गुरूवार, अक्टूबर 1, 2020
होम विशेष EXCLUSIVE: भारतीय महिला हॉकी टीम की फिटनेस में काफी सुधार हुआ है...

EXCLUSIVE: भारतीय महिला हॉकी टीम की फिटनेस में काफी सुधार हुआ है – रानी रामपाल

भारतीय हॉकी टीम का प्रदर्शन पिछले कुछ दिनों से शानदार रहा है। रानी रामपाल की अगुवाई में भारतीय टीम ने ग्रेट ब्रिटेन के दौरे पर अच्छा प्रदर्शन किया। दोनों देशों के बीच खेली गई सीरीज 1-1 से ड्रॉ पर खत्म हुई। इस दौरे पर कप्तान रानी रामपाल के अलावा नवजोत कौर, गुरजीत कौर का प्रदर्शन भी काफी सराहनीय था। ग्रेट ब्रिटेन भारतीय टीम के मुकाबले मौजूदा दौर में ज्यादा ताकतवर टीम मानी जाती है। जिसे देखते हुए भारतीय टीम का प्रदर्शन काबिल ए तारीफ है। यह टीम दिन प्रति दिन बेहतर प्रदर्शन कर रही है। भारतीय टीम के ग्रेट ब्रिटेन से सीरीज के बाद द ब्रिज की टीम ने महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल से खास बातचीत की। द ब्रिज ने रानी से जानना चाहा कि क्या वह ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ खेली गई सीरीज में अपनी टीम के पदर्शन से खुश है।

जिसका जवाब देते हुए रानी रामपाल ने कहा “ग्रेट ब्रिटेन काफी अच्छी टीम है। हम उनके खिलाफ और अच्छा कर सकते थे। लेकिन कोई बात नहीं इस टीम के खिलाफ 6 मैचों की सीरीज ओलंपिक क्वालीफाइर्स से पहले हमारे खिलाड़ियों के लिए काफी उपयोगी साबित होगी।”

Rani Rampal

भारतीय हॉकी टीम ने इस दौरे पर कई अपनी कई कमियां तलाशी होगी। सीरीज में अपने खेल के साथ उन्होंने इन गलतियों पर सुधार भी किया होगा ताकि वह आगे नहीं दोहराई जा सकें। द ब्रिज की टीम ने जब भारतीय कप्तान और अर्जुन अवार्ड पुरस्कार विजेता रानी रामपाल से पूछा कि क्या इस टूर्नामेंट से वह क्या अच्छी चीजें लेकर वापस आई है। जिसका जवाब देते हुए रानी ने कहा कि “इस प्रतियोगिता से बहुत कुछ सीखने को मिला जैसे की हमारे खिलाड़ियों की फिटनेस में सुधार हुआ है। पहले हमारे लिए फिटनेस बहुत बड़ी चुनौती थी। लेकिन अब उसमे बहुत कुछ सुधार देखने को मिला। दूसरी चीज हमने हर मुकाबले में काउंटर हॅाकी खेली जैसी ही ब्रिटेन के खिलाड़ी थकने लगती थी हम उनपर हावी हो जाते थे।”

जाहिर है ग्रेट ब्रिटेन की महिला खिलाड़ियों फिटनेस के मामले में काफी शानदार है। लेकिन भारतीय हॉकी टीम भी इन दिनों अपने फिटनेस पर जमकर काम कर रही है। फास्ट पेस हॉकी के इस दौर में फिटनेस और तेजी काफी अहम हो गई है। वहीं भारतीय टीम के कप्तान के मुताबिक अब वह डिफेंसिव हॉकी के मुकाबले काउंटर अटैक वाली हॉकी खेलना पसंद करते है।

इसके अलावा जब भारतीय कप्तान से प्रतियोगिता में अपनी गलतियों पर सुधार करने के बारे में बातचीत की गई तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि “मुझे लगता है कि हमें ज्यादा से ज्यादा गोल कन्वर्ट पर काम करने की जरूरत है और हमने उसपर काम करना शुरू भी कर दिया है। आने वाले ओलंपिक क्वालीफाइर्स में इसका परिणाम दिखना शुरू हो जाएगा।”

रानी का ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ प्रदर्शन मिला जुला रहा था। रानी ने इस सीरीज के दौरान उन्होंने टीम की गलतियां पकड़ी और उनपर सुधार करने को कहा। रानी के मुताबिक उन्हें अपने खेल से ज्यादा से गोल कन्वर्ट करने की जरूरत है। जिसकी लगातार कोशिश की जा रही है और जल्द ही वह इसपर काम करना शुरू कर देंगे।

भारतीय टीम का अब अगला मिशन अमेरिका के खिलाफ ओलंपिक क्वालीफार्यस मुकाबला खेलना है। रानी से जब पूछा गया कि अमेरिका के खिलाफ जो ओलंपिक क्वालीफाइर्स होने वाले हैं उसके लिए क्या-क्या रणनीति लेकर टर्फ पर उतरने वाली है। तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि “जिस दिन से हमें पता लगा था की अमेरिका के खिलाफ क्वालीफायर्स खेलना है उस दिन से हमने तैयारी शुरू कर दी थी। ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ इस एक्सपोर टूर में हम यूएस को दिमाग रखकर खेल रहे थे।”