Begin typing your search above and press return to search.

साइकलिंग

एचसीएल ने अपने पहले साइकलिंग अभियान एचसीएल साइक्लोथॉन की घोषणा की

एचसीएल साइक्लोथॉन 19 मार्च, 2023 को नोएडा में आयोजित किया जाएगा; पंजीकरण 28 फरवरी, 2023 तक जारी रहेंगे

एचसीएल ने अपने पहले साइकलिंग अभियान एचसीएल साइक्लोथॉन की घोषणा की
X

अभिषेक मिश्रा, सुन्दर महालिंगम और ओंकार  सिंह

By

The Bridge Desk

Updated: 2023-01-20T19:01:17+05:30

अग्रणी वैश्विक समूह, एचसीएल ने अपने पहले साइकलिंग अभियान, एचसीएल साईक्लोथॉन के लॉन्च की घोषणा की। इस अभियान द्वारा एचसीएल का उद्देश्य प्रोफेशनल साइकिल चालकों के लिए एक मंच का निर्माण करना है, जहाँ पर वो अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर भारत में साइकिल चालकों की नई पीढ़ी को इस खेल में आगे बढ़ने का प्रोत्साहन व प्रेरणा दे सकें। पहली एचसीएल साईक्लोथॉन का आयोजन उत्तर प्रदेश सरकार के साथ गठबंधन में किया जाएगा, और यह 19 मार्च, 2023 को नोएडा में आयोजित होगी। इसके लिए रजिस्ट्रेशन 28 फरवरी, 2023 तक जारी रहेंगे और इसका विवरण पर www.hclcyclothon.com उपलब्ध है । इस कार्यक्रम में तीस अमेचर्स और तीन राष्ट्रीय साइकलिंग चैंपियंस ने हिस्सा लिया, जिनमें शिवेन (माउंटेन बाईकिंग), हर्षवीर सिंह सेखॉन (रोड रेस) औरस्वस्ती सिंह (रोड रेस) शामिल थे।

भारत में साइकल रेस के लिए राष्ट्रीय गवर्निंग बॉडी, साइकलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया अपने ज्ञान और विशेषज्ञता के आधार पर टेक्निकल सपोर्ट प्रदान करेगी। इस अभियान के लिए पुरस्कार की राशि 32 लाख रु. है, जो भारत में किसी भी साइकलिंग रेस के लिए सर्वाधिक है। एचसीएल साईक्लोथॉन में प्रोफेशनल साइक्लिस्ट और अमेचर्स विभिन्न आयु वर्ग और श्रेणियों में हिस्सा ले सकते हैं, जो हैंः

श्रेणी

विवरण

आयुवर्ग

दूरी

प्रोफेशनल्स (सीएफआई-सर्टिफाईड साइक्लिस्ट)

इस श्रेणी में केवल सीएफआई लाईसेंस धारक साइक्लिस्ट हिस्सा ले सकते हैं।

19 से 35 साल

60 किलोमीटर रोड रेस

अमेचर

यह सड़क और एमटीबी (माउंटेन बाईक) के लिए खुला है। रजिस्ट्रेशन जरूरी।

एलाईटः 18 से 35 साल;

मास्टर्सः 35+ साल

60 किलोमीटर रोड रेस

30 किलोमीटर एमटीबी रेस (माउंटेन बाईक)

ग्रीनराईड

चुस्त व सेहतमंद बने रहने के लिए साइकलिंग को बढ़ावा देने के लिए यह एक गैरप्रतिस्पर्धी राईड है। कॉर्पोरेट, आरडब्लूए और कॉलेज के विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन कराके इस श्रेणी में हिस्सा ले सकते हैं।

