Begin typing your search above and press return to search.

क्रिकेट

आज के ही दिन भारत ने खेला था अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट मैच, इस टीम ने दी थी पहले मैच में शिकस्त

इसके बाद भारतीय टीम ने 1983 में इसी लॉर्ड्स मैदान में दो बार की विश्व चैंपियन वेस्टइंडीज को हराकर अपना पहला विश्व खिताब जीता था

आज के ही दिन भारत ने खेला था अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट मैच, इस टीम ने दी थी पहले मैच में शिकस्त
X
By

Amit Rajput

Updated: 2022-07-13T16:05:08+05:30

आज का दिन भारतीय क्रिकेट इतिहास के लिए काफी खास दिन हैं। आज ही के दिन सन 1974 में भारतीय पुरूष क्रिकेट टीम ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट मैच खेला था। भारत ने यह मैच इंग्लैंड के खिलाफ क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले मैदान लॉर्ड्स में खेला था। जहां इंग्लैंड की टीम ने भारत को 4 विकेट से शिकस्त दे दी थी।

मैच में इंग्लैंड के द्वारा पहले बल्लेबाजी के निमंत्रण के बाद भारतीय टीम ने निर्धारित किए गए 55 ओवरों के खेल में 265 रन का स्कोर खड़ा किया था। इस दौरान टीम इंडिया के लिए सबसे अधिक बृजेश पटेल ने 78 गेंद में 82 रनों की पारी खेली थी जिसमें 8 चौके और दो छक्के शामिल थे। बृजेश के अलावा कप्तान अजीत वाडेकर दूसरे सर्वश्रेष्ठ स्कोर थे। उन्होंने टीम के लिए 82 गेंद में 67 रन बनाए जिसमें 10 चौके शामिल रहे। इसके अलावा ओपनर बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने 28 रनों का योगदान दिया जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज फारुख इंजीनियर ने 32 रन बनाए।

जवाब में इंग्लैंड ने 51.1 ओवर में 6 विकेट खोकर यहां लक्ष्य हासिल कर लिया। इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक जॉन एडरिच ने 90 रनों की पारी खेली। इसके अलावा टोनी ग्रेग ने 40 रन बनाए जबकि केथ फ्लेचर ने 39 रनों का योगदान दिया। वहीं डेनिस एमिस ने 20 और डेविड लॉयड ने 34 रन बनाए। इस मैच में इंग्लैंड के कप्तान माइक डेनिस सिर्फ 8 रन ही बना सके थे। इसके अलावा एलन नॉट 15 और क्रिस ओल्ड ने 5 रनों का योगदान दिया। वही भारत की ओर से एकनाथ सोल्कर ने 11 ओवर के स्पैल में सिर्फ 31 रन खर्च कर दो विकेट हासिल किए। इस दौरान उन्होंने एक ओवर मेडन भी डाला। वहीं बिशन बेदी ने भी 11 ओवर में 68 रन देकर 2 विकेट झटके थे। इनके अलावा मदन लाल और श्रीनिवास वेंकेटराघवन ने एक-एक विकेट लिए।

यह मैच भारत के लिए काफी ऐतिहासिक था। इसके बाद भारतीय टीम ने 1983 में इसी लॉर्ड्स मैदान में दो बार की विश्व चैंपियन वेस्टइंडीज को हराकर अपना पहला विश्व खिताब जीता था। जिसने पूरे भारत में क्रिकेट की तस्वीर ही बदल डाली। इसके बाद साल 2011 में 28 साल बाद भारत ने दूसरी बार विश्व कप का खिताब अपने नाम किया।

Next Story
Share it