Begin typing your search above and press return to search.

शतरंज

44वें शतरंज ओलंपियाड के लिए भारतीय टीम का हुआ ऐलान

टूर्नामेंट में 150 देशों से ज्यादा के खिलाडी हिस्सा लेंगे

Chess Olympiad Team
X

शतरंज ओलंपियाड के लिए भारतीय टीम

By

Amit Rajput

Updated: 2022-05-07T00:04:45+05:30

इस साल चेन्नई में होने वाले 44वें शतरंज ओलंपियाड के लिए अखिल भारतीय शतरंज महासंघ (एआईसीएफ) ने अपने दल का ऐलान कर दिया है। इस दल में देश में 20 खिलाड़ी शामिल है, यह दल अब तक के टूर्नामेंट में देश का सबसे बड़ा दल होगा। भारत देश मेजबान होने के नाते सभी वर्गो में अपने खिलाड़ियों को मैदान में उतरेगा। वही भारत पहली बार ओपन श्रेणी के साथ-साथ महिला वर्ग में दो-दो टीमों को मैदान में उतारने का हकदार है। इसने निश्चित रूप से 14- दिवसीय आयोजन में पदक की संभावना को बढ़ा दिया है, टूर्नामेंट में 150 से अधिक देशों के खिलाड़ियों के हिस्सा लेने की संभवना है। आपको बता दें कि भारत पहली बार शतरंज ओलंपियाड कि मेजबानी करने जा रहा है।

युवाओ से सजी पुरुष टीम

टूर्नामेंट के ओपन सेक्शन के लिए घोषित टीम में देश के कई प्रतिभाशाली खिलाडी शामिल है। जहां 19 साल के अर्जुन एरिगैसी ,एसएल नारायणन विदित गुजराती, पेंटाला हरिकृष्णा और कृष्णन शशिकिरन शामिल है। यह सभी खिलाडी ओपन सेक्शन की पहली टीम का हिस्सा है। वही आपको बता दें कि साल 2020 में आयोजित ऑनलाइन चेस ओलंपियाड में विदित गुजराती, पेंटाला हरिकृष्णा और कृष्णन शशिकिरन ने देश के लिए गोल्ड मेडल जीता था।

देश को इस साल फिर टूर्नामेंट में खिलाड़ियों से ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। दूसरी ओर, दूसरी टीम में कई युवा प्रतिभाएं शामिल होंगी, जो पिछले कुछ वर्षों में अपने लगातार प्रदर्शन से सुर्खियां बटोर रही हैं। जिनमें प्रज्ञानानंद आर, निहाल सरीन, गुकेश डी और रौनक साधवानी शामिल हैं। जो शतरंज ओलंपियाड में पदार्पण करेंगे। टीम में अनुभवी खिलाड़ी अदभिबन बी भी होंगे, जो 2014 में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे।

महिला टीम में कई दिग्गज खिलाडी शामिल

वही अगर महिला टीम की बात करे तो भारतीय महिला टीमों में बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी शामिल है। जहां कोनेरू हम्पी और दुनिया की 10वें नंबर की हरिका द्रोणावल्ली शामिल है, जिन्होंने कई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों पर अपना कब्ज़ा जमाया है। इनके अलावा तानिया सचदेव, आर वैशाली और भक्ति कुलकर्णी के साथ पहली टीम में शामिल हैं, जो इस टूर्नामेंट में अपना डेब्यू कर रही हैं। वही महिला वर्ग में दूसरी टीम में राष्ट्रीय चैंपियन सौम्या स्वामीनाथन, मैरी एन गोम्स और पद्मिनी राउत के साथ वंतिका अग्रवाल और 15 वर्षीय दिव्या देशमुख शामिल है।

एआईसीएफ सचिव ने टीम पर जताई ख़ुशी

एआईसीएफ सचिव भरत सिंह चौहान ने टीम की घोषणा करते हुए कहा कि मैं सभी सदस्यों को आयोजन और उनकी तैयारियों के लिए शुभकामनाएं देता हूं। शतरंज ओलंपियाड में दो टीमों को मैदान में उतारने का अवसर कई युवा भारतीय प्रतिभाओं के लिए अपने खेल को सबसे बड़े स्तर पर प्रदर्शित करने का द्वार खोलता है जो अन्यथा शायद कुछ और वर्षों के इंतजार के बाद संभव होता। यह उनके लिए अपने करियर की इतनी जल्दी शुरुआत करने का एक बड़ा अवसर है। टीमें मजबूत दिखती हैं और उनके पास अनुभव के साथ-साथ युवा प्रतिभाओं का भी अच्छा मिश्रण है और मुझे विश्वास है कि वे इस जीवन भर के अवसर का अधिकतम लाभ उठाएंगे।

टूर्नामेंट में बनेंगे कई रिकॉर्ड

इस टूर्नामेंट में कई रिकॉर्ड बनेंगे, जहां सबसे दिलचस्प बात यह होगी कि एन सरिता और एन सुधाकर बाबू के बाद प्रज्ञानानंद और वैशाली एक ही ओलंपियाड में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले भाई-बहनों का दूसरा समूह होंगे। इसके पहले एन सरिता और एन सुधाकर बाबू ग्रीस में 1988 के संस्करण में खेले थे। वही आपको बता दे कि इस टूर्नामेंट में विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद हिस्सा नहीं लेंगे। उन्होंने टूर्नामेंट को लेकर कहा था कि मैं इन दिनों बहुत कम इवेंट खेल रहा हूं और कई ओलंपियाड खेलने के बाद, मुझे लगा कि यह युवाओं के खेलने का समय है। भारत में निहाल, प्रज्ञानानंद, गुकेश, अर्जुन और कुछ और जैसे कई प्रतिभाशाली युवा हैं।

Next Story
Share it