18+ साल

15 किलोमीटर

श्री नवनीत सहगल, एडिशनल चीफ सेक्रेटरी, स्पोर्ट्स एवं यूथ वैलफेयर, उत्तर प्रदेश सरकार ने एक वीडियो बाईट देकर कहा, ''खेल को बढ़ावा देना उत्तर प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है और पिछले कुछ सालों में सरकार ने खेल को बढ़ावा देने तथा राज्य में खेल की संस्कृति का विकास करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। साइकलिंग के फायदों की बढ़ती जागरुकता और पर्यावरण के लिए मित्रवत मोबिलिटी पर सरकार के जोर को देखते हुए हमें एचसीएल साईक्लोथॉन के साथ जुड़ने की खुशी है। यह कार्यक्रम बहुत ही उपयुक्त समय पर शुरू हो रहा है, जब भारत ने जी-20 का नेतृत्व संभाला है और नोएडा उस के मेजबान शहरों में से एक है।''

सुंदर महालिंगम, प्रेसिडेंट-स्ट्रेट्जी, एचसीएल कॉर्पोरेशन ने कहा, ''एचसीएल ब्रांड का मुख्य उद्देश्य 'ह्यूमनपोटेंशल, मल्टीप्लाईड' है, जो न केवल व्यक्तिगत लोगों, बल्कि समुदायों व समाजों की क्षमता का विस्तार करने पर भी केंद्रित है। खेल समानता और लोगों को एक साथ लाता है, इसलिए हमारी रुचि खेलों में है। पूरे विश्व में परिवहन के साधन और खेलों के रूप में साइकलिंग के प्रति दिलचस्पी बढ़ रही है। हम इसका निर्माण व सहयोग करने के लिए उत्सुक हैं और प्रोफेशनल्स एवं अमेचर्स को विश्वस्तरीय प्लेटफॉर्म व पहचान प्रदान कर के इस खेल को लोकप्रिय बनाना चाहते हैं। एचसीएल साईक्लोथॉन एक दीर्घकालिकअभियानहै, और हम इसका आयोजन हर साल करने की योजना बना रहे हैं।इसका पहला कार्यक्रम इस साल मार्च में आयोजित किया जाएगा।''

इस घोषणा के बारे में ओंकार सिंह, सेक्रेटरी जनरल, एशियन साइकलिंग फेडरेशन ने कहा, ''हमें इस अभियान के लिए एचसीएल के साथ साझेदारी करने की खुशी है। जीवनशैली के लिए साइकलिंग का उपयोग बढ़ रहा है।हम इस प्रगति को बनाए रखना और हर आयुवर्ग के लोगों के बीच साइकलिंग को बढ़ावा देना चाहते हैं। साइकल प्रतियोगिता एक श्रेष्ठ खेल है, जिसे हम इस तरह के अभियानों द्वारा लोकप्रिय बनाना और उसका विकास करना चाहते हैं।एचसीएल जैसे कॉर्पोरेट्स के सामूहिक सहयोग से आवश्यक प्रक्रियाओं और सामर्थ्यों का उपयोग कर भारत के प्रोफेशनल साईक्लिस्ट्स को आगे बढ़ने में मदद की जा सकती है, तथा देश में छिपी प्रतिभाओं तक पहुँचाजा सकता है।''

एचसीएल के बारे में

1976 में भारत के ओरिज़नल आईटी गैराज स्टार्ट-अप के रूप में स्थापित, एचसीएल आधुनिक कंप्यूटिंग में अग्रणी है, जिसने कई पहलकी हैं। इसने 1978 में विश्व की अन्य कंपनियों से पहले अपना पहला 8-बिट माईक्रो प्रोसेसर आधारित कंप्यूटर पेश किया। आज एचसीएल इंटरप्राईज़ विविध सेक्टरों में मौजूद है, जिनमें टेक्नॉलॉजी, हेल्थकेयर एवं टेलेंट मैनेजमेंट समाधान शामिल हैं। इसमें तीन कंपनियां- एचसीएल इन्फोसिस्टम्स, एचसीएल टेक्नॉलॉजीज़ और एचसीएल हेल्थकेयर शामिल हैं। यह इंटरप्राईज़ 60 देशों में 222,270 कर्मचारियों के कार्यबल के साथ 12.३ बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक का वार्षिक राजस्व अर्जित करता है।

Next Story
Share it