Begin typing your search above and press return to search.

मुक्केबाजी

अल्फिया ने पूर्व विश्व चैंपियन को हराकर स्वर्ण पदक जीता, भारत को एलोर्डा कप में 14 पदक

अल्फिया ने 2016 में विश्व चैंपियन को एकतरफा मुकाबले में मात दी

Alfiya Pathan and Geetika
X
अल्फिया पठान और गीतिका 
By

Shivam Mishra

Updated: 2022-07-08T17:32:56+05:30

कजाकिस्तान की राजधानी नूर-सुल्तान में हो रहे एलोर्डा कप मुक्केबाजी टूर्नामेंट के पहले संस्करण में सोमवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए मौजूदा युवा विश्व चैंपियन अल्फिया पठान और गीतिका ने स्वर्ण पदक जीता। वहीं भारत की अन्य दो महिला मुक्केबाज कलाईवानी श्रीनिवासन और जमुना बोरा रजत पदक के साथ अपना सफर खत्म किया।

नागपुर की अल्फिया ने 2016 में विश्व चैंपियन और खिताब की प्रबल दावेदार लज्जत कुंगेइबायेवा को महिलाओं के +81 किग्रा फाइनल में 5-0 से एकतरफा मुकाबले में मात दी। गीतिका ने 48 किग्रा फाइनल में स्वदेशवासी कलाइवानी पर 4-1 से रोमांचक जीत दर्ज की।

अल्फिया और गीतिका ने अपनी पहली सीरिज सीनियर अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में यह करनामा किया। जीत के बाद अल्फिया ने कहा कि खासतौर से विश्व चैंपियन के खिलाफ जीत हासिल करते हुए स्वर्ण पदक जीतना एक अद्भुत अहसास है।


भारत के कुल पदक:

पुरुष मुक्केबाज-

कांस्य पदक- कुलदीप कुमार 48 किग्रा, अनंत चोपड़े 54 किग्रा, सचिन 57 किग्रा और जुगनू 92 किग्रा।

महिला मुक्केबाज-

स्वर्ण पदक- गीतिका 48 किग्राऔर अल्फिया पठान +81 किग्रा।

रजत पदक- कलाईवानी श्रीनिवासन 48 किग्रा और जमुना बोरो 54 किग्रा।

कांस्य पदक- ज्योति गुलिया 52 किग्रा, साक्षी 54 किग्रा, सोनिया लाठेर 57 किग्रा, नीमा 63 किग्रा, ललिता 70 किग्रा और बबीता बिष्ट 81 किग्रा।

Next Story
Share it