शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
होम क्रिकेट COVID-19: सुनील गावस्कर ने दिए 59 लाख रूपये दान, पुजारा भी मदद...

COVID-19: सुनील गावस्कर ने दिए 59 लाख रूपये दान, पुजारा भी मदद के लिए आगे

दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने मंगलवार को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के लिये 59 लाख रुपये का दान किया जबकि टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने भी प्रधानमंत्री आपात स्थिति नागरिक सहायता और राहत कोष (पीएम केयर्स फंड) में अपना योगदान दिया। पुजारा वर्तमान क्रिकेटरों में विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे और केदार जाधव की सूची में शामिल हो गये हैं जिन्होंने महत्वपूर्ण योगदान दिया है। पुजारा ने हालांकि यह खुलासा नहीं किया कि उन्होंने कितनी धनराशि का योगदान दिया है। पूर्व क्रिकेटरों में सचिन तेंदुलकर ने अहम योगदान दिया है।

अपने जमाने के मशहूर सलामी बल्लेबाज और अब जाने माने कमेंटेटर गावस्कर ने स्वयं अपने योगदान का खुलासा नहीं किया लेकिन मुंबई के पूर्व कप्तान अमोल मजूमदार के ट्वीट के बाद उनके करीबी सूत्रों ने इसकी पुष्टि की। मजूमदार ने कहा, ‘‘अभी सुना कि एसएमजी (सुनील मनोहर गावस्कर) ने कोविड राहत कोष के लिये 59 लाख रुपये का दान दिया है। इनमें से 35 लाख प्रधानमंत्री केयर्स फंड और 24 लाख महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कोष में दिये गये हैं। सराहनीय कार्य सर।’’ गावस्कर के बेटे और पूर्व क्रिकेटर रोहन गावस्कर ने बाद में ट्वीट कर इसे समझाया, ‘‘ उन्होंने पिछले सप्ताह दान किया था। भारत के लिए उन्होंने 35 शतक लगाये है इसलिए 35 लाख (पीएम केयर्स) और मुंबई के लिए उन्होंने 24 शतक लगाये है इस लिए 24 लाख रुपये (महाराष्ट्र राहत कोष)।

पुजारा ने कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में अहम भूमिका निभाने वाले चिकित्सकों, अन्य चिकित्साकर्मियों और पुलिस का आभार व्यक्त किया जो संकट के इस दौर में निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मेरे परिवार और मैंने ‘केयर्स फंड’ और गुजरात के मुख्यमंत्री के राहत कोष में अपनी तरफ से थोड़ा योगदान दिया है और आशा है कि आप भी ऐसा करेंगे। प्रत्येक योगदान मायने रखता है तो चलिए हम सभी अपनी तरफ से थोड़ा योगदान करते हैं और मिलकर हम निश्चित तौर पर इससे पार पा लेंगे। ’’राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता पारुपल्ली कश्यप ने भी तेलंगाना के मुख्यमंत्री राहत कोष में तीन लाख रुपये दान दिये। कश्यप ने ट्वीट किया, ‘‘मैं स्वास्थ्य कर्मचारियों और आपातकालीन सेवा प्रदाताओं को सलाम करता हूं। मुझे उम्मीद है कि मेरा योगदान उनकी मदद करेगा।’’