Begin typing your search above and press return to search.

मुक्केबाजी

विश्व चैंपियनिशप में मिली हार को लेकर ओलंपिक पदक विजेता लवलीना ने दिया बड़ा बयान

आप अपनी जीत से नहीं सीखते, आप अपनी हार से सीखते हैं और इस हार ने मुझे बहुत महत्वपूर्ण सबक सिखाया है

Lovlina Borgohain boxing
X

लवलीना बोरगोहेन

By

Amit Rajput

Published: 25 May 2022 1:21 PM GMT

पिछले दिनों आयोजित हुई महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारतीय महिला मुक्केबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया था। भारत देश ने चैंपियनशिप में 3 पदक जीते थे। जिसमें भारत की निखहत जारीन ने चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक भी जीता था।

लेकिन इस टूर्नामेंट के दौरान भारत की कुछ महिला मुक्केबाजों जैसे ओलंपिक कास्यं पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन और अन्य मुक्केबाजों ने निराश किया था। वें टूर्नामेंट में सिंडी नगाम्बा से 4-1 से हार कर बाहर हो गई थी। उनकी इस निराशा को लेकर हाल ही में ओलंपिक कांस्य पदक विजेता ने अपना बयान दिया है।

हाल ही में देश के तीन पदक विजेता निकहत जरीन (स्वर्ण, 52 किग्रा), मनीषा मौन (कांस्य, 57 किग्रा) और परवीन हुड्डा (कांस्य, 63 किग्रा) के सम्मान समारोह के कार्यक्रम में लवलीना ने कहा कि मेरी तैयारी इतनी अच्छी नहीं थी। ओलंपिक के बाद बहुत सी चीजें बदल गई हैं। मुझे कई चीजों को समय देना था, प्रतिबद्धताओं को पूरा करना था।

उन्होंने कहा कि लेकिन जैसा कि एक कहावत है कि आप अपनी जीत से नहीं सीखते, आप अपनी हार से सीखते हैं और इस हार ने मुझे बहुत महत्वपूर्ण सबक सिखाया है। भविष्य के लक्ष्यों के बारे में पूछे जाने पर असम की इस मुक्केबाज ने कहा कि मेरा मुख्य लक्ष्य अब भी ओलंपिक स्वर्ण है, लेकिन मुझे इसके लिए कदम दर कदम चलना होगा। ऐसे में मेरा अगला कदम राष्ट्रमंडल खेल है और मैं वहां चैंपियन बनना चाहती हूं।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it