कप में अपने बेहतरीन फॉर्म में चल रहे भारतीय कप्तान सुनील छेत्री के फैंस की निगाहें उनके इस मैच पर ख़ासकर रहने वाली है, छेत्री पिछले दो मैचों में तीन गोल कर चुके हैं और उनके पास इस मुकाबले में दो-दो रिकार्ड कायम करने का मौका है, वह यदि इस मैच में एक गोल करते हैं तो हंगरी के महान फुटबालर फेंरेंक पुसकस के रिकार्ड की बराबररी कर सकते हैं ।

पुसकस ने अंतरराष्ट्रीय मैचों में 84 गोल दागे हैं जबकि छेत्री अभी तक 83 गोल किए हैं। वे फिलहाल दुनिया के महान फुटबालरों में शुमार अर्जेंटीना लियोन मेसी (86 अंतरराष्ट्रीय गोल) से तीन गोल पीछे हैं। वैसे तो एक मैच में हैट्रिक गोल दागना आसान नहीं होता है, लेकिन अगर बात सुनील छेत्री की करें तो वह इससे पहले भी वह यह कारनामा दो बार कर चुके हैं इसलिए भारतीय फुटबॉल प्रेमी यही चाहेंगे कि छेत्री इस मैच में गोल की हैट्रिक लगाए और मेसी के गोल की बराबरी कर उनका रिकार्ड तोड दें।

Next Story
Share it