Begin typing your search above and press return to search.

मुक्केबाजी

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने आयरिश लीजेंड बर्नार्ड डन को हाई परफार्मेंस डायरेक्टर नियुक्त किया

मुक्केबाजी की दुनिया में एक मशहूर नाम बर्नार्ड डन आयरिश एथलेटिक बॉक्सिंग एसोसिएशन के साथ पांच साल तक काम कर चुके हैं

Bernard Dunne
X

बर्नार्ड डन (मध्य में)

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-17T16:19:29+05:30

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने आयरलैंड के दिग्गज मुक्केबाज बर्नार्ड डन को भारतीय मुक्केबाजी के लिए हाई परफार्मेंस डायरेक्टर के रूप में नियुक्त किया है। एक कोच के तौर पर डन ने ओलंपिक और विश्व चैंपियन मुक्केबाज तैयार किए हैं।

मुक्केबाजी की दुनिया में एक मशहूर नाम डन आयरिश एथलेटिक बॉक्सिंग एसोसिएशन के साथ इसी पद पर पांच साल तक काम कर चुके हैं। नियुक्ति के साथ ही वह भारतीय मुक्केबाजी महासंघ से जुड़ गए हैं।

डन की नियुक्ति को लेकर भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा, "हमें बर्नार्ड डन को भारतीय टीम के हाई परफार्मेंस डायरेक्टर के रूप में नियुक्त करते हुए खुशी हो रही है। वह एक महान मुक्केबाज थे। उन्होंने आयरलैंड टीम के साथ भी असाधारण रूप से अच्छा काम किया है। एक महासंघ के रूप में, हम वह सब कुछ करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जो हमारे मुक्केबाजों को देश को गौरव दिलाने के लिए आवश्यक है। यह पेरिस ओलंपिक में पदक जीतने के हमारे लक्ष्य को लेकर एक बड़ा प्रोत्साहन (बूस्ट) है। डन के पास जितना अनुभव और खिताबी सफलता हैं, वह इस लिहाज से भूमिका के लिए एकदम फिट हैं। मुझे यकीन है कि डन हमारे मुक्केबाजों के परफॉर्मेंस को अगले स्तर तक ले जाएंगे। हम उनका स्वागत करते हैं और उन्हें शुभकामनाएं देते हैं।"

आयरलैंड की टीम के साथ अपने कार्यकाल के दौरान डन ने केली हैरिंगटन को तैयार किया, जो टोक्यो ओलंपिक चैंपियन बनने के साथ-साथ 2018 में विश्व चैंपियन के रूप में उभरे थे। डन ने एमी ब्रॉडहर्स्ट और लिसा ओ'रूर्के को पिछले विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक दिलाने के साथ-साथ एडन वॉल्श को 2020 के ओलंपिक खेलों में कांस्य पदक दिलाने में अहम भूमिका अदा की थी।

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के महासचिव हेमंत कुमार कालिता ने कहा, "भारतीय मुक्केबाजी तेजी से आगे बढ़ रही है और इसी को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमारे मुक्केबाजों को अधिक से अधिक पदक जीतने के लिए जरूरी प्रोत्साहन देने की दिशा में यह हमारा एक प्रयास है। डन मुक्केबाजी जगत में एक बड़ा नाम हैं और उन्होंने बड़े प्लेटफार्म पर मुक्केबाजों को पदक जीतने में मदद की है। उनकी उपस्थिति निश्चित रूप से हमारे मुक्केबाजों को प्रेरित करेगी।"

42 वर्षीय डन सैंटियागो नीवा के जाने के बाद खाली हुए पद को संभालेंगे। भारतीय मुक्केबाजों ने पिछले कुछ वर्षों में विश्व चैंपियनशिप, राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों सहित हर एक प्रतिष्ठित आयोजन में शानदार प्रदर्शन किया है। डन का आगमन निश्चित रूप से भारतीय मुक्केबाजी के विकास की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

डन ने कहा, "भारत में मुक्केबाजी की बहुत सारी प्रतिभाएं हैं और भारत के मुक्केबाज बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। मेरे लिए उनके साथ काम करने और उनकी सफलता में योगदान देने का यह एक शानदार अवसर होगा। मैं टीम में शामिल होने और भारतीय मुक्केबाजी को पूरी तरह से एक नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए बहुत उत्साहित हूं।"

डन पेशेवर मुक्केबाजी में भी एक प्रसिद्ध नाम हैं। डन ने 2009 में डब्ल्यूबीए विश्व चैम्पियनशिप और 2007 में यूरोपीय चैम्पियनशिप जीती है।

डन ने 2017 से 2022 तक आयरिश हाई परफार्मेंस मुक्केबाजी टीम का नेतृत्व किया और उनके नेतृत्व में आयरिश मुक्केबाजों ने शीर्ष स्तर पर बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए यूरोपीय, विश्व और ओलंपिक जैसे आयोजनों में स्वर्ण पदक जीते। डन ने कहा है कि उनका लक्ष्य बीएफआई के साथ इसी तरह का काम करना है और अपनी विभिन्न टीमों के प्रदर्शन के माध्यम से भारत के लोगों को गौरवान्वित करना है।

डन के नाम 13 राष्ट्रीय खिताब हैं। वह पटियाला में भारतीय मुक्केबाजी इलीट प्रोग्राम में शामिल हो गए हैं।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it