Begin typing your search above and press return to search.

शतरंज

चेन्नई में आयोजित शतरंज ओलंपियाड का मेंटोर बनकर खुश हूँ - विश्वनाथन आनंद

शतरंज ओलंपियाड 2022, 28 जुलाई से शुरू होकर 10 अगस्त को समाप्त होगा

Viswanathan Anand Chess
X

विश्वनाथन आनंद 

By

Sakshi Gupta

Updated: 2022-07-28T14:43:33+05:30

भारत के पहले ग्रैंड मास्टर विश्वनाथन आनंद शतरंज ओलंपियाड 2022 में मेंटोर की भूमिका में रहेंगे। पाँच बार के विश्व चैंपियन इस बार प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं लेंगे, बल्कि भारतीय खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करेंगे।

52 वर्ष के विश्वनाथन आनंद ने पहले ही यह तय कर लिया था कि इस बार जहाँ भी शतरंज ओलंपियाड हो, वे हिस्सा नहीं लेंगे। इस बारे में खुद ग्रैंड मास्टर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'मैं वर्ल्ड चैंपियनशिप चक्र के दौरान क्वालिफाई करने का प्रयास नहीं कर रहा था। मैंने अपना मन बदलने के बारे में नहीं सोचा। भारत के पास अब इतने सारे शानदार युवा खिलाड़ी हैं। फिर हम बार बार वापस आकर क्यों खेलते रहें। मुझे उम्मीद है कि वे काफी अच्छा करेंगे।'

वर्ल्ड चैंपियन ने आगे कहा, 'मैं वहाँ रहने का प्रयास करूँगा, अगर वे मेरे साथ सलाह मशवरा करना चाहते हैं तो। वैसे भी मैं टीम के कुछ सदस्यों के लगातार संपर्क में हूँ। हाँ, मैं उत्साहित मार्गदर्शक हूं।'

बतौर मार्गदर्शक आनंद को अपनी भूमिका पता है इस बारे में उन्होंने बताया, 'मुझे लगता है कि मुख्य चीज यह है कि उन्हें याद दिलाया जाता रहे कि दबाव महसूस मत करो। भारत में खेलना अच्छा है। अपने ऊपर दबाव लेने को कोई मदद नहीं होने वाली।'

विश्वनाथन आनंद से शतरंज ओलंपियाड में प्रतिभाग करने को लेकर पुनर्विचार के बारे में जब सवाल किया गया, तब उन्होंने कहा, 'नहीं… मैंने ऐसा नहीं किया। टूर्नामेंट का आयोजन चाहे कहीं भी होता, मैं इसमें नहीं खेलता। हाल के समय में मैंने अपनी प्रतिबद्धताओं को कम किया है।'

रमेश बाबू प्रज्ञानंद और डी गुकेश के गुरु विश्वनाथन आनंद ही हैं और वे चाहते हैं इन दोनों समेत सभी भारतीय खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करें।

आपको बता दें कि शतरंज ओलंपियाड 2022, 28 जुलाई से शुरू होकर 10 अगस्त को समाप्त होगा। यह इस बार भारत में चेन्नई के मामल्लापुरम में आयोजित हो रहा है। बनकर खुश है।

Next Story
Share it