Begin typing your search above and press return to search.

क्रिकेट

महिला क्रिकेट की मास्टर ब्लास्टर मिताली राज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर दी जानकारी

महिला क्रिकेट की मास्टर ब्लास्टर मिताली राज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा
X
By

Amit Rajput

Updated: 2022-06-08T15:25:42+05:30

भारतीय महिला क्रिकेट की मास्टर ब्लास्टर कहे जाने वाली मिताली राज ने बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। मिताली ने अपने संन्यास की जानकारी सोशल मीडिया के जरिए दी। आज उनकी सोशल मीडिया पर पोस्ट के साथ ही उनके 23 साल लंबे क्रिकेट करियर पर भी विराम लग गया। मिताली ने साल 1999 में आयरलैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने 23 साल भारत के लिए लगातार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला। वें वर्ल्ड कप में भी भारतीय टीम का नेतृत्व कर चुकी है। मिताली अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज हैं।

मिताली ने अपने संन्यास की घोषणा करते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट करते हुए लिखा- "मैं इंडिया की नीली जर्सी पहनने की यात्रा पर एक छोटी लड़की के रूप में निकली, क्योंकि अपने देश का प्रतिनिधित्व करना सर्वोच्च सम्मान है। यात्रा ऊंचाइयों और कुछ निम्न से भरी थी। प्रत्येक घटना ने मुझे कुछ अनोखा सिखाया और पिछले 23 वर्ष मेरे जीवन के सबसे अधिक पूर्ण, चुनौतीपूर्ण और आनंददायक रहे हैं। ऐसे में सभी यात्राओं की तरह, इसे भी समाप्त होना चाहिए। आज वह दिन है जब मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रही हूं। जब भी मैंने मैदान पर कदम रखा, मैंने भारत को जीतने में मदद करने के इरादे से अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। तिरंगे का प्रतिनिधित्व करने के लिए मुझे जो अवसर मिला है, मैं उसे हमेशा संजो कर रखूंगी। मुझे लगता है कि अब मेरे खेलने के करियर से पर्दा उठाने का सही समय है, क्योंकि टीम कुछ बहुत ही प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ियों के हाथों में है और भारतीय क्रिकेट का भविष्य उज्ज्वल है।"

अगर हम मिताली राज के क्रिकेट करियर की बात करें तो उन्होंने 16 साल की उम्र में 1999 में डेब्यू किया था और लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी भी की। उनकी कप्तानी में भारत ने 2000, 2005, 2009, 2013 और 2017 में महिला विश्व कप भी खेला। हालांकि, अभी तक टीम एक भी खिताब अपने नाम नहीं कर पाई है। टीम 2017 के फाइनल में भी पहुंच गई थी। लेकिन टीम खिताब जीतने में असफल रही। उन्होंने भारत के लिए 12 टेस्ट मैच में 699, 232 वनडे मैच में 7805 और 89 टी-20 मैच में 2364 रन अपने नाम किये है।

Next Story
Share it