Begin typing your search above and press return to search.

कबड्डी

आख़िरी 7 सेकंड्स में हमने हारी बाज़ी जीती और इसके पीछे कोच साहब की सीख थी – जोगिंदर नरवाल

आख़िरी 7 सेकंड्स में हमने हारी बाज़ी जीती और इसके पीछे कोच साहब की सीख थी – जोगिंदर नरवाल
X
By

Syed Hussain

Published: 5 Sep 2019 7:49 AM GMT

बुधवार को बेंगलुरु में खेले गए रोमांचक मुक़ाबले में दबंग दिल्ली ने आख़िरी लम्हों में वापसी करते हुए जयपुर पिंक पैंथर्स को शिकस्त देकर, प्रो कबड्डी इतिहास के सबसे मज़ेदार मैचों में से एक को अंजाम दिया।

https://twitter.com/ProKabaddi/status/1169453832130007040?s=20

सांस रोक देने वाले मुक़ाबले में आख़िरी 10 सेकंड्स तक ऐसा लग रहा था कि दबंग दिल्ली को 7 मैचों के बाद हार का सामना करना पड़ेगा। लेकिन दिल्ली के खिलाड़ियों ने हिम्मत नहीं हारी और आख़िरी 7 सेकंड्स में हारी हुई बाज़ी जीत ली, वैसे तो इसके हीरो रहे एक बार फिर नवीन कुमार, जिन्होंने 16 रेड प्वाइंट्स हासिल किए। नवीन एक्सप्रेस का ये लगातार 10वां सुपर-10 था।

पढ़िए कैसे 7 सेकंड्स में नवीन कुमार ने पलट दिया मैच और जीत गई दिल्ली

मैच के बाद मीडिया से बात करते हुए कप्तान जोगिंदर नरवाल ने इस जीत को सबसे ऊपर रखते हुए इसका श्रेय कोच कृषण कुमार हुडा को दिया।

‘’इस सीज़न की हमारे लिए ये सबसे मुश्किल चुनौती थी, हमने जो गेमप्लान तैयार किया था उसे मैट पर उतार नहीं पा रहे थे। लेकिन आख़िर में हमारा आक्रमण और डिफ़ेंस दोनों बेहतरीन खेला और इसका श्रेय कोच साहब को जाता है जो हमेशा हमें समझाते और सिखाते हैं कि जब तक व्हिसल न बज जाए मैच ख़त्म न हो जाए, हार और जीत नहीं होती। और इस मैच में ठीक यही हुआ, मैंने नवीन को यही बोला कि बार बार टैकल ज़रूर हो रहे हो लेकिन घबराओ मत और अपना बेस्ट देते जाओ, अंत में वही हुआ और आख़िरी बाज़ी नवीन ने हमें दिला दी।‘’ – जोगिंदर नरवाल, कप्तान, दबंग दिल्ली

कोच कृषण कुमार हुडा ने भी कहा कि मैं हमेशा अपने खिलाड़ियों को यही बताता रहता हूं कि कबड्डी 40 मिनट का खेल है, उससे पहले कुछ नहीं होता।

नवीन के साथ द ब्रिज का EXCLUSIVE इंटरव्यू भी देखने के लिए क्लिक करें यहां:

‘’कबड्डी 40 मिनट तक खेली जाती है, और व्हिसल बजने तक कुछ भी मुमकिन है। और हमने आख़िरी मिनट में खेल अपनी तरफ़ कर लिया, बात हार और जीत की नहीं है कोई भी टीम सभी मैच नहीं जीत सकती। लेकिन भरोसा अहम होता है, आख़िरी 30 सेकंड्स में जब हम 4 अंक से पीछे थे तब भी हमें विश्वास था कि हम यहां से भी जीत सकते हैं। अंत में आया नतीजा इस बात का सबूत है।‘’ – कृषण कुमार हुडा, कोच, दबंग दिल्ली अंक तालिका में 54 अंकों के साथ सबसे आगे खड़ी दिल्ली को अब शनिवार और रविवार को दो दिनों में दो मैच खेलने हैं। कोलकाता लेग के पहले दिन दिल्ली का मुक़ाबला हरियाणा स्टीलर्स से होगा जबकि अगले दिन दिल्ली के सामने तमिल थलाइवाज़ की चुनौती होगी।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it