गुरूवार, नवम्बर 26, 2020
होम ताज़ा ख़बर 2019 वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: अमित पंघल को मिली दूसरी वरीयता, पहले राउंड...

2019 वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: अमित पंघल को मिली दूसरी वरीयता, पहले राउंड में भारत के कई मुक्केबाज़ों को मिला बाई

भारत की सबसे बड़ी उम्मीद अमित पंघल को AIBA वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में दूसरी वरीयता हासिल हुई है। अमित पंघल (52 किग्रा) के साथ साथ कविन्दर सिंह बिश्त (57 किग्रा) और आशीष कुमार (75 किग्रा) को भी वरीयता दी गई है। रूस के येकातेरिनबर्ग में सोमवार से मुक़ाबले शुरू हो जाएंगे। भारत के 4 मुक्केबाज़ों को पहले राउंड में बाई मिला है।

भारतीय मुक्केबाज़ों से है इस बार काफ़ी उम्मीदें

अमित पंघल को दूसरी सीडेड मिलने का फ़ायदा ये है कि उन्हें पहले राउंड में अब बाई मिल गया है और उम्मीद है कि वह आसानी से अब मेडल राउंड में पहुंच जाएंगे। जहां उनका सामना कोलंबिया के तीसरी वरीयता प्राप्त यूबेरजन मार्तिनेज़ से हो सकता है, जो रियो ओलंपिक्स के रजत पदक विजेता हैं।

एशियन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट अमित अगर कोलंबिया के मार्तिनेज़ को शिकस्त देने में क़ामयाब हो जाते हैं तो फिर उनका सामना क्यूबा के मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन योस्वानी वितिया सोटो से मुमकिन है, जो इस प्रतियोगिता में भी पहली सीडेड हैं।

52 किग्रा वर्ग में अमित पंघल को मिली है दूसरी वरीयता

अमित के अलाना एशियन चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले कविन्दर सिंह बिश्त (57 किग्रा) को भी पांचवीं वरीयता मिली है, जिसके बाद उम्मीद है कि इस वर्ल्ड चैंपियनशिप में कविन्दर भी पदक जीत पाने में क़ामयाब हों। सीडेड होने की वजह से उन्हें भी पहले राउंड में बाई मिली है और बड़े नामों के ख़िलाफ़ शुरुआत में भिड़ने से भी बच गए। कविन्दर की भिड़ंत क्वार्टरफ़ाइनल में मौजूदा समय के बेहतरीन युवा बॉक्सर पीटर मैकग्रेल से हो सकती है, जिन्हें चौथी सीड दी गई है।

57 किग्रा वर्ग में कविन्दर को मिली है पांचवीं वरीयता

साथ ही साथ हिमाचल प्रदेश के रहने वाले आशीष कुमार को भी 75 किग्रा वर्ग में 7वीं वरीयता हासिल हुई है। एशियन चैंपियनशिप में रजत पदक पाने वाले आशीष की टक्कर आख़िरी-8 के लिए अफ़्रीकन गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट और दूसरी वरीयता प्राप्त अलाली तारीक़ से हो सकती है।

ये भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश के आशीष कुमार का कैसा रहा है अब तक का सफ़र

91 किग्रा वर्ग में खेल रहे सनजीत चौथे भारतीय हैं जिन्हें बाई मिला है और उनका सामना दूसरे राउंड में स्कॉटलैंड के स्कॉट फ़ॉरेस्ट के ख़िलाफ़ होगा, इनके अलावा पूर्व इंडियन ओपन चैंपियन मनीष कौषिक अपना अभियान पलीस्तीन के अहमद हरारा के ख़िलाफ़ 63 किग्रा वर्ग में करेंगे। तो 69 किग्रा वर्ग में दुर्योधन सिंह का पहला मुक़ाबला अरमेनिया के कोर्युन अस्तोयन के ख़िलाफ़ होगा, जबकि 81 किग्रा वर्ग में बृजेश यादव टूर्नामेंट में आग़ाज़ पोलैंड के मैतेज़ गोइन्सकी के विरुद्ध करेंग

क़रीब क़रीब सभी भारतीय मुक्केबाज़ों को शुरुआत में कोई ज़्यादा दिक़्क़त नहीं होनी चाहिए लेकिन 91+ किग्रा में हिस्सा ले रहे सतीश कुमार का पहला ही मुक़ाबला स्ट्रान्डजा कप के विजेता रिचर्ड टॉरेज़ के साथ है।

आपको बताते चलें कि पिछली बार यानी दो साल पहले हुए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में एकमात्र भारतीय जिन्हें पदक मिला था वह थे गौरव भिदुरी, लेकिन इस बार उम्मीद है कि भारतीय मुक्केबाज़ों का प्रदर्शन बेहतर रहेगा। 21 सितंबर तक चलने वाले इस इवेंट में कुल 89 देशों के 488 मुक्केबाज़ों के बीच पदक की होड़ देखने को मिलेगी।