Begin typing your search above and press return to search.

क्रिकेट

वनडे विश्व कप 2023 की मेजबानी को लेकर भारत पर मंडराया खतरा, जानें क्या है पूरा मामला

बोर्ड सरकार को विश्व कप के लिए टैक्स में छूट के लिए नहीं मना पाता है तो बोर्ड को 900 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ सकता है

वनडे विश्व कप 2023 की मेजबानी को लेकर भारत पर मंडराया खतरा, जानें क्या है पूरा मामला
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-12-17T14:28:33+05:30

वनडे विश्व कप को लेकर पहले ही भारत और पाकिस्तान के बीच गर्मागर्मी का माहौल चल रहा है। ऐसे में भारत की मेजबानी को लेकर एक और खबर सामने आ रही हैं। वनडे विश्व कप 2023 की मेजबानी को तैयार भारत के हाथ से मेजबानी छीनी जा सकती हैं। इस वक्त बीसीसीआई दो तरफा मुसीबतों का सामना कर रहा हैं। जहां एक ओर बीसीसीआई सचिव जय शाह और पीसीबी प्रमुख रमीज राजा के बीच बयानबाजी का दौर चालू है तो वहीं दूसरी ओर बोर्ड केंद्र सरकार से टैक्स से जुड़े मद्दे पर भी लड़ रहा है।

इस पूरे मामले को लेकर आईसीसी ने बोर्ड को समस्या का समाधान निकालने के लिए चेतावनी भी दी हैं। इससे पहले भारत ने पिछली बार 2016 में टी20 विश्व कप की मेजबानी की थी। उस समय भी बोर्ड टैक्स के मुद्दे को सुलझाने में फेल रहा था और फिर आईसीसी ने बीसीसीआई के एनुअल शेयर में से 190 करोड़ रुपये काट लिए थे। और यही वजह है कि अगर समय रहते समस्या का समाधान नहीं निकलता है तो आईसीसी भारत से मेजबानी ले लेगा।

इस बार की बात करें तो आईसीसी ने टैक्स बिल को बढ़ाकर 21.84 फीसदी या फिर 900 करोड़ रुपये के करीब कर दिया है।अगर भारतीय क्रिकेट बोर्ड सरकार को विश्व कप के लिए टैक्स में छूट के लिए नहीं मना पाता है तो बोर्ड को 900 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का नुकसान उठाना पड़ सकता हैं।

बता दें आईसीसी की पॉलिसी के मुताबिक मेजबान देश को अपनी सरकार से टैक्स में छूट लेनी पड़ती है। और खबरों के हवाले से यह पता चला हैं कि बीसीसीआई ने अब तक इसको लेकर कोई कोशिश नही की हैं। अगर इस मुद्दे में जल्द ही कोई कदम नहीं उठाया गया तो भारत को मेजबानी को हाथ धोना पड़ सकता है।

गौरतलब है कि वनडे विश्व कप का आयोजन अगले साल अक्टूबर में किया जाएगा और ये पहली बार होगा, जब पूरा टूर्नामेंट ही भारत में आयोजित किया जाएगा।

Next Story
Share it