शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
होम ताज़ा ख़बर वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: शुक्रवार को भारतीय मुक्केबाज़ अमित पंघल और मनीष कौषिक...

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: शुक्रवार को भारतीय मुक्केबाज़ अमित पंघल और मनीष कौषिक रचने वाले हैं इतिहास

रूस के एकाटेरिनबर्ग में चल रही वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में आज का दिन भारतीय इतिहास में बेहद सुनहरे अक्षरों में लिखा जाना तय है। वजह है भारत के दो मुक्केबाज़ अमित पंघल (52 किग्रा) और मनीष कौषिक (63 किग्रा) आज सेमीफ़ाइनल मुक़ाबला खेलने जा रहे हैं, भारतीय समयनुसार ये मुक़ाबले दोपहर 3.30 बजे से शुरू होंगे।

दरअसल, ये पहला मौक़ा है कि जब वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के एक ही संस्करण में भारत के दो मुक्केबाज़ पदक लेकर आएंगे। यानी इतिहास लिखा जा चुका है बस दस्तख़त की दरकार है। दस्तख़त यहां पर मेडल है, लेकिन हरेक भारतीय यही दुआ कर रहा होगा कि इस मेडल को मिलने में और देरी हो क्योंकि फिर मेडल का रंग बदला हुआ होगा।

ये भी पढ़ें: अमित और मनीष का कैसा रहा क्वार्टर फ़ाइनल पंच ?

शुक्रवार को भारत के अमित पंघल का मुक़ाबला 52 किग्रा कैटेगिरी में कज़ाख़स्तान के साकेन बिबोसिनोव के ख़िलाफ़ होगा। अमित को अपने वर्ग में दूसपी वरीयता हासिल है, लिहाज़ा जीत के दावेदार काग़ज़ पर अमित हैं। पंघल एशियन गेम्स 2018 में भी स्वर्ण पदक जीत चुके हैं और एशियन चैंपियनशिप में भी वह चैंपियन रहे थे।

अमित का मुक़ाबला जहां ग़ैर वरीयता प्राप्त मुक्केबाज़ से होगा तो भारत के मनीष कौषिक 63 किग्रा सेमीफ़ाइनल में वर्ल्ड नंबर-1 क्यूबा के एंडी क्रूज़ गोमेज़ के ख़िलाफ़ भिड़ेंगे। यानी मनीष की चुनौती अमित की अपेक्षा में बड़ी है। मनीष 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में रजत पदक विजेता रह चुके हैं और वह पूर्व राष्ट्रीय चैंपियन भी हैं।

एशियन गेम्स 2018 के चैंपियन रहे हैं अमित पंघल

पदक पक्का करते ही 23 वर्षीय अमित पंघल और 25 वर्षीय मनीष कौषिक चाइना में होने वाले ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स के लिए भी क्वालिफ़ाई कर चुके हैं, यानी मुक्केबाज़ी में रियो ओलंपिक में ख़ाली हाथ लौटने वाला भारत इस बार इन दोनों से टोक्यो में उम्मीद ज़रूर करेगा।

टोक्यो ओलंपिक के लिए अगले साल 2019 की फ़रवरी में चाइना में होने वाले ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में अब अमित और मनीष जाएंगे। आपको बता दें कि वर्ल्ड चैंपियनशिप शुरू होने से पहले ही भारतीय मुक्केबाज़ी संघ ने ये बयान जारी किया था कि पदक लाने वाले मुक्केबाज़ों को चाइना में होने वाले ओलंपिर क्वालिफ़ायर्स के लिए सीधे एंट्री मिलेगी।