Begin typing your search above and press return to search.

क्रिकेट

मिताली का पहला शौक क्रिकेट नही बल्कि डांस था, अब 23 साल क्रिकेट खेलकर बनाए कई कीर्तिमान

मिताली ने अपने संन्यास की जानकारी सोशल मीडिया पर एक भावुक पोस्ट के जरिए सभी को दी।

Mithali Raj Cricket
X

मिताली राज

By

Amit Rajput

Updated: 2022-06-08T20:25:34+05:30

बुधवार को भारतीय क्रिकेट जगत से एक बहुत बड़ी निराशाजनक खबर सामने आयी। जहां भारत की दिग्गज महिला क्रिकेटर मिताली राज ने संन्यास की घोषणा कर दी। मिताली ने अपने संन्यास की जानकारी सोशल मीडिया पर एक भावुक पोस्ट के जरिए सभी को दी। इस पोस्ट के साथ ही मिताली के 23 साल लंबे क्रिकेट करियर पर विराम लग गया। मिताली आखिरी बार न्यूजीलैंड में क्रिकेट विश्व कप के दौरान नजर आयी थी। इस विश्व कप में मिताली ने भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व भी किया था। उसके बाद से ही उनके संन्यास लेने की अटकलें लग रही थीं लेकिन उन्होंने इस बारे में बाद में फैसला करने की बाद कही थी।

क्रिकेट नहीं डांस था पहला शौक

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि मिताली का पहला शौक क्रिकेट नहीं था बल्कि डांस था। मिताली ने बचपन से ही क्लासिकल डांस सीखना शुरू किया और सिर्फ 10 साल की उम्र में वो भरतनाट्यम में एक्सपर्ट हो गई और फिर इसी में करियर बनाने की सोचने लगी। लेकिन मिताली बचपन से ही बहुत आलसी थी, इसीलिए उनके पिता ने उन्हें एक्टिव बनाने के लिए डांस के साथ साथ क्रिकेट की ट्रेनिंग शुरुआत कर दी। लेकिन आगे चलके डांस और क्रिकेट दोनों तरफ ध्यान देना मिताली के लिए बहुत मुश्किल हो गया था। इसीलिए मिताली के डांस टीचर ने किसी एक में आगे बढ़ने को कहा और तब मिताली ने क्रिकेट चुन लिया।

16 साल की उम्र में किया पदार्पण

1999 में 16 साल की उम्र में मिताली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय करियर में शुरुआत की और अपने डेब्यू मैच में ही उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ नाबाद 114 रनों की पारी खेली। जनवरी 2002 मै उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया, लेकिन दुर्भाग्य से वो जीरो रन पर आउट हो गई। हालाकि 3री टेस्ट मै जबरदस्त वापसी करते हुये उन्होंने 214 रनों की अदभुत पारी खेली और ऑस्ट्रेलिया के करण रोल्टन के 209 रनों का रिकॉर्ड तोड़ते हुए शानदार 214 रन बनाये और एक नया कीर्तिमान स्थापित किया।

23 साल खेला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट

23 साल लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर में मिताली राज ने भारत के लिए 12 टेस्ट, 231 वनडे और 89 अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच खेले। इस दौरान उन्होंने रनों का अंबार लगा दिया। महिलाओं के वनडे क्रिकेट में उन्होंने 232 मैच में 7,805 रन बनाए जो कि अपने आप में रिकॉर्ड है। वहीं वो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10 हजार से ज्यादा रन बनाने वाली पहली भारतीय और दुनिया की दूसरी महिला क्रिकेटर हैं। मिताली टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाली एक मात्र भारतीय महिला बल्लेबाज हैं। वे कई बार आईसीसी की बल्लेबाजों की रैकिंग में टाॅप पर भी रही।

मिताली को मिले कई पुरस्कार

मिताली ने भारतीय क्रिकेट की 23 साल सेवा की। उन्हें इसके लिए कई पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया। मिताली को क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए साल 2003 में अर्जुन अवार्ड मिला। इसके बाद साल 2015 में पद्मा श्री अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। मिताली भारत की उन चुनिंदा क्रिकेटरों में से भी है जिन्हें क्रिकेट की प्रतिष्ठित संस्थान विज्डन ने भी सम्मानित किया है। मिताली कई बार आईसीसी की वन-डे टीम ऑफ़ द ईयर में भी शामिल हो चुकी है।

Next Story
Share it