गुरूवार, अक्टूबर 1, 2020
होम ताज़ा ख़बर भारत के एसो अल्बेन ने वर्ल्ड जूनियर ट्रैक साइकलिंग चैंपियनशिप में जीता...

भारत के एसो अल्बेन ने वर्ल्ड जूनियर ट्रैक साइकलिंग चैंपियनशिप में जीता पदक

गुरुवार को पूरा देश एक तरफ़ स्वंत्रता दिवस के मौक़े पर जश्न मना रहा था तो वहीं सात समंदर पार फ़्रैंकफ़र्ट में भारत के युवा साइकलिस्ट एसो अल्बेन तिरंगे का मान बढ़ा रहे थे। जहां उन्होंने वर्ल्ड जूनियर ट्रैक साइकलिंग चैंपियनशिप के पुरुष काइरीन इवेंट में कांस्य पदक अपने नाम किया।

एसो अल्बेन
एसो अल्बेन कांस्य पदक के साथ

इससे पहले भी वह उस भारतीय दल का हिस्सा थे जिसने टीम इवेंट में भारत के लिए इतिहास रचा था और पुरुष स्प्रिंट टीम इवेंट में स्वर्ण पदक हासिल किया था। इस इवेंट में एसो अल्बेन के साथ एल रोनाल्डो सिंह, रोजित सिंह और जेम्श सिंह शामिल थे। ये भारत का जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर वर्ल्ड साइकलिंग इवेंट में भारत का पहला स्वर्ण पदक था।

पुरुष स्प्रिंट टीम इवेंट के पहले दौर में भारत ने चाइना के 46.248  सेकंड्स को पीछे छोड़ते हुए प्रतिस्पर्धा 44.764 सेकंड्स में पूरी की थी। इस इवेंट का फ़ाइनल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया जहां टीम इंडिया ने धमाकेदार अंदाज़ में मैच अपने नाम किया, शुरुआती दो लैप में ऑस्ट्रेलिया टीम भारत से आगे थी। लेकिन इसके बाद भारतीय टीम ने अगले दो लैप जीते और सिर्फ़ 0.056 सेकंड्स से स्वर्ण पदक अपने  नाम किया। स्वर्ण पदक की रेस भारत ने 44.625 सेकंड्स में ख़त्म की।

वही पुरुष काइरीन इवेंट में एसो अल्बेन ग्रीस के कोंसतानतिनोज़ लिवानोस (स्वर्ण पदक) और ऑस्ट्रेलिया के सैम गैलेहर (रजत) से पीछे रहे। मौजूदा समय में भारत के एसो जूनियर काइरीन और स्प्रिंट इवेंट में वर्ल्ड रैंकिंग में शीर्ष पर हैं। अंदमान और निकोबार के रहने वाले एसो अल्बेन ने इससे पहले 2018 में जूनियर ट्रैक साइकलिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप में काइरीन इवेंट भारत के लिए रजत पदक जीता था और वह ऐसा करने वाले पहले भारतीय थे।