गुरूवार, अक्टूबर 1, 2020
होम फ़ुटबॉल EXCLUSIVE: हर एक मैच के बाद भारतीय टीम के प्रदर्शन में सुधार...

EXCLUSIVE: हर एक मैच के बाद भारतीय टीम के प्रदर्शन में सुधार आ रहा है- सुनील छेत्री

भारतीय फुटबॉल में अगर किसी का नाम सबसे पहले लिया जाता है तो वह सुनील छेत्री है। छेत्री भारतीय फुटबॉल को हमेशा फ्रंट से लीड करते रहे है। उनके नेतृत्व में टीम ने पिछले कई सालों में कई सफलताएं अर्जित की है जो अपने आप में उनकी कामयाबी का बखान करती है। हाल ही में भारतीय फुटबॉल टीम ने फीफा वर्ल्डकप क्वालीफायर्स के लिए कोलकाता के सॉल्ट लेक स्टेडियम में बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबला खेला था। यह मुकाबला ड्रॉ जरूर रहा था लेकिन इसने पूरे विश्व को बताया कि भारतीय फुटबॉल का भविष्य काफी सुनहरा है। द ब्रिज की टीम ने भारतीय फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री से खास बातचीत की।

द ब्रिज- बांग्लादेश के खिलाफ इंडियन टीम के प्रदर्शन के बारे में आप क्या कहना चाहेंगे?

सुनील छेत्री: इस मुकाबले में हमारी टीम हर जगह जद्दोजहद करती दिखी। हमारे पास साल्टलेक स्टेडियम में काफी मौके मिले थे। जिसे हम भुना सकते थे। हम बांग्लादेश के खिलाफ अतिरिक्त गोल करके उसे रोक सकते थे। लेकिन ऐसा हुआ नहीं और अंत में हमें 1 प्वाइंट के साथ संतोष करना पड़ा। जिसे कोई भी टीम का खिलाड़ी मानने को तैयार नहीं था। इस मुकाबले से हमें बहुत कुछ सीखने को मिला जिसे हमारी भारतीय टीम उपयोग में लाएगी।

India Bangladesh Match

द ब्रिज – आपको नहीं लगता अगर आप कतर के खिलाफ मैच में प्लेइंग-11 में रहते तो टीम का परिणाम कुछ अलग होता?

सुनील छेत्री: आप वास्तव में कुछ नहीं कह सकते। कतर के खिलाफ भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल पर रोका। जो किसी भी लिहाज से कम नहीं है। पूरी टीम ने जिस तरह से एकजुट होकर खेला वो काबिल-ए-तारीफ है। हर एक खिलाड़ी ने अपना सब कुछ ग्राउंड पर झोक दिया था। कोई नहीं कह सकता कि अगर मैं पिच पर रहता तो परिणाम अलग होता ?    

द ब्रिज – आपको कहा लगता है भारतीय टीम को काम करने की जरूरत है?

सुनील छेत्री: हमारी टीम काफी युवा है नए कोच और नए सिस्टम के नजरिए से हमें हर जगह काम करने की जरूरत है। हमें हमेशा आगे के लिए काम करना होगा। 

द ब्रिज – भारतीय टीम को जिस तरह इगोर स्टिमाच प्रशिक्षण दे रहे हैं क्या आप उससे खुश हैं?   

सुनील छेत्री: इगोर स्टिमाच के पास कई सालों का अनुभव है। अगर आप प्रशिक्षण के दौरान अच्छा करते हैं तो वो आपको मैच में खेलने का मौका देंगे। स्टिमाच की अपनी सोच है टीम को आगे बढ़ाने में। 

द ब्रिज – क्या आपको लगता है भारतीय टीम को एक और सुनील छेत्री की जरूरत है?

सुनील छेत्री: इस सवाल का जवाब भारतीय टीम दे सकती है। लेकिन टीम को उदांता ,अनिरूद्द और सहल जैसे खिलाड़ियों की, इस टीम में काफी अनुभव खिलाड़ी हैं जो हर एक मुकाबले के बाद अपने खेल पर निखार ला रहे हैं ।  

द ब्रिज – एशियन चैंपियनशीप लीग के प्लेआफ में आप भारतीय टीम को जगह बनाते हुए देख रहे हैं?

सुनील छेत्री: एशियन फुटबॅाल में अच्छा करना हमारा शुरू से लक्ष्य रहा है। हमने एफसी प्रतियोगिता में 2 बार क्वालीफाइ किया है। पहले हमने मलेशिया के खिलाफ 2-1 से एक्सट्रा टाइम में मुकाबला हारा। वहीं दूसरी बार जोर्डेन के अल वहदित जोर्डेन के खिलाफ भी कुछ ऐसा ही परिणाम रहा। दोनों मुकाबला काफी यादगार रहें इनसे बहुत कुछ सीखने को मिला। एक सीजन में हम नहीं खेल पाए जिसका हमें काफी खेद है।   

ISL 2019 : अंतिम समय की पेनल्टी की मदद से गोवा एफसी ने बेंगलुरु एफसी को ड्रा पर रोका   

द ब्रिज – इंडियन सुपर लीग में कौन सी टीम में सबसे ज्यादा खतरनाक दिख रही है?

सुनील छेत्री: अभी दो राउंड के मुकाबले खत्म हुए हैं और अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। कई टीम काफी अच्छा खेल रही हैं वही कुछ टीमों का प्रदर्शन उम्मीदजनक नहीं रहा। प्लेआफ में खेलने वाली टीम की असली परीक्षा उस समय होगी। 

Bengaluru FC

द ब्रिज – पिछले साल की तरह क्या इस साल भी बेंगलूरू एफसी इंडियन सुपर लीग के खिताब पर कब्जा करेगी ?

सुनील छेत्री: दूसरी बार क्यों नहीं ? हम ऐसा बिल्कुल कर सकते हैं ? इस साल एफसी कप भी  खेलना है। हम एक बार इस प्रतियोगिता के फाइनल में पहुंच चुके हैं और दूसरी बार हम ऐसा नहीं कर पाएं इसके मुझे कोई आसार नहीं दिख रहे हैं।  

द ब्रिज – क्या अभी भी भारतीय टीम की विश्वकप में क्वालीफाई करने के कोई आसार दिख रहे हैं?    

सुनील छेत्री: बांगलादेश के खिलफ जिस तरह का परिणाम रहा वो चीजों को मुश्किल बनाता हुआ दिख रहा है लेकिन हम सिर्फ दिमाग एक समय में एक मैच लेकर चल रहे हैं। हमारी टीम काफी मेहनती है। आगे देखते हैं हमारा सफर कहां समाप्त होता है।