Begin typing your search above and press return to search.

ताज़ा ख़बर

बॉक्सर नीरज फोगाट डोप टेस्ट में फेल, अस्थाई तौर पर लगा बैन

नीरज को लिगांड्रोल और अन्य एनाबालिक स्टेरायड के सेवन का दोषी पाया गया, जो कि प्रतिबंधित ड्रग के अंतर्गत आता है।

बॉक्सर नीरज फोगाट डोप टेस्ट में फेल, अस्थाई तौर पर लगा बैन
X
By

Ankit Pasbola

Published: 3 Dec 2019 8:02 AM GMT

अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की पदक विजेता भारतीय महिला मुक्केबाज नीरज फोगाट डोप टेस्ट में फेल हो गई हैं। जिसके बाद उन्हें अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया गया है। नीरज फोगाट 57 किग्रा भारवर्ग की मुक्केबाज हैं, जो आगामी ओलंपिक में भारतीय संभावितो में शामिल हैं। नीरज को लिगांड्रोल और अन्य एनाबालिक स्टेरायड के सेवन का दोषी पाया गया, जो कि प्रतिबंधित ड्रग के अंतर्गत आता है।

मूल रूप से हरियाणा की मुक्केबाज नीरज ने इस साल बुल्गारिया में खेले गये स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में कांस्य पदक और रूस में एक टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था। इस साल उन्होंने इंडिया ओपन में भी स्वर्ण पदक जीता था। राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी (नाडा) ने इस बारे में बताया, ''तीन नवंबर को कतर स्थित डोपिंग निरोधक लैब से मिली रिपोर्ट में नीरज को प्रतिबंधित दवाओं के सेवन का दोषी पाया गया। नाडा ने डोपिंग निरोधक नियम 2015 के उल्लंघन संबंधी नोटिस उन्हें दे दिया और 13 नवंबर 2019 से अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है।''

यह भी पढ़ें: मुक्केबाज सरिता देवी को एआईबीए के एथलीट आयोग के सदस्य के रूप में चुना गया

भारतीय मुक्केबाज ने यह फैसला स्वीकार कर लिया है और उन्होंने दूसरे दौर में होने वाले बी नमूने की जांच से इनकार कर दिया है। नाडा ने इस संदर्भ में कहा, ''उनके अनुरोध को मानते हुए उनका मामला डोपिंग निरोधक अनुशासन समिति को सौंप दिया गया है।''

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के एक अधिकारी ने बताया कि बीएफआई को पिछले सप्ताह में इसकी जानकारी दे दी गई थी। उन्होंने कहा, ''हमें पिछले सप्ताह सूचना मिली। अभी तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होंने राष्ट्रीय शिविर से अवकाश लिया था और हमें नहीं पता कि वह इस समय कहां है।''

24 वर्षीय नीरज उन आठ मुक्केबाजों के मुख्य समूह में से एक है, जिनसे खेल मंत्रालय को टोक्यो ओलंपिक में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी।

Next Story
Share it