Begin typing your search above and press return to search.

ताज़ा ख़बर

मुक्केबाज सुमित सांगवान पर लगा एक साल का प्रतिबंध, डोप टेस्ट में हुए थे फेल

मुक्केबाज सुमित सांगवान पर लगा एक साल का प्रतिबंध, डोप टेस्ट में हुए थे फेल
X
By

Ankit Pasbola

Published: 27 Dec 2019 6:06 AM GMT

एशियाई खेलों के रजत पदक विजेता मुक्केबाज सुमित सांगवान पर तत्काल प्रभाव से एक साल का प्रतिबंध लगा है। उन पर यह प्रतिबंध नाडा ने डोप टेस्ट में फेल होने के कारण लगाया है। ऐसे में उनका टोक्यो ओलंपिक में जाने का सपना अब टूट गया है। निलंबन के कारण वह अब पुरुषों के ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स के नैशनल ट्रायल्स में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। गौरतलब है कि सुमित सांगवान लंदन ओलंपिक 2012 में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

पूर्व ओलंपियन सांगवान का सैंपल 10 अक्टूबर को मेंस बॉक्सिंग चैम्पियनशिप के दौरान लिया गया था। नाडा के डीजी नवीन अग्रवाल ने ट्विटर के माध्यम से बताया, "प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन के दोषी सुमित सांगवान पर तुरंत प्रभाव से एक साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है। सांगवान का नमूना 10 अक्टूबर को लिया गया था जिसमें डायूरेटिक्स और मास्किंग एजेंट के अंश पाये गए थे।"

https://twitter.com/jandkpolice/status/1210194245958717442?s=20

पुरुषों के ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स मुकाबले 29-30 दिसंबर को आयोजित होने हैं जिसमें सुमित हिस्सा नहीं ले पाएंगे। इसमें चुने जाने वाले मुक्केबाजों को को भारत की ओर से 3 से 14 फरवरी के बीच चीन के वुआन में होने वाले टोक्यो क्वॉलिफायर में खेलने का मौका मिलना है।

https://twitter.com/NADAIndiaOffice/status/1210207329179725825?s=20

दूसरी तरफ नाडा ने एक ट्वीट में सांगवान की ओर से यह बात कही है कि, "सांगवान ने अपने बचाव में प्रतिबंधित सेवन से इंकार किया है और यह कहा है कि उन्होने यह दवा आंख में इंफेक्शन के कारण डॉक्टर से पूछकर ली थी।"

यह भी पढ़ें:बॉक्सर नीरज फोगाट डोप टेस्ट में फेल, अस्थाई तौर पर लगा बैन

इससे पहले एक और मुक्केबाज नीरज फोगाट पर अस्थाई तौर पर प्रतिबंध लगा है। नीरज फोगाट महिलाओं की 57 किग्रा भारवर्ग की मुक्केबाज हैं, जो आगामी ओलंपिक में भारतीय संभावितो में शामिल हैं। नीरज को लिगांड्रोल और अन्य एनाबालिक स्टेरायड के सेवन का दोषी पाया गया, जो कि प्रतिबंधित ड्रग के अंतर्गत आता है। मूल रूप से हरियाणा की मुक्केबाज नीरज ने इस साल बुल्गारिया में खेले गये स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में कांस्य पदक और रूस में एक टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था।

Next Story
Share it