Begin typing your search above and press return to search.

क्रिकेट

उत्तर प्रदेश ने तृतीय राष्ट्रीय व्हीलचेयर क्रिकेट चौम्पियनशिप की ट्राफी पर कब्जा किया

दुनिया के सबसे बड़े व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट को पहली बार गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया

wheelchair cricket
X

राष्ट्रीय व्हीलचेयर क्रिकेट चौम्पियनशिप विजेता उतर प्रदेश 

By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-12-04T15:06:53+05:30

राष्ट्रीय व्हीलचेयर क्रिकेट चौम्पियनशिप का तीसरा संस्करण को विश्व रिकॉर्ड बनाने के साथ झीलों की नगरी उदयपुर में सम्पन्न हो गया।

नारायण सेवा संस्थान, डीसीसीआई, डब्ल्यूसीआई एवं राजस्थान रॉयल्स के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस सप्तदिवसीय टूर्नामेंट में उत्तरप्रदेश ने हरियाणा को आसानी से पराजित कर चौम्पियनशिप की ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया। हरियाणा की टीम उपविजेता बनी।

गत चौंपियन पंजाब इस बार लीग मैच में ही होड़ से बाहर हो गया था। नारायण सेवा संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि दुनिया के सबसे बड़े व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट को पहली बार गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया। इस सम्बंध में गिनीज बुक के प्रतिनिधि स्वप्निल ने नारायण सेवा संस्थान को विश्व रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र प्रदान किया।

सैकड़ों क्रिकेट प्रेमियों की मौजूदगी में आरसीए ग्राउंड पर राष्ट्रीय व्हीलचेयर क्रिकेट चैंपियनशिप-2022 का ग्रांड फिनाले मैच में उत्तर प्रदेश और हरियाणा टीम के बीच खेला गया। यूपी ने टॉस जीतकर हरियाणा को पहले बल्लेबाज़ी के लिए आमंत्रित किया। हरियाणा की टीम के तीन महत्त्वपूर्ण बल्लेबाज पहले ही ओवर में पवेलियन लौट गए।

हरियाणा टीम ने पहला विकेट पहली बॉल पर, दूसरा चौथी बॉल पर और तीसरे ओवर की आखिरी बॉल पर गंवा दिया। इससे टीम दबाब में आ गई। उत्तरप्रदेश टीम ने 14 ओवर में मात्र 85 रन देकर ही हरियाणा को ऑल आउट कर दिया।

उत्तर प्रदेश की टीम को जीत के लिए 86 रन ही बनाने थे। जीत का जज्बा लेकर कप्तान सोमजीत सिंह की अगुवाई में मैदान पर उतरी यूपी की टीम ने बिना विकेट खोए 6 2 ओवर में ही 86 रन का टारगेट पूरा कर चैम्पियनशिप की ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया।

उत्तरप्रदेश की ओर से ऑल राउंडर शैलेष यादव ने 2 ओवर फेंकते हुए 7 रन पर 3 विकेट झटके और 20 बॉल पर शानदार 36 रन बनाए। जिन्हें मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा। सलामी बल्लेबाज अनमोल वशिष्ठ ने भी 45 रन का योगदान दिया।

जिद, जुनून और जज्बे के इस टूर्नामेंट में चौंपियनशिप पर कब्जा करने वाली उत्तर प्रदेश की टीम को 2.50 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया। उपविजेता हरियाणा की टीम को 1.50 लाख रुपये मिले।

Next Story
Share it