बुधवार, जनवरी 27, 2021
होम ताज़ा ख़बर EXCLUSIVE: भारतीय फ़ुटबॉल में सुनील छेत्री के बाद कौन ? - बाइचुंग...

EXCLUSIVE: भारतीय फ़ुटबॉल में सुनील छेत्री के बाद कौन ? – बाइचुंग भूटिया

भारत में फुटबॉल की दिवानगी लोगों में लगातार बढ़ती जा रही है। कुछ वर्षों तक फ़ुटबॉल ज़्यादातर लोगों की पसंद नहीं था। लेकिन वक्त के साथ फ़ुटबॉल ने भारत में अपनी जगह बनानी शुरू कर दी है। लोग फ़ुटबॉल के बारे में अब ज़्यादा समझने लगे हैं। वक्त के साथ अब भारत में फ़ुटबॉल खिलाड़ियों के फै़ंस भी हर तरफ़ दिखाई देने लगे हैं। वहीं दूसरी तरफ़ भारतीय फ़ुटबॉल टीम नें भी अपने प्रदर्शन से सबको अपना मुरीद बना दिया है। अगर बात पिछले कुछ समय की करें तो हाल ही में वर्ल्ड कप क्वालिफ़ायर्स मुक़ाबले में भारतीय टीम ने जिस तरह से क़तर के ख़िलाफ़ मुकाबला ड्रॉ किया था। वह अपने आप में क़ाबिल-ए-तारीफ़ है। भारतीय टीम ने इस मैच में 0-0 से मुकाबला ड्रॉ किया था। फ़ुटबॉल जगत में भारतीय टीम क़तर के मुकाबले कमज़ोर मानी जाती है। क़तर फ़ुटबॉल की दुनिया में एक शानदार टीम है, जिसके सामने मुक़ाबला ड्रॉ कर पाना भारतीय टीम के लिए एक बड़ी उपलब्धि की तरह है।

जानिए कैसे भारतीय फ़ुटबॉल टीम ने क़तर के ख़िलाफ़ रचा था इतिहास

जाहिर है क़तर के खिलाफ मुक़ाबले से पहले भारतीय टीम को ओमान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। जिसके बाद कतर के खिलाफ फिट नहीं हो पाने के कारण सुनील छेत्री भी नहीं खेल रहे थे। जिसे देखते हुए मुकाबला और ज्यादा कड़ा हो सकता था। लेकिन भारतीय टीम ने इस मैच में बेहद शानदार खेल दिखाया और मुकाबला ड्रॉ पर खत्म किया। द ब्रिज हिन्दी ने इस मैच को लेकर पूर्व भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी, पद्मश्री और अर्जुन पुरस्कार विजेता बाइचुंग भूटिया से खास बातचीत की जिसमें उन्होंने कहा कि “एशियन क्वालीफायर्स में भारत ने कतर के खिलाफ जिस तरह से खेला वो काबिल-ए-तारीफ है। हम ये मुकाबला जीत सकते थे अगर सुनील छेत्री यहां पर मौजूद रहते। लेकिन छेत्री के बाद आगे कौन? उदांता सिंह, जेजे लालपेख्लुआ जैसे प्लेयर्स को आगे का मोर्चा संभालने के लिए तैयार होना होगा”।  

जाहिर है सुनील छेत्री इस मैच में नहीं खेले थे। इसके बावजूद टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया। मैच के बाद छेत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि प्रिय भारत, यह मेरी टीम है और ये मेरे लड़के हैं। इस समय मैं कितना गर्व महसूस कर रहा हूं, इसका वर्णन नहीं कर सकता। तालिका के हिसाब से यह एक बड़ा परिणाम नहीं है, लेकिन मुकाबले के संदर्भ में यह बड़ा है। कोचिंग स्टाफ और ड्रेसिंग रूम को इसका बहुत बड़ा श्रेय जाता है”। लेकिन सवाल यह है कि सुनील छेत्री के बिना आगे टीम इंडिया के पास और कौन से खिलाड़ी हैं जो उनकी जगह को भर सकते है। अगर ऐसे खिलाड़ी टीम में मौजूद हैं तो उन्हें समय रहते अच्छे से तराशा जाए।

कतर के खिलाफ मैच के बाद जिस तरह टीम इंडिया के खिलाड़ियों की तारीफ की जा रही है उसके साथ ही टीम के कोच इगोर स्टीमाक की तारीफ भी बनती है। टीम के कोच ने इस मैच के बाद कहा था कि “मै एशियन चैंपियंस से एक अंक लेकर काफी खुश हूं। इस टीम के खिलाड़ी काफी फिट है और इस प्रदर्शन से उन्होंने आगे और ज्यादा उम्मीद बढ़ाई है”। द ब्रिज ने जब बाइचूंग भूटिया से भारतीय कोच के प्रदर्शन के बारे में सवाल किया तो उन्होंने कहा कि “मेरे अनुसार स्टीमाक को समय देना चाहिए। उनके लिए किसी भी तरह के बयान अभी देना सही नहीं होगा। स्टिमाक अनुभवी कोच हैं और उम्मीद रहेगी की वो भारतीय फुटबाल को सही दिशा प्रदान करेंगे”।

साफ है स्टीमाक बेहद अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन अब वक्त आ गया है कि भारतीय प्रशंसकों को भी टीम का हौसला बढ़ाना होगा। क्योंकि भारतीय टीम वर्ल्ड कप क्वालिफायर्स का अगला मुकाबला कोलकाता में बांग्लादेश के खिलाफ 15 अक्टूबर को खेलेगी। इस मैच को लेकर भारतीय टीम के मुख्य कोच इगोर स्टीमाक ने कहा था कि, ”मैं चाहता हूं कि इस मैच में 80000 दर्शक स्टेडियम में रहे। हम चाहते हैं कि वह यहां हमारे समर्थन के लिए आएं। हम इसके काबिल है और उन्हें हमारे समर्थन के लिए आना ही चाहिए”।

EXCLUSIVE: ड्राइवर के बेटे से नवीन एक्सप्रेस बनने की कहानी, ख़ुद नवीन की ज़ुबानी

जाहिर है भारतीय टीम ने कतर के खिलाफ बेहद शानदार प्रदर्शन कर एक अंक अर्जित किया है। लेकिन अगर वह बांग्लादेश और अफगानिस्तान के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं तो यह अंक बेकार जा सकता है। इसलिए पूरा देश उम्मीद कर रहा है कि भारतीय फुटबॉल टीम इस मौके का फायदा उठाएं और दोनों ही टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन कर जीत अर्जित करें।

भारतीय टीम के अलावा द ब्रिज ने बाइचुंग भूटिया से जब इंडियन सुपर लीग और आई लीग को आपस में मिला देने के लिए उठ रहे सवालों के बारे में जानना चाहा तो उन्होंने कहा कि “इन दोनों लीग का मर्ज कर दिया जाए तो इससे बेहतर क्या हो सकता है? ये कब होगा और कैसे होगा इसका बेहतर जवाब भारतीय फुटबाल संघ के अधिकारी दे सकते हैं”।