Begin typing your search above and press return to search.

राष्ट्रमंडल खेल

राष्ट्रमंडल खेलों का हुआ भव्य शुभारंभ, उध्दाघाटन समारोह में पीवी सिंधू व मनप्रीत सिंह बने ध्वजवाहक

भारतीय दल पीवी सिंधू और मनप्रीत सिंह की अगुआई में स्टेडियम में पहुंचा। भारतीय दल के सभी खिलाड़ी पारंपरिक परिधान में थे।

राष्ट्रमंडल खेलों का हुआ भव्य शुभारंभ, उध्दाघाटन समारोह में पीवी सिंधू व मनप्रीत सिंह बने ध्वजवाहक
X
By

Amit Rajput

Updated: 2022-07-29T12:23:21+05:30

गुरुवार को 15वें राष्ट्रमंडल खेल की शुरुआत भव्य रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुई। उध्दाघाटन समारोह का आयोजन बर्मिंघम के अलेक्जेंडर स्टेडियम में हुआ। जहां समारोह में प्रिंस चार्ल्स, नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला युसुफ यूसुफजई जैसी कई बड़ी हस्ती मौजूद रही। कार्यक्रम दो घंटे चला। जिसमें इंग्लैंड की संस्कृति के साथ खेलों के भी कई रंग देखने को मिले। समारोह में भारतीय दल का नेतृत्व बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु और हाॅकी स्टार मनप्रीत सिंह ने किया।

बर्मिंघम की दुनियाभर में पहचान वहां के मोटर उद्योग की वजह से रही है। उद्घाटन समारोह में ऐतिहासिक पहलओं को दिखाने की शुरुआत यहां के मोटर उद्योग की उपलब्धियों को दर्शाते हुए की गई। स्थानीय लोग अपनी विंटेज कारों को ड्राइव करते हुए स्टेडियम में पहुंचे। इसी अंदाज में प्रिस ऑफ वेल्स प्रिंस चार्ल्स और डचेस ऑफ कॉर्नवाल कैमिला पार्कर के साथ अपनी 1970 में खरीदी एश्टन मार्टन कार को खुद ड्राइव करके स्टेडियम में पहुंचे।

कार्यक्रम का सबसे आकर्षक पहलू 10 मीटर ऊंचा बैल था। जिसे महिलाओं का दल मोटी चेन से खींचकर मैदान के अंदर लेकर आया। इसे बनाने में 5 महीने का वक्त लगा। यह बर्मिंघम के उस काले अतीत की झलक थी जब 19वीं शताब्दी में महिलाओं के साथ घंटों अमानवीय व्यवहार करके बगैर किसी या नाम मात्र की तनख्वाह देकर ऐसी मोटी चेन बनवाई जाती थीं। इस वजह से बर्मिंघम में मजदूरों की स्थिति में सुधार के लिए 1910 में प्रसिद्ध हड़ताल हुई थी। चेन बनाने वाली महिलाओं की 10 सप्ताह बाद जीत हुई। नई न्यूनतम मजदूरी लागू होने के बाद उनकी आय दुगनी हो गई। गिरता बैल मजदूरों की जीत का प्रतीक है।

समारोह में सबसे पहले 2018 के मेजबान ऑस्ट्रेलिया का दल सबसे पहले आया। ऑस्ट्रेलिया खेलों का सबसे सफल देश भी है। उसके नाम 932 स्वर्ण समेत कुल 2416 पदक हैं। वही एशियाई महाद्वीप के खिलाड़ियों के स्टेडियम में आने का सिलसिला बांग्लादेश के साथ शुरू हुआ।

जहां भारतीय दल पीवी सिंधू और मनप्रीत सिंह की अगुआई में स्टेडियम में पहुंचा। भारतीय दल के सभी खिलाड़ी पारंपरिक परिधान में थे। पीवी सिंधू और मनप्रीत सिंह के पीछे कई अन्य जाने माने भारतीय खिलाड़ी नजर आ रहे थे। जिसमें मीना बाई चानू, लवलीना बोरगोहेन, बजरंग पुनिया, विजय कुमार दहिया, मनिका बत्रा, विनेश फोगाट, तेजिंदर पाल सिंह तूर, हिमा दास और अमित फंगल शामिल थे। वही आपको बता दें कि राष्ट्रमंडल खेलों में 205 भारतीय एथलीट भाग ले रहे हैं जो 16 खेलों की विभिन्न स्पर्धाओं में 133 स्वर्ण पदकों के लिए प्रतिस्पर्धा करते नजर आएंगे।

Next Story
Share it