शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
होम ताज़ा ख़बर ओडिशा ऐसे प्रतियोगिता का आयोजन करेगी जिसे दुनिया याद रखेगी- तुषार कांती...

ओडिशा ऐसे प्रतियोगिता का आयोजन करेगी जिसे दुनिया याद रखेगी- तुषार कांती बेहरा

हाल ही में ओडिशा में हॉकी वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ। इसके बाद ओडिशा 2020 में होने वाले फीफा अंडर-17 वूमेंस वर्ल्ड कप का आयोजन करने वाला है।

पिछले कुछ सालों में भारतीय खेल के प्रति ओडिशा का योगदान काफी बढ़ गया है। ओडिशा की मिट्टी से कई खिलाड़ी विश्वस्तर पर शानदार प्रदर्शन करते हुए ना सिर्फ ओडिशा का बल्कि देश का नाम भी रोशन कर रहे है। भारतीय हॉकी हो या फिर कोई और खेल ओडिशा सरकार लगातार अपने मेहनत और प्रयास से हर खेल को सफल बना रही है। हाल ही में ओडिशा में हॉकी वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ। इसके बाद ओडिशा 2020 में होने वाले फीफा अंडर-17 वूमेंस वर्ल्ड कप का आयोजन करने वाला है।

इतिहास में जहां ओडिशा ने भारतीय हॉकी को कई विश्वस्तरीय खिलाड़ी दिए। अब भारत का यह राज्य एथलेटिक्स में देश को कई शानदार खिलाड़ी दे रहा है। द ब्रिज की टीम ने ओडिशा के खेल मंत्री तुषारकांती बेहरा जी से खास बातचीत की। इस बातचीत में उन्होंने ओडिशा के स्पोर्ट्स का पॉवरहाउस बनने की कहानी अपने जुबा से बयां की।

Hockey world cup 2023

द ब्रिज– ओड़िशा भारत का एक नया स्पोर्टस पावरहाउस बनकर उभर रहा है इस बारे में आप क्या कहना चाहेंगे? 

तुषारकांती बेहरा: 2018 हाकी विश्व कप, 2019 ओलंपिक क्वालीफाइर्स का हमने सफलता पूर्वक आयोजन कराया। इससे साफ पता चलता है कि हमारे मुख्यमंत्री नवीन पटनायक किस तरह से भारत में खेल के आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं। 2020 में हम अंडर-17 फीफा वुमेंस विश्वकप के कुछ मुकाबलों का आयोजन करने वाले है। भुवनेश्वर को तो अब देश की स्पोर्टस की राजधानी भी कहा जा रहा है। हमारा मकसद सिर्फ प्रतियोगिता का आयोजन ही नहीं कराना बल्कि शीर्ष स्तर के खिलाड़ियों को भी तैयार करना है जिसके लिए हमने ढांचा तैयार करना शुरू कर दिया है।

Kalinga stadium complex

यह भी पढ़ें: पुरुष हॉकी विश्व कप की मेजबानी एक बार फिर उड़ीसा के हिस्से में आई

द ब्रिज– ओड़िशा में कुछ नए स्टेडियम अथवा सुविधा आने वाले हैं उसके बारे में हमें आप कुछ बताना चाहेंगे?

तुषारकांती बेहरा: अब तक जितने भी अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन हुआ है उसको देखते हुए सभी लोगों का कहना है कि इस राज्य में जिस तरह की सुविधा है वो विश्वस्तरीय है। 2023 विश्वकप का आयोजन भी भारत में होने वाला है। भुवनेश्वर के अलावा राउरकेला में भी हम नए स्टेडियम का निर्माण करने वाले हैं जहां पर अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन हो सके।

द ब्रिज– ओड़िशा से कुछ खेल को छोड़ दिया जाए तो ज्यादा खिलाड़ी निकलकर सामने निकलकर नही पाते हैं उसको लेकर क्या कहना चाहेंगे?

तुषारकांती बेहरा: ये बात तो सही है कि हमारे यहां से ज्यादा अंतराष्ट्रीय खिलाड़ी पिछले कई साल से नहीं आ पा रहे हैं जिसको लेकर हम काम कर रहे हैं। दुती चंद, दिलीप टर्की जैसे और कई खिलाड़ी आपको जल्द भी भारत के लिए खेलते हुए दिखेंगे। आने वाले कुछ सालों में आपको आदिवासी इलाके के कई खिलाड़ी देखने को मिलेंगे।

द ब्रिज– 2032 ओलंपिक का आयोजन अगर भारत में होता है तो क्या ओड़िशा कुछ खेलों की मेजबानी करना चाहेगा?

तुषारकांती बेहरा: भारत के खेल मंत्री किरेन रिजिजु खेलों को बढ़ावा देने के लिए अच्छ काम कर रहे हैं। अगर 2032 में ओलंपिक का आयोजन भारत में होता है जिसके लिए पूरा प्रयास किया जा रहा है तो ओड़िशा ऐसा पहला राज्य होगा जो भारत सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इस प्रतियोगिता का आयोजन ऐसा कराएगा जिसे दुनिया याद रखेगी।