Begin typing your search above and press return to search.

मुक्केबाजी

भारतीय युवा मुक्केबाजों ने 'गोल्डन ग्लव ऑफ वोजवोदिना' टूर्नामेंट में 19 पदक जीते

जादूमणि को ‘टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ फाइटर’ और रवीना को ‘सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज’ चुना गया।

भारतीय युवा मुक्केबाजों ने गोल्डन ग्लव ऑफ वोजवोदिना टूर्नामेंट में 19 पदक जीते
X
By

Bikash Chand Katoch

Published: 20 Sep 2022 7:59 AM GMT

भारतीय युवा मुक्केबाजों ने सोमवार को सर्बिया में 40वें 'गोल्डन ग्लव ऑफ वोजवोदिना' युवा मुक्केबाजी टूर्नामेंट के अंतिम दिन 10 स्वर्ण पदक जीतकर कुल 19 पदक से अभियान समाप्त किया। जादूमणि को 'टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ फाइटर' और रवीना को 'सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज' चुना गया।

भावना शर्मा (48 किग्रा), देविका घोरपाडे (52 किग्रा), कुंजारानी देवी (60 किग्रा), रवीना (63 किग्रा) और कीर्ति (+81 किग्रा) ने महिला वर्ग में स्वर्ण पदक जीते जबकि सभी 12 प्रतिभागी पदक के साथ लौंटी। मुस्कान (75 किग्रा) और प्रांजल यादव (81 किग्रा) ने फाइनल में हारकर रजत पदक जीते जबकि कशिश (50 किग्रा), नीरू (54 किग्रा), आर्या (57 किग्रा), प्रियंका (66 किग्रा) और लाशू (70 किग्रा) ने कांस्य पदक अपने नाम किये।

युवा पुरूष मुक्केबाजों ने 5 स्वर्ण पदक अपने नाम किये। पुरूष मुक्केबाजों में विश्वनाथ (48 किग्रा), आशीष (54 किग्रा) और साहिल (71 किग्रा) ने फाइनल में अपने प्रतिद्वंद्वियों पर 5-0 से जीत हासिल की। वहीं जादूमणि (51 किग्रा) और भरत जून (92 किग्रा) ने 4-1 के अंतर की जीत से स्वर्ण पदक जीते। निखिल (57 किग्रा) और दीपक (75 किग्रा) को कांस्य पदक मिले।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it