शुक्रवार, अक्टूबर 30, 2020
होम क्रिकेट इतिहास विशेष: जब शारजाह में सचिन तेंदुलकर के तूफ़ान में उड़ गये...

इतिहास विशेष: जब शारजाह में सचिन तेंदुलकर के तूफ़ान में उड़ गये थे कंगारू गेंदबाज

​बाइस साल पहले आज के ही दिन, 22 अप्रैल 1998 में शारजाह में कोका कोला कप का छटवां मैच भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। यह सेमीफाइनल मुकाबला सचिन तेंदुलकर के शानदार शतक के लिए याद किया जाता है, जब उन्होंने 131 गेंदों में 143 रनों की आक्रामक पारी खेली थी। इस बीच उन्होंने अपनी पारी के दौरान 9 चौके और 5 छक्के भी जड़े थे।

शारजाह में खेले गये इस निर्णायक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। स्टीव वॉ की अगुवाई वाली कंगारू टीम ने माइकल बेवन के शतक की बदौलत 284/7 का बड़ा स्कोर खड़ा किया। बेवन के अलावा स्टीव वॉ ने भी 81 रनों की पारी खेली। दूसरी पारी में शारजाह में भयंकर रेतीला तूफ़ान देखने को मिला, जिसके बाद भारत को 46 ओवरों में 276 रनों का नया लक्ष्य मिला। भारतीय टीम को फाइनल में जगह बनाने के लिए 46 ओवर में 238 रनों की ही जरूरत थी जो उसने हासिल कर लिया .

 

इस दिन शारजाह में दो-दो तूफान देखने को मिले। पहला तूफान रेतीला था, जो मैच के बीच में आया, जिसमें खेल का अहम वक्त जाया हो गया और मैच के कुछ ओवरों की कटौती कर दी गई। दूसरा तूफ़ान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बल्ले से देखने को मिला। सलामी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कंगारू गेंदबाजों की अच्छी पिटाई की और पारी के 43वें ओवर तक बल्लेबाजी करके भारत को खिताबी मुकाबले में पहुंचाया। उन्होंने 143 रन बनाए। उनके बाद टीम में सबसे ज्यादा स्कोर 35 रन रहा जो नयन मोंगिया ने बनाया। भारत ने यह सेमीफाइनल मुकाबला 26 रनों से गँवा दिया लेकिन बेहतर रन रेट होने के कारण टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई थी।

जीते जी किंवंदति बन चुके सचिन ने अब तक कई बेहतरीन पारियां खेल ली थी और विश्व क्रिकेट में अपनी दस्तक दे दी थी लेकिन उनकी यह आक्रामक पारी यादगार बन गई। उनकी इस पारी ने क्रिकेट जगत में यह स्पष्ट कर दिया था कि छोटे कद का यह बल्लेबाज एक दिन क्रिकेट में बल्लेबाजी के सभी महत्वपूर्ण रिकॉर्ड अपने नाम कर लेगा।

संक्षिप्त स्कोरकार्ड:

ऑस्ट्रेलिया: 284/7 [रिवाइज्ड टारगेट 276 (46 ओवर)]

भारत: 250/5 (46 ओवर)