Begin typing your search above and press return to search.

साइकलिंग

भारतीय साइकिलिस्ट ने रचा इतिहास, रेस एक्रॉस अमरीका में हासिल किया तीसरा स्थान

आधिकारिक तालिका के अनुसार उन्होंने 3038 मील की दूरी 11 दिन, 11 घंटे और 25 मिनट में पूरी की

kabir rachure
X

कबीर राचूर 

By

Shivam Mishra

Updated: 2022-06-27T16:45:56+05:30

दुनिया की सबसे मुश्किल मानी जाने वाली साइकिल रेस एक्रॉस अमेरिका (रैम) में महाराष्ट्र के अल्ट्रा साइक्लिस्ट कबीर राचूर ने इतिहास रच डाला। पेशे से वकील कबीर ने रेस के एकल पुरुष अंडर-50 वर्ग में तीसरा स्थान हासिल किया हैं। वहीं, बोजाक ने प्रथम और अमेरिका के फिल फॉक्स ने दूसरा स्थान पाकर पोडियम पर अपनी जगह बनाई।

बंबई उच्च न्यायालय में वकालत कर रहे मराठवाड़ा के कबीर यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले भारतीय बन गए हैं।

आधिकारिक तालिका के अनुसार उन्होंने 3038 मील की दूरी 11 दिन, 11 घंटे और 25 मिनट में पूरी की।

इससे पहले भारतीयों ने लगभग एक दशक पहले इस साइकिल रेस में हिस्सा लेना शुरू किया था और टू मैन कैटेगरी में जीत भी हासिल की है। खुद कबीर राचुरे के लिए भी एक्रॉस अमेरिका में यह दूसरी सफलता हैं। उनके अलावा दो और भारतीयों ने भी इसमें हिस्सा लिया लेकिन वह पूरा नही कर पाए।

आपको बता दें इस रेस के दौरान घड़ी लगातार चलती रहती है और प्रतिभागियों को अमेरिका के पश्चिमी तट से पूर्वी तट की दूरी 12 दिन से कम में पूरी करनी होती है और इस दौरान नींद, खाने जैसी अपनी सभी जरूरतों पर भी ध्यान देना होता है जो इससे सबसे मुश्किल एंड्यूरेंस रेस बनाता है।

इन साइक्लिस्ट के साथ एक सपोर्ट क्रू भी गाड़ियों पर रहता है और शाम होते ही सुरक्षा कारणों से साइक्लिस्ट के पीछे-पीछे चलता रहता है। इस क्रू की यह जिम्मेदारी होती है की साइक्लिस्ट सभी जरूरतों को पूरा करे।

बता दें एकल श्रेणी के विजेता ऑस्ट्रेलिया के ऐलन जैफरसन जो 50-59 साल के उप-समूह में थे, जिन्होंने केवल 10 दिन में रेस पूरा किया ऐलन के बाद चेक रिपब्लिक के स्वाता बोजक दूसरे नंबर पर रहे। उन्होंने जैफरसन के तीन घंटे बाद फीनिश लाइन पर पहुंचने में कामयाब रहें। जबकि स्विजरलैंड की महिला साइक्लिस्ट निकोल राइट्स ने तीसरे स्थान पर अपनी जगह बनाई।

Next Story
Share